Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजमणिपुर कार ब्लास्ट के मास्टरमाइंड मोहम्मद इस्लाउद्दीन खान को में NIA ने पकड़ा, पुल...

मणिपुर कार ब्लास्ट के मास्टरमाइंड मोहम्मद इस्लाउद्दीन खान को में NIA ने पकड़ा, पुल पर हुए धमाके में नूर हुसैन की भी हो चुकी है गिरफ्तारी

इस कार बम विस्फोट मामले में ये दूसरी गिरफ्तारी है। इस केस में एनआई ने पहली गिरफ्तारी 16 अक्टूबर को की थी। तब जाँच एजेंसी ने असम के कछार जिले के सिलचर इलाके से नूर हुसैन को गिरफ्तार किया था।

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार (19 अक्टूबर, 2023) को मणिपुर पुलिस के सहयोग से मोहम्मद इस्लाउद्दीन खान को गिरफ्तार किया। इस पर 21 जून, 2023 को मणिपुर के बिष्णुपुर जिले के क्वाक्टा इलाके में एक कार में हुए बम विस्फोट में शामिल होने का आरोप है।

इस केस में ये वांछित था। खान के खिलाफ पहले मणिपुर पुलिस ने केस दर्ज किया गया था। इसके बाद एनआईए ने जाँच अपने हाथ में लेकर जून में ही इंफाल में फिर से केस दर्ज किया था। एनआईए के मुताबिक आरोपित खान को इंफाल की एक अदालत में पेश किया गया। जहाँ से उसे सात दिन की एनआईए हिरासत में भेज दिया गया है।

गौरतलब है कि इस कार बम विस्फोट मामले में ये दूसरी गिरफ्तारी है। इस केस में एनआई ने पहली गिरफ्तारी 16 अक्टूबर को की थी। तब जाँच एजेंसी ने असम के कछार जिले के सिलचर इलाके से नूर हुसैन को गिरफ्तार किया था।

इस मामले में एनआईए की जाँच में पता चला कि 21 जून को मणिपुर के बिष्णुपुर जिले में टिडिम रोड के किनारे फौगाकचाओ इखाई अवांग लीकाई और क्वाक्टा इलाके में एक पुल पर खड़े आईईडी से भरे वाहन में बम विस्फोट हुआ था। इस बम विस्फोट में इस्लाउद्दीन खान भी शामिल था। गौरतलब है कि इस बम विस्फोट की वजह से तीन लोग घायल हो गए और आसपास के घरों सहित पुल क्षतिग्रस्त हो गया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -