Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजकोरोना वायरस: मोदी सरकार की तैयारियों को WHO ने बताया असाधारण, 'क्वारंटाइन सेंटर' में...

कोरोना वायरस: मोदी सरकार की तैयारियों को WHO ने बताया असाधारण, ‘क्वारंटाइन सेंटर’ में तगड़ी व्यवस्था

दिल्ली से सटे एक आइसोलेशन सेंटर के भीतर का एक वीडियो ट्वीट किया, जिसे एक व्यक्ति ने बनाया था। वो आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्थाओं से काफ़ी ख़ुश दिखा था कि कैसे सरकार कोरोना वायरस से निपटने के प्रति न सिर्फ गंभीर है बल्कि लोगों का ख्याल भी रख रही है। वो व्यक्ति जर्मनी से दिल्ली आया था, जहाँ 'क्वारंटाइन सेंटर' में.....

भारत ने कोरोना वायरस के खतरों से निपटने के लिए जिस तरह की तैयारी की है, उससे अंतरराष्ट्रीय संस्थाएँ भी प्रभावित हैं। एयरपोर्ट्स पर स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है और काफ़ी पहले से ही विदेश से आने वाले लोगों का मेडिकल टेस्ट किए जाने की शुरुआत कर दी गई थी। भारत में ‘वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाईजेशन’ के प्रतिनिधि हेंक बेकेडम ने कहा कि कोरोना वायरस के खतरों से निपटने के लिए भारत सरकार और ख़ासकर प्रधानमंत्री कार्यालय की प्रतिबद्धता असाधारण किस्म की रही है। उन्होंने भारत के प्रयासों को प्रभावशाली करार दिया।

डब्ल्यूएचओ ने माना है कि मोदी सरकार के प्रयासों के कारण भारत आज कोरोना वायरस से निपटने के मामले में अच्छा कर रहा है। डब्ल्यूएचओ के अधिकारी बेकेडम ने कहा कि जिस तरह से पूरी प्रक्रिया अपनाई गई, उससे वो खास प्रभावित हैं। उन्होंने कहा कि उनकी संस्था के पास हेल्थ रिसर्च डिपार्टमेंट में रिसर्च के लिए अच्छी-ख़ासी व्यवस्था है। उन्होंने कहा कि अब इस रिसर्च का भारत भी हिस्सा बनेगा। इसका अर्थ है कि सरकार ठीक दिशा में काम कर रही है।

इसी तरह केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने भी दिल्ली से सटे एक आइसोलेशन सेंटर के भीतर का एक वीडियो ट्वीट किया, जिसे एक व्यक्ति ने बनाया था। वो आइसोलेशन सेंटर की व्यवस्थाओं से काफ़ी ख़ुश दिखा था कि कैसे सरकार कोरोना वायरस से निपटने के प्रति न सिर्फ गंभीर है बल्कि लोगों का ख्याल भी रख रही है। वो व्यक्ति जर्मनी से दिल्ली आया था, जहाँ ‘क्वारंटाइन सेंटर’ में सभी लोगों को अलग-अलग कमरे दिए गए हैं, भोजन अच्छा और स्वादिष्ट मिल रहा है, स्वच्छ जल की व्यवस्था है और लोगों को नए तौलिए-कपड़े दिए गए हैं।

उसने बताया कि जब वो जर्मनी से लौट कर यहाँ आया तो उसे शंका थी कि न जाने कैसी व्यवस्था होगी लेकिन यहाँ आने पर पता चला कि सारी व्यवस्थाएँ चुस्त-दुरुस्त हैं। नीचे संलग्न किए गए वीडियो में आप उक्त व्यक्ति का बात सुन सकते हैं:

दिल्ली से 70 किलोमीटर की दूरी पर एक 400 बेड का ‘क्वारंटाइन सेंटर’ बनाया है, जहाँ विदेश से आने वाले लोगों को 14 दिनों के लिए रखा जा रहा है। नोएडा सेक्टर 39 स्थित जिला अस्पताल में ये सारी व्यवस्था की गई है। यहाँ पर्याप्त मात्रा में डॉक्टरों के साथ-साथ पैरामेडिकल स्टाफ्स की भी तैनाती की गई है। इस ‘क्वारंटाइन वार्ड’ को महज 10-12 घंटों में तैयार कर लिया गया। चीन, इटली, ईरान, जर्मनी और स्पेन से लौटने वालों पर कड़ी नज़र रखी जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,052FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe