Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजवकील बेटे ने 73 साल की माँ को बहुत मारा, पोते ने पानी गिरा...

वकील बेटे ने 73 साल की माँ को बहुत मारा, पोते ने पानी गिरा जानबूझ कर लगाया था ‘पेशाब’ का आरोप: CCTV से धराया, बेटी ने कराया अरेस्ट

वकील ने आरोप लगाया कि उसकी माँ ने बिस्तर पर पेशाब किया। CCTV में यह सामने आया कि बिस्तर पर बुजुर्ग महिला के पोते ने ही पानी फैलाया था और जानबूझ कर आरोप अपनी दादी पर लगाया, जिसके बाद बेटे ने अपनी ही माँ की पिटाई की।

पंजाब के रोपड़ से एक बुजुर्ग महिला के साथ क्रूरता का मामला सामने आया है। बुजुर्ग महिला की पिटाई और उसको प्रताड़ित करने की वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। मामले में आरोपित महिला का बेटा ही है, जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

जानकारी के अनुसार, रोपड़ के ज्ञानी जैल सिंह नगर में 73 वर्षीय बुजुर्ग आशारानी अपने बेटे, बहू और पोते के साथ रहती हैं। उनके साथ यह सभी मिलकर मारपीट करते हैं। एक वीडियो में सामने आया कि उन्हें उनका बेटा अंकुर वर्मा पीट रहा है।

अनुराग ने आरोप लगाया कि उसकी माँ ने बिस्तर पर पेशाब किया है। बाद में हालाँकि यह सामने आया कि बिस्तर पर बुजुर्ग महिला के पोते ने ही पानी फैलाया था और जानबूझ कर आरोप अपनी दादी पर लगाया, जिसके बाद बेटे ने अपनी ही माँ की पिटाई की।

यह पूरा मामला जब पीड़िता आशारानी की बेटी दीपशिखा को पता चला तो उन्होंने घर पर पहुँच कर अपनी माँ की हालत जानी और सीसीटीवी फुटेज निकलवाए। इसके पश्चात उन्होंने यह जानकारी पंजाब पुलिस को दी, जिन्होंने आरोपित अंकुर वर्मा को गिरफ्तार किया।

पीड़िता को घर से निकाल कर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। अस्पताल में जाँच के दौरान के पीड़िता आशारानी के शरीर पर मारपीट के निशान मिले हैं। पीड़िता के बेटे पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 327, 342 और 323 के अतिरिक्त वरिष्ठ नागरिक भरण पोषण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है।

पंजाब सरकार में मंत्री डॉ बलजीत कौर ने इस मामले का संज्ञान लिया है और इसकी निंदा की है। उन्होंने महिला एवं बाल संरक्षण मामले के विभाग से इस मामले की जाँच करने को भी कहा है। एक अन्य वायरल वीडियो में मीडिया से बात करते हुए आरोपित अंकुर वर्मा इन सभी आरोपों का जवाब देने से बचता हुआ दिखता है।

यह भी जानकारी सामने आई है कि अपनी माँ को पीटने वाले वकील अंकुर वर्मा की रोपड़ बार काउंसिल की सदस्यता रद्द कर दी गई है। अब वह वकालत नहीं कर पाएगा। अंकुर को रोटरी क्लब से बाहर का रास्ता दिखाया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -