Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजबस से आई 50 लोगों की भीड़, झारखंड में मंदिर पर हमला कर हथौड़े...

बस से आई 50 लोगों की भीड़, झारखंड में मंदिर पर हमला कर हथौड़े से मूर्तियों को तोड़ डाला: पुजारी पर तलवार से हमला, सड़क पर आक्रोशित हिन्दुओं का प्रदर्शन

यह भी जानकारी सामने आई है कि इससे पहले भी इसी इलाके में बजरंग बली की प्रतिमा तोड़ी गई थी। इसके बाद हमलावर मौके से भाग निकले।

झारखंड के बोकारो में एक मंदिर पर असामाजिक तत्वों ने हमला करके मूर्तियाँ क्षतिग्रस्त कर दी हैं। ये मंदिर बोकारो के ललपनिया थाना क्षेत्र में स्थित है जहाँ पर असामाजिक तत्वों ने यह हरकत की है। मूर्तियों को तोड़ने के लिए हथौड़े का इस्तेमाल किया गया।

जानकारी के अनुसार, छरछरिया झरने के पास स्थित इस मंदिर में पहुँचे कुछ लोगों ने रविवार (5 नवंबर, 2023) की सुबह यह मूर्तियाँ तोड़ी। इन लोगों का विरोध करने पर मंदिर के पुजारी राहुल तिवारी के ऊपर तलवारों से हमला कर दिया गया, उन्होंने पास के दूसरे मंदिर में घुस कर जान बचाई। बताया गया है मंदिर में तीन मूर्तियों को तोड़ा गया है।

यह भी जानकारी सामने आई है कि इससे पहले भी इसी इलाके में बजरंग बली की प्रतिमा तोड़ी गई थी। इसके बाद हमलावर मौके से भाग निकले। लोगों को मंदिर में तोड़फोड़ की जब खबर मिली तो वह आक्रोशित हो गए और विरोध प्रदर्शन किया। हिन्दू देवी-देवताओं की मूर्तियाँ तोड़े जाने के विरोध में बाजार भी बंद करवा दिया गया।

बताया जा रहा है कि यह मंदिर एक पहाड़ी के पास स्थित है जहाँ एक पावर प्रोजेक्ट का जनजातीय समाज के लोग विरोध कर रहे हैं। इसके विरोध में बड़े प्रदर्शन का आयोजन किया गया था जिसमें जनजातीय समाज के लोग कई जगहों से पहुँच रहे थे।

मंदिर पर हमला करने वाले 50 लोग एक बस में भर कर पहुँचे थे। वह बस भी कब्जे में ले ली गई है जिसमें भर कर यह हमलावर उपद्रवी मंदिर के पास पहुँचे थे। यह भी जानकारी सामने आई है कि मंदिर पर हमला करने के पश्चात वो लोग प्रदर्शन वाली जगह पर चले गए थे। इस मामले में तुरंत कार्रवाई ना होने से विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। वह आरोपितों की तुरंत गिरफ्तारी की माँग की जा रही है। हालाँकि, पुलिस कानून-व्यवस्था बनाए रखने का हवाला देकर उनसे प्रदर्शन बंद करने को कह रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -