Monday, July 15, 2024
Homeराजनीतिन्यूज क्लिक को चीनी फंडिंग पर राहुल गाँधी को अनुराग ठाकुर ने घेरा, पूछा-...

न्यूज क्लिक को चीनी फंडिंग पर राहुल गाँधी को अनुराग ठाकुर ने घेरा, पूछा- राजीव गाँधी फाउंडेशन ने चीन से कैसे लिया पैसा, कहाँ किया इस्तेमाल

"कॉन्ग्रेस का हाथ न्यूज क्लिक के साथ और न्यूज क्लिक के ऊपर चीन का हाथ। इसके लिए राहुल गाँधी को देश से माफी माँगनी चाहिए। उन्हें बताना चाहिए कि राजीव गाँधी फाउंडेशन में चीन से पैसा कैसे लिया गया और इसका कहाँ-कहाँ इस्तेमाल हुआ।"

‘न्यूज क्लिक’ नामक वामपंथी प्रोपेगेंडा पोर्टल को चीनी फंडिंग को लेकर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी को घेरा है। उनसे देश से माफी माँगने को कहा है। पूछा है कि चीन से फंड लेने वाले ‘न्यूज क्लिक’ के साथ कॉन्ग्रेस क्यों खड़ी है। साथ ही राजीव गाँधी फाउंडेशन को चीन से मिले पैसे को लेकर भी सवाल पूछा है।

केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि ‘न्यूज क्लिक’ जैसे मीडिया संस्थानों के जरिए भारत विरोधी अभियान चलाया जाता है। वामपंथी और अन्य दल भी इनका सहयोग करते रहे हैं। उन्होंने कहा, “कॉन्ग्रेस का हाथ न्यूज क्लिक के साथ और न्यूज क्लिक के ऊपर चीन का हाथ। इसके लिए राहुल गाँधी को देश से माफी माँगनी चाहिए। उन्हें बताना चाहिए कि राजीव गाँधी फाउंडेशन में चीन से पैसा कैसे लिया गया और इसका कहाँ-कहाँ इस्तेमाल हुआ।” ठाकुर ने कहा कि कॉन्ग्रेस को बताना चाहिए कि ‘न्यूज क्लिक’ को समर्थन की उसकी मजबूरी क्या है? उसने चीन से पैसा लेने वाले संस्थान को समर्थन क्यों दिया? उससे क्या-क्या लाभ हासिल किया?

केंद्रीय मंत्री ने कहा, “जब राहुल गाँधी सदन में आ रहे हैं तो उनको बताना चाहिए क्या ये खेल तभी शुरू हो गया था, जब सोनिया गाँधी और वे ओलंपिक गेम्स देखने चीन गए थे। जिस न्यूज क्लिक का शेयर कभी 10 रुपए का था, जो घाटे में थी, उसके शेयर 11 हजार रुपए में कैसे बिके?”

गौरतलब है कि अमेरिकी अखबार ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ में शनिवार (5 अगस्त, 2023) को एक लेख प्रकाशित कर अमेरिकी व्यवसायी नेविल रॉय सिंघम के साथ चीनी सरकार के रिश्तों और ‘न्यूज क्लिक’ को मिल रही फंडिंग का खुलासा किया था। ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ के अनुसार, “यह बहुत कम लोगों को पता है कि गैर-लाभकारी संगठनों और शैल कंपनियों की आड़ में नेविल रॉय सिंघम चीन के सरकारी मीडिया के साथ मिलकर काम करता है और चीन के प्रोपेगेंडा को दुनिया भर में फैलाने के लिए फंडिंग कर रहा है।” ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ ने लेख में कहा है कि नेविल रॉय सिंघम भारत, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका और संयुक्त राज्य अमेरिका जैसे देशों में प्रगतिशील होने की वकालत करने के बहाने चीनी सरकार के मुद्दों को लोगों के बीच फैलाने में कामयाब रहा है।

न्यूज क्लिक को लेकर हुए इस खुलासे के बाद बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने संसद में कहा था कि अभिसार शर्मा, रोहिणी सिंह और स्वाति चतुर्वेदी जैसे लोगों को केवल भारत के खिलाफ माहौल बनाने के लिए चीन पैसा दे रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -