Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजजीने के बहाने लाखों हैं... महाकाल मंदिर में बॉलीवुड गाने पर रील्स बनाने वाली...

जीने के बहाने लाखों हैं… महाकाल मंदिर में बॉलीवुड गाने पर रील्स बनाने वाली महिलाएँ निकलीं मंदिर की ही सुरक्षाकर्मी, दोनों को किया गया निलंबित

महाकाल मंदिर के विश्रामधाम परिसर में सुरक्षाकर्मी वर्षा नवरंग और पूनम सेन इसी कंपनी की सुरक्षा कर्मचारी हैं, जिन्हें मंदिर में तैनात किया गया था।

मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल मंदिर में बॉलीवुड गाने पर वीडियो बनाने वाली 2 महिला सुरक्षाकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। ये दोनों महिला सुरक्षाकर्मी बाबा महाकाल के मंदिर की सुरक्षा में ही तैनात थीं। फ़िल्मी गाने पर रील्स बनाने की इस घटना के बाद मंदिर प्रशासन ने ही दोनों सुरक्षाकर्मियों को बरखास्त किया है। वायरल वीडियो में दोनों महिलाओं को डांस करते हुए देखा जा सकता है। लोगों ने इस करतूत की आलोचना की है।

ये सब तब हुआ है, जब महाकाल मंदिर के भीतर और गर्भगृह तक मोबाइल फोन ले जाने पर पाबंदी है। इस घटना के बाद मंदिर के सुरक्षाकर्मियों को भी कह दिया गया है कि वो मंदिर के भीतर मोबाइल फोन लेकर न आएँ। महाकाल मंदिर की सिक्योरिटी की जिम्मेदारी KSS नामक कंपनी को दी गई है। महाकाल मंदिर के विश्रामधाम परिसर में सुरक्षाकर्मी वर्षा नवरंग और पूनम सेन इसी कंपनी की सुरक्षा कर्मचारी हैं, जिन्हें मंदिर में तैनात किया गया था।

इससे पहले भी मंदिर में रील्स बनाने के वीडियो सामने आए थे और कार्रवाई भी की गई थी, लेकिन ये पहली बार है जब मंदिर की सुरक्षाकर्मियों ने ही ऐसा किया हो। दोनों महिला सुरक्षाकर्मियों ने आशा भोसले द्वारा गए गए ‘जीने के बहाने लाखों हैं, जीना तुझको आया ही नहीं’ गाने पर डांस करते हुए वीडियो बनाया। इस गाना रेखा और कबीर बेदी की फिल्म ‘खून भरी माँग (1988)’ का है। राकेश रौशन ने इस फिल्म का निर्माण और निर्देशन किया था, जबकि संगीत उनके भाई राजेश रौशन ने दिया था।

इसी तरह अक्टूबर 2021 में मनीषा रौशन नामक महिला ने  महाकालेश्वर मंदिर में सलमान खान और प्रीति जिंटा पर फिल्माए गए गाने ‘रग-रग में इस तरह तू समाने लगा’ पर वीडियो बनाकर इंस्टाग्राम पर अपलोड कर दिया था। यह वीडियो महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग के ठीक ऊपर बने ओंकारेश्वर मंदिर के खंभों के पास फिल्माया गया था। वीडियो पर विवाद बढ़ने के बाद महिला ने माफी माँग ली थी और इंस्टाग्राम से अपना वीडियो भी डिलीट कर दिया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -