Thursday, July 18, 2024
HomeराजनीतिCM एकनाथ शिंदे से मिले उद्धव गुट के 12 सांसद: महाराष्ट्र पर 20 जुलाई...

CM एकनाथ शिंदे से मिले उद्धव गुट के 12 सांसद: महाराष्ट्र पर 20 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, ठाकरे ने संगठन में की 100 नई नियुक्तियाँ

एकनाथ शिंदे खेमे में शामिल होने वाले शिवसेना के 12 लोकसभा सांसदों की सूची में सबसे पहले श्रीकांत शिंदे का नाम है। श्रीकांत शिंदे महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे के बेटे और 2014 से कल्याण लोकसभा सीट से सांसद हैं।

महाराष्ट्र के सियासी संकट पर बुधवार (20 जुलाई 2022) को सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगी। इस दौरान चीफ जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस कृष्ण मुरारी और हेमा कोहली की बेंच उद्धव ठाकरे की अगुआई वाले खेमे और एकनाथ शिंदे खेमे की याचिकाओं पर सुनवाई करेगी। इससे एक दिन पहले यानी आज महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने दिल्ली में शिवसेना के 12 सांसदों से मुलाकात की।

शिवसेना में विभाजन के बीच रिपब्लिक टीवी ने उन 12 लोकसभा सांसदों की सूची जारी की है, जो एकनाथ शिंदे गुट में शामिल हो सकते हैं। इसमें भावना गवली और श्रीकांत शिंदे शामिल हैं, जिन्होंने शिवसेना में बगावत की शुरुआत से ही उद्धव ठाकरे गुट से दूरी बना ली थी। अभी तक, 6 लोकसभा सांसद- विनायक राउत, अरविंद सावंत, गजानन किरीटकर, संजय जाधव, ओम राणे निंबालकर, और राजन विचारे ठाकरे खेमे में हैं, जबकि दादरा और नगर हवेली की सांसद कलाबेन डेलकर ने अभी तक इसको लेकर अपना रुख स्पष्ट नहीं किया है।

शिवसेना के 12 लोकसभा सांसदों की सूची

एकनाथ शिंदे खेमे में शामिल होने वाले शिवसेना के 12 लोकसभा सांसदों की सूची में सबसे पहले श्रीकांत शिंदे का नाम है। श्रीकांत शिंदे महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे के बेटे और 2014 से कल्याण लोकसभा सीट से सांसद हैं। धैर्यशील माने पहली बार हाटकानागले से सांसद चुने गए हैं। सदाशिव लोखंडे 2014 से शिरडी के सांसद और 3 बार विधायक रह चुके हैं। हेमंत गोडसे 2014 से नासिक के सांसद हैं। हेमंत पाटिल पहली बार हिंगोली से चुने गए सांसद और नांदेड़ दक्षिण के पूर्व विधायक हैं।

राजेंद्र गावित 2018 से पालघर के सांसद हैं। संजय मंडलिक पहली बार कोल्हापुर से सांसद बने हैं। श्रीरंग बार्ने 2014 से मावल के सांसद हैं। राहुल शेवाले 2014 से मुंबई साउथ सेंट्रल सांसद और पूर्व बीएमसी स्थायी समिति के अध्यक्ष रह चुके हैं। प्रतापराव गणपतराव जाधव 2009 से बुलढाणा के सांसद हैं। कृपाल तुमाने 2014 से रामटेक के सांसद हैं। वहीं, भावना गवली 1999 से यवतमाल-वाशिम की सांसद हैं।

गौरतलब है कि लगातार बगावत के बीच पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सोमवार (18 जुलाई, 2022) को 100 नई नियुक्तियाँ की। उद्धव ने मुंबई, पालघर, यवतमाल, अमरावती समेत कई अन्य जिलों में 100 से ज्यादा पदाधिकारी नियुक्त किए हैं। शिवसेना के मुखपत्र सामना में इसकी घोषणा की गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -