Monday, July 15, 2024
Homeराजनीतिपहले 160 वोटों से घोषित हुईं विजयी, दोबारा मतगणना में 16 वोटों से मिली...

पहले 160 वोटों से घोषित हुईं विजयी, दोबारा मतगणना में 16 वोटों से मिली हार: कर्नाटक के जयनगर में कॉन्ग्रेस प्रत्याशी के समर्थकों ने मचाया हंगामा, BJP उम्मीदवार जीते

पहले हुई मतगणना में कॉन्ग्रेस प्रत्याशी को 160 वोटों से विजयी घोषित किया गया था लेकिन बाद में पता चला कि उन्हें भाजपा उम्मीदवार से 16 वोट कम मिले हैं। बीजेपी उम्मीदवार के जीतने के बाद और कॉन्ग्रेस प्रत्याशी की हार पर उनके समर्थकों ने देर रात तक हंगामा किया और सरकारी मशीनरी पर धाँधली का आरोप लगाया है।

कर्नाटक विधानसभा चुनवों में जयनगर विधानसभा सीट पर भाजपा के राममूर्ति ने कॉन्ग्रेस की सौम्या रेड्डी को बेहद काँटे के मुकाबले में 16 वोटों से हरा दिया है। पहले हुई मतगणना में कॉन्ग्रेस प्रत्याशी को 160 वोटों से विजयी घोषित किया गया था। भाजपा प्रत्याशी की माँग पर इस सीट पर फिर से मतगणना करवाई गई थी। कॉन्ग्रेस प्रत्याशी की हार पर उनके समर्थकों ने देर रात तक हंगामा किया और सरकारी मशीनरी पर धाँधली का आरोप लगाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जयनगर विधानसभा सीट के लिए वोटों की गिनती एसएसएमआरवी कॉलेज में हुई थी। भाजपा ने यहाँ सी के राममूर्ति को मैदान में उतारा था। वहीं कॉन्ग्रेस की तरफ से कर्नाटक इकाई के कार्यकारी अध्यक्ष रामलिंगा रेड्डी की बेटी सौम्या रेड्डी प्रत्याशी थीं। 13 मई 2023 (शनिवार) को यहाँ मतगणना केंद्र पर तनाव की स्थिति बन गई थी क्योंकि पहले सौम्या रेड्डी को 160 वोटों से जीता बता दिया गया। भाजपा प्रत्याशी राममूर्ति इस फैसले से संतुष्ट नहीं थे और उन्होंने फिर से गिनती की माँग की।

भाजपा प्रत्याशी की इस माँग के दौरान वहाँ तेजस्वी सूर्या भी मौजूद थे। दूसरी तरफ कॉन्ग्रेस समर्थक जीत की ख़ुशी में जश्न मनाने लगे। हालाँकि कुछ देर बाद फिर से वोटों की गिनती शुरू की गई। इस दोबारा हो रही गिनती का कॉन्ग्रेस प्रत्याशी सौम्या और उनके पिता रामलिंगा रेड्डी ने विरोध किया। रिकाउंटिंग के बाद भाजपा प्रत्याशी राममूर्ति को 16 वोटों से जीता घोषित कर दिया गया। अंतिम परिणाम के तौर पर राममूर्ति को 57797 वोट और सौम्या को 57781 वोट मिले।

नए चुनाव परिणाम से कॉन्ग्रेस समर्थक नाराज हो गए और उन्होंने नारेबाजी शुरू कर दी। इस नारेबाजी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। कॉन्ग्रेस समर्थकों का आरोप था कि भाजपा प्रत्याशी को सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग करके जिताया गया है। धरने में कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डी के शिवकुमार भी शामिल थे।

गौरतलब है कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2023 के परिणामों में कॉन्ग्रेस पार्टी को पूर्ण बहुमत मिला है। 224 सीटों पर हुए इस चुनाव में कॉन्ग्रेस के हिस्से में 136 सीटें आईं। भाजपा को महज 65 सीटें ही मिल पाईं। 19 सीटों के साथ JDS तीसरे नंबर पर रही।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -