Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजअलवर के मंदिर में घुसे 4 मुस्लिम लड़के, तोड़फोड़ कर गोवर्धन पूजा का प्रसाद...

अलवर के मंदिर में घुसे 4 मुस्लिम लड़के, तोड़फोड़ कर गोवर्धन पूजा का प्रसाद फेंका: कॉन्ग्रेस MLA पर आरोपितों को बचाने का आरोप

यह घटना 26 अक्टूबर की है। दलित समाज के लोग गोवर्धन पूजा वाले दिन अन्नकूट प्रसाद वितरण का काम कर रहे थे कि तभी वहाँ मुबारिक, मुफीद, तालिम, जोम खान आए और तोड़फोड़ करने के बाद प्रसाद जमीन में गिरा दिया।

राजस्थान के अलवर के भिवाड़ी जिले से गोवर्धन पूजा वाले दिन मंदिर में तोड़फोड़ करने का मामला प्रकाश में आया है। खबर है कि वहाँ शेखपुरा थाना क्षेत्र स्थित हमीराका गाँव के शिव मंदिर में दलित समाज के लोग अन्नकूट प्रसाद वितरण कार्यक्रम कर रहे थे, तभी मुस्लिम समुदाय के 4 लड़कों ने आकर मंदिर पर हमला किया और तोड़फोड़ के बाद सारा प्रसाद फेंक दिया। जिन लोगों ने इन्हें ऐसा करने से रोका उनके साथ मारपीट भी की गई। 

जानकारी के मुताबिक पूरी घटना 26 अक्टूबर की है। दलित समाज के लोग गोवर्धन पूजा वाले दिन अन्नकूट प्रसाद वितरण का काम कर रहे थे कि तभी वहाँ मुबारिक, मुफीद, तालिम, जोम खान आए और तोड़फोड़ करने के बाद प्रसाद जमीन में गिरा दिया। मंदिर में मौजूद अन्य लोग जब उन्हें रोकने आगे बढ़े तो उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई और मंदिर में आरती तक नहीं होने दी। पीड़ित पक्ष अपनी शिकायतें लेकर शेखपुर थाने गया। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

नाराज भीड़ ने थाने के बाहर प्रदर्शन किया। इस दौरान भिवाड़ी नगर परिषद के पूर्व चेयरमैन संदीप दायमा, पूर्व विधायक ममन सिंह यादव, भाजयुमो जिला अध्यक्ष अभय सिंह सहित कई भाजपा नेता व कार्यकर्ता भी मामले की जानकारी होने पर मौके पर पहुँचे। पुलिस ने मामला की गंभीरता देख कई अधिकारियों को शेखपुरा भेजा। जिसके बाद तुरंत कार्रवाई करते हुए दो लोग गिरफ्तार किए गए। एएसपी विपिन शर्मा ने बचे आरोपितों को 24 घंटे में गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट बताती है कि इस पूरी घटना के बाद जब प्रदर्शनकारी आरोपितों की गिरफ्तारी की माँग कर रहे थे, तब वहाँ तिजारा विधायक संदीप यादव भी पहुँच गए। उन्हें देख भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि वो आरोपित पक्ष को बचाने आए हैं। इसके बाद विधायकों के समर्थकों और बीजेपी के लोगों के बीच बहस हुई। बात हाथा-पाई तक पहुँच गई। पुलिस ने किसी तरह दोनों पक्षों को समझाकर मामला शांत कराया। 

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में सिर्फ गोवर्धन पूजा वाले दिन हिंदू समुदाय के लोगों पर मुस्लिम समुदाय ने हमला नहीं किया। दीवाली वाले दिन में कैथवाड़ा में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने हिंदुओं के पटाखा फोड़ने पर आपत्ति जताते हुए उनसे मारपीट की थी। घटना में एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया था। लेकिन भरतपुर पुलिस ने पटाखे फोड़ने की वजह से मारपीट को साफ नकार दिया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -