Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज4 और 6 साल के भाई-बहन, 2 महीने से यौन शोषण कर रहा था...

4 और 6 साल के भाई-बहन, 2 महीने से यौन शोषण कर रहा था अरबी-उर्दू का शिक्षक: घर में आता था पढ़ाने, बच्चों के प्राइवेट पार्ट में दर्द के बाद खुलासा

बच्चों के साथ हुई इस घटना से माता-पिता हैरान रह गए। साथ ही उन्होंने शुक्रवार (3 फरवरी, 2023) को एफआईआर दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने मामले की जाँच करते हुए आरोपित शिक्षक को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया।

मुंबई पुलिस ने दो मासूम बच्चों का यौन शोषण करने के आरोप में एक शिक्षक को गिरफ्तार किया। आरोपित शिक्षक पीड़ित बच्चों को उर्दू और अरबी पढ़ाता था। आरोप है कि वह बीते 2 महीने से यौन शोषण कर रहा है। मामले का खुलासा गुरुवार (2 फरवरी, 2023) को हुआ।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दोनों पीड़ित बच्चे भाई-बहन हैं। इनमें लड़की की उम्र 6 साल है। वहीं लड़के के उम्र 4 साल बताई जा रही है। आरोपित 25 वर्षीय शिक्षक उर्दू और अरबी पढ़ाने के लिए पीड़ित बच्चों के घर आता था। इस दौरान बच्चे जब भी अकेले होते थे या फिर उनके माता-पिता घर पर नहीं होते थे, वह उनका यौन शोषण करता था।

बच्चों के साथ हो रही इस घटना की जानकारी माता-पिता को तब हुई, जब एक बच्चे ने प्राइवेट पार्ट्स में दर्द की शिकायत की। साथ ही उन्होंने उर्दू और अरबी पढ़ाने के लिए घर आने वाले शिक्षक की हरकत के बारे में बताया। इस पर, माता-पिता बच्चों को लेकर स्थानीय कूपर हॉस्पिटल पहुँचे। जहाँ, डॉक्टर्स ने जाँच कर प्रथम दृष्टया यौन शोषण की पुष्टि की।

बच्चों के साथ हुई इस घटना से माता-पिता हैरान रह गए। साथ ही उन्होंने शुक्रवार (3 फरवरी, 2023) को एफआईआर दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने मामले की जाँच करते हुए आरोपित शिक्षक को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया।

इस मामले में एक पुलिस अधिकारी ने कहा है, “इस बात की जानकारी सामने आई है कि आरोपित शिक्षक ने 4 दिसंबर, 2022 से लेकर 2 फरवरी, 2023 तक बच्चों का कई बार यौन शोषण किया। बच्चे जब घर में अकेले होते थे या उनके पास कोई नहीं होता था, तब मौके का फायदा उठाकर वह इन हरकतों को अंजाम देता था।” फिलहाल आरोपित शिक्षक पुलिस की गिरफ्त में है। उस पर ‘भारतीय दंड संहिता (IPC)’ की धाराओं और ‘यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम (POCSO)’ के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -