रद हो सकती है मेहुल चोकसी की एंटीगुआ की नागरिकता, भारत लाने का रास्ता साफ

चोकसी पिछले साल से ही एंटीगुआ में है। कुछ दिन पहले उसने एक स्थानीय टीवी चैनल से कहा था कि उसके डॉक्टर ने उसे यात्रा नहीं करने की सलाह दी है। उसने दावा किया था वह भारत से भागा नहीं था बल्कि हॉर्ट सर्जरी के लिए देश छोड़ा था।

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को करोड़ों रुपए का चूना लगाकर विदेश फरार होने वाले हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी पर शिकंजा कस गया है। भारत के दवाब में एंटीगुआ सरकार ने मेहुल चोकसी की नागरिकता को खारिज करने का फैसला करने की खबर आ रही है। चोकसी को भारत वापस लाने के लिए प्रत्यर्पण प्रक्रिया मार्च में शुरू हुई थी। इसके लिए भारत की तरफ से लगातार दबाव बनाया जा रहा था। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने कहा कि मेहुल चोकसी को पहले एंटीगुआ की नागरिकता मिली थी, लेकिन अब इसे रद्द किया जा रहा है और भारत को प्रत्यर्पित किया जा रहा है। उन्होंने साफ-साफ कहा कि वो अपने देश को अपराधियों के लिए सुरक्षित ठिकाना नहीं बनने देंगे। 

गैस्टन ब्राउन ने कहा कि कानूनी प्रक्रिया जल्द से जल्द पूरा करके वो चोकसी को भारत भेजेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार चोकसी को भारत प्रत्यर्पित करने से पहले उसके हर कानूनी रास्ते आजमाने का इंतजार कर रही है। एंटीगुआ की एक कोर्ट अगले महीने चोकसी से जुड़े मामले की सुनवाई करेगा। उस समय तक काफी हद तक स्थिति साफ होने की उम्मीद है। हालाँकि, केंद्रीय विदेश मंत्री सुब्रमण्यम जयशंकर ने इस मामले पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से मना कर दिया है। उनका कहना है कि उन्हें इसके बारे में कोई जानकारी है।

गौरतलब है कि, चोकसी पिछले साल से ही एंटीगुआ में है। कुछ दिन पहले उसने एक स्थानीय टीवी चैनल से कहा था कि उसके डॉक्टर ने उसे यात्रा नहीं करने की सलाह दी है। उसने दावा किया था वह भारत से भागा नहीं था बल्कि हॉर्ट सर्जरी के लिए देश छोड़ा था। चोकसी ने कहा था कि वो जाँच में सहयोग करने के लिए तैयार है, लेकिन स्वास्थ्य कारणों की वजह से भारत की यात्रा नहीं कर सकता है। जिसके बाद भारतीय जाँच एजेंसियों ने एंबुलेंस के जरिए वापस लाने का प्रस्ताव भी दिया था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

ताजा जानकारी के मुताबिक, एंटीगुआ की तरफ से अभी तक मेहुल चोकसी की नागरिकता को रद्द करने की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। विदेश मंत्रालय के अनुसार अभी एंटीगुआ की सरकार द्वारा मेहुल की नागरिकता छीन लिए जाने की आधिकारिक पुष्टि होना बाकी है।

सोमवार (जून 24, 2019) को हाईकोर्ट ने मेहुल चोकसी के खिलाफ कड़ा रुख अपनाते हुए कहा था कि वो अपना स्वास्थ्य संबंधी जाँच के रिपोर्ट्स मुंबई के जेजे हॉस्पिटल को भेजे। अदालत ने कहा कि अस्पताल के मुख्य कॉर्डियोलॉजिस्ट रिपोर्ट की स्टडी और एनालिसिस करने के बाद अदालत को बताएंगे कि वह भारत की यात्रा करने के लिए फिट है या नहीं।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: