Wednesday, August 4, 2021
Homeदेश-समाजहत्या, बच्चे को गोली मारी, छात्रों को सस्पेंड किया: 15 घटनाएँ, जब 'जय श्री...

हत्या, बच्चे को गोली मारी, छात्रों को सस्पेंड किया: 15 घटनाएँ, जब ‘जय श्री राम’ कहने पर हिन्दुओं के साथ हुई क्रूरता

हम पहले ही ऐसी घटनाओं के बारे में आपको बता चुके हैं जब 'जय श्री राम' को बदनाम करने के लिए झूठे आरोप लगाए गए, लेकिन अब ऐसी घटनाओं को देखिए, जहाँ 'जय श्री राम' कहने पर हिन्दुओं की हत्या तक कर दी गई।

हिन्दुओं के लिए अब ‘जय श्री राम’ बोलना भी कुछ लोगों की नजर में अपराध हो गया है। जहाँ एक तरफ इस नारे को लेकर झूठी खबरें फैलाई जाती हैं कि ‘हिन्दू गुंडों ने जबरदस्ती जय श्री राम बुलवाया’, वहीं दूसरी तरफ ‘जय श्री राम’ कहने पर हिन्दुओं के सात आपराधिक वारदात की कई खबरें आई हैं। खासकर पश्चिम बंगाल में ऐसी कई घटनाएँ सामने आईं। क्या अब राम और सीता की जय बोलना भी पाप है?

हम पहले ही ऐसी घटनाओं के बारे में आपको बता चुके हैं जब ‘जय श्री राम’ को बदनाम करने के लिए झूठे आरोप लगाए गए, लेकिन अब ऐसी घटनाओं को देखिए, जहाँ ‘जय श्री राम’ कहने पर हिन्दुओं की हत्या तक कर दी गई। गौर करने वाली बात ये कि इस तरह की घटनाओं पर कोई आउटरेज नहीं हुआ, किसी ने चूँ तक नहीं किया। हिन्दुओं पर अत्याचार की ख़बरें कॉन्ग्रेस से लेकर मीडिया गिरोह तक के लिए बेकार हैं।

  1. एक घटना पश्चिम बंगाल के नदिया जिले के स्वरूपनगर से सामने आई, जहाँ स्वरूपगंज क्षेत्र के फकीरतल्ला इलाके के सक्रिय भाजपा कार्यकर्ता कृष्ण देवनाथ को जय श्रीराम का नारा लगाने पर इस कदर पीटा गया कि उसकी मौत हो गई। आरोप लगा कि तृणमूल के स्थानीय नेताओं के निर्देश पर एक समूह द्वारा निशाना बनाया गया और पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी।
  2. पश्चिम बंगाल बीजेपी के अनुसार, बांकुरा ज़िले के पंचायसर में उनके 3 कार्यकर्ताओं को ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाने की वजह से गोली मार दी गई, जबकि 14 साल का सौमन गंभीर रूप से घायल हो गया। यह घटना उस वक्त हुई जब तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) सांसद सुवेंदु अधिकारी बांकुरा में एक सार्वजनिक सभा में आए थे। यहाँ बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाने शुरू कर दिए।
  3. रिंकू शर्मा के परिवार ने आरोप लगाया कि रिंकू की हत्या इसीलिए की गई, क्योंकि वो हिंदूवादी थे और ‘जय श्री राम’ का नारा लगाते थे। बीजेपी बाहरी दिल्ली के जिलाध्यक्ष बजरंग शुक्ला ने इस घटना के विरोध प्रदर्शन के दौरान कहा था,  “हम इसके जरिए जय श्रीराम कहने पर रिंकू की हत्या करने वाले आतताइयों और जुल्मी लोगों को संदेश देना चाहते हैं। रिंकू बलिदान हो गया। ​लेकिन आज भी लोग जय श्रीराम बोलने के लिए खड़े हैं। आप बोलो कितने लोगों की हत्या करोगे? हत्या आपका उद्देश्य है तो हम उससे डरने वाले लोग नहीं हैं। भय खाने वाले लोग नहीं हैं। जय श्रीराम।”
  4. पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के बारुईपुर में जय श्रीराम बोलने पर भाजपा कार्यकर्ता को कुछ लोगों ने दिनदहाड़े गोली मार दी। भाजपा कार्यकर्ता का नाम राम प्रसाद मंडल था। इस हमले में 38 वर्षीय कार्यकर्ता के दाहिने पैर में गोली लगी। भाजपा ने इस हमले का आरोप टीएमसी कार्यकर्ताओं पर लगाया था।
  5. ऑक्सफोर्ड के एक फैकल्टी मेंबर ने स्टूडेंट यूनियन की पहली भारतीय महिला अध्यक्ष रश्मि सामंत के माता-पिता को विवाद में घसीटते हुए एक पोस्ट किया, जिसमें उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर भगवान श्री राम की तस्वीर दिखाने के लिए हमला करते हुए आरोप लगाया गया कि रश्मि के छात्र परिषद चुनावों को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा वित्त पोषित किया गया था। रश्मि ने कहा कि ‘जय श्री राम’ कहना अपराध नहीं है और इस्तीफा दे दिया।
  6. हावड़ा के श्री रामकृष्ण शिक्षालय नामक स्कूल में जुलाई 11, 2019 को एक शिक्षक ने पहली कक्षा में पढ़ने वाले छात्र आर्यन सिंह की सिर्फ इसलिए बेरहमी से पिटाई कर दी, क्योंकि उसने क्लास में जय श्री राम बोल दिया था। पिटाई से छात्र काफी डरा हुआ था और कई दिनों तक स्कूल जाने से मना कर रहा था।
  7. कलकत्ता यूनिवर्सिटी में कर्मचारी का तबादला सिर्फ़ इसलिए कर दिया गया क्योंकि उसने इंस्टीट्यूट में ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाया था। पश्चिम बंगाल यूनिवर्सिटी कर्मचारी परिषद ने बताया था कि कलकत्ता यूनिवर्सिटी अथॉरिटी ने कॉलेज कैंपस के एक कर्मचारी का तबादला मात्र इस बात पर कर दिया क्योंकि उसने ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाया था।
  8. ममता बनर्जी की पुलिस ने बंगाल में भाजपा नेता अमानिश अय्यर को गिरफ्तार कर लिया। अमानिश अय्यर का ‘अपराध’ ये था कि वो ‘जय श्री राम’ का मास्क पहनकर ऐसे ही मास्क लोगों में बाँट रहे थे। भाजपा नेता अमानिश अय्यर श्रीरामपुर सांगठनिक जिला के महासचिव हैं।
  9. केरल की पुलिस ने दिसंबर 17, 2020 को तमाम भाजपा कार्यकर्ताओं पर एक विशालकाय बैनर फहराने के लिए मामला दर्ज कर लिया। यह बैनर पलक्कड़ म्युनिसिपल कॉरपोरेशन की इमारत पर फहराया गया था और इस बैनर पर ‘जय श्रीराम’ लिखा हुआ था। यह घटना केरल के स्थानीय निकाय चुनावों में हुई भारतीय जनता पार्टी के अच्छे प्रदर्शन के बाद हुई थी।
  10. अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर के भूमिपूजन की खुशियाँ सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि विश्वभर में मनाई गई। इस ख़ुशी में शामिल होने वालों में से एक नाम पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया का भी था। उन्होंने अमेरिका के न्यूयॉर्क, टाइम्स स्क्वायर में श्रीराम मंदिर भूमिपूजन के शो की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा – “जय श्री राम।” लेकिन दानिश कनेरिया ने यह ट्वीट कुछ देर बाद डिलीट कर दिया। इस्लामी संगठनों ने उन्हें धमकी दी थी।
  11. झारखंड के जमशेदपुर जिले के बिष्टुपुर स्थित बेल्डीह चर्च स्कूल में सितंबर 24, 2019 को खेल-खेल में जय श्री राम का नारा लगाने पर 17 छात्रों को स्कूल से निलंबित कर दिया गया।
  12. हुगली जिले के स्कूल में परीक्षा के दौरान छात्रों से इस नारे को लेकर ऐसे अजीब सवाल पूछे गए, जो हैरतअंगेज हैं। दसवीं की परीक्षा के दौरान छात्रों से पूछा गया– “जय श्री राम नारे से समाज को होने वाले दुष्परिणाम बताएँ“। यह स्कूल पोलबा क्षेत्र में स्थित है। हालाँकि, मामला प्रकाश में आने के बाद स्कूल के शिक्षक ने माफ़ी माँग ली।
  13. उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में सेना के एक जवान रामनरेश की कुछ मुस्लिम युवकों ने पिटाई कर दी। जवान ने गाय को काटने पर आपत्ति जताई थी। साथ ही जय श्री राम का नारा लगाया था। पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।
  14. दिल्ली दंगों में विनोद कुमार की हत्या सिर्फ इसी वजह से हो गई कि उनकी मोटरसाइकिल पर ‘जय श्री राम’ का स्टिकर लगा था। 
  15. ममता बनर्जी ने कार से जाते समय जैसे ही ‘जय श्री राम’ नारा सुना, उन्होंने वहाँ सड़क पर उतर कर आक्रोश जताया और पुलिस ने उन सभी लोगों को गिरफ्तार करने को कहा। नॉर्थ 24 परगना में ये घटना हुई।

बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थिर लोनी थाने में मोहम्मद जुबैर और ट्विटर के अलावा सलमान निजामी, राना अयूब, डॉक्टर शमा मोहम्मद, सबा नकवी और मशकूर अहमद के खिलाफ भी FIR दर्ज की गई है, क्योंकि इन सभी ने हिन्दू-मुस्लिम दंगा भड़काने के आपराधिक षड्यंत्र के तहत फेक न्यूज़ फैलाया कि एक मुस्लिम बुजुर्ग को हिन्दुओं ने पीटा और जबरन ‘जय श्री राम’ कहलवाया। जबकि पुलिसिया जाँच में ये एक नॉन-सांप्रदायिक और व्यक्तिगत झगड़े का मामला निकला।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राणा अयूब बनीं ट्रोलिंग टूल, कश्मीर पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए आ रहीं पाकिस्तान के काम: जानें क्या है मामला

पाकिस्तान के सूचना मंत्रालय से जुड़े लोग ऑन टीवी राणा अयूब की तारीफ करते हैं। वह उन्हें मोदी सरकार का पर्दाफाश करने वाली ;मुस्लिम पत्रकार' के तौर पर जानते हैं।

राहुल गाँधी ने POCSO एक्ट का किया उल्लंघन, NCPCR ने ट्वीट हटाने के दिए निर्देश: दिल्ली की पीड़िता के माता-पिता की फोटो शेयर की...

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने राहुल गाँधी के ट्वीट पर संज्ञान लिया है और ट्विटर से इसके खिलाफ कार्रवाई करने की माँग की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,975FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe