Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीति'लाल किला इफ्तार' के बाद 2024 की ठेकेदारी लेने राहुल गाँधी से मिले नीतीश...

‘लाल किला इफ्तार’ के बाद 2024 की ठेकेदारी लेने राहुल गाँधी से मिले नीतीश कुमार, कहा- विपक्षी दलों को जोड़ेंगे, पर चेहरे पर साध ली चुप्पी

अगले साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण है। यह बैठक कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के दिल्ली स्थित आवास पर आयोजित की गई थी। नीतीश कुमार मंगलवार (11 अप्रैल 2023) को दिल्ली पहुँचे थे। नीतीश के और भी कई नेताओं से मिलने की उम्मीद है।

कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी को बिहार की सत्ताधारी जदयू के नीतीश कुमार और राजद के तेजस्वी यादव का साथ मिला है। बुधवार (12 अप्रैल 2023) को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने दिल्ली में राहुल गाँधी से मुलाकात की और गठबंधन पर चर्चा की। हालाँकि, अभी भी पीएम पद को लेकर असमंजस की स्थिति है।

बैठक के बाद राहुल गाँधी ने कहा कि विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने के लिए ऐतिहासिक कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कि समान विचारधारा वाली पार्टियों को साथ लाएँगे। जितनी भी पार्टियाँ साथ चलेंगी, सबको साथ लाएँगे। जोड़ना एक प्रक्रिया है। उन्होंने कहा कि देश के लिए विपक्ष की दृष्टि विकसित करेगा।

राहुल गाँधी ने आगे कहा, “देश में वैचारिक लड़ाई चल रही है। जो संविधान पर आक्रमण हो रहा है, जो देश पर आक्रमण हो रहा है, उसके खिलाफ हम सब एक साथ मिलकर खड़े होंगे। एकजुट होकर संस्थानों पर हमले से लड़ेंगे।”

बैठक के बाद नीतीश कुमार ने कहा कि देश की अधिक से अधिक विपक्षी पार्टियों को एकजुट करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन दलों के नेता एक साथ बैठ कर चर्चा करेंगे और जिस पर सहमति बनेगी, उसको लेकर आगे की रूपरेखा बनाई जाएगी। इस बात पर इस बैठक में सहमति बन गई है।

अगले साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनावों से पहले यह बैठक बेहद महत्वपूर्ण है। यह बैठक कॉन्ग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के दिल्ली स्थित आवास पर आयोजित की गई थी। नीतीश कुमार मंगलवार (11 अप्रैल 2023) को दिल्ली पहुँचे थे। नीतीश के और भी कई नेताओं से मिलने की उम्मीद है।

वहीं, बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी दिल्ली में हैं। वे मंगलवार (11 अप्रैल 2023) को प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सामने पेश हुए थे। जमीन के नौकरी घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए ED ने उन्हें बुलाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिस भोजशाला को मुस्लिम कहते हैं कमाल मौलाना मस्जिद, वह मंदिर ही है: ASI ने हाई कोर्ट को बताया- मंदिरों के हिस्से पर बने...

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट को सौंपी गई रिपोर्ट में ASI ने कहा है कि भोजशाला का वर्तमान परिसर यहाँ पहले मौजूद मंदिर के अवशेषों से बनाया गया था।

भारतवंशी पत्नी, हिंदू पंडित ने करवाई शादी: कौन हैं JD वेंस जिन्हें डोनाल्ड ट्रम्प ने चुना अपना उपराष्ट्रपति उम्मीदवार, हमले के बाद पूर्व अमेरिकी...

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को रिपब्लिकन पार्टी के नेशनल कंवेंशन में राष्ट्रपति और सीनेटर JD वेंस को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार चुना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -