Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति'...इनको पीटें और देशभक्ति का पाठ पढ़ाएँ': राहुल गाँधी के 'सेना' वाले विवादित बयान...

‘…इनको पीटें और देशभक्ति का पाठ पढ़ाएँ’: राहुल गाँधी के ‘सेना’ वाले विवादित बयान पर लोग भड़के, BJP नेता सिरसा बोले- मेरा तो खून खौल रहा है

भाजपा नेता अमित मालवीय ने कहा, "बिलावल भुट्टो जरदारी और राहुल गाँधी में जबरदस्त समानता है। दोनों ही वंशवादी, अक्खड़ और बदमिजाज हैं। एक जैसी भाषा बोलते हैं। पीएम मोदी को निशाना बनाने के लिए एक जैसे शब्दों और मुहावरों का इस्तेमाल करते हैं। उन्हें आपस में क्या जोड़ता है? शायद भारत के लिए उनकी नफरत, जो लगातार बढ़ रही है।"

अरुणाचल प्रदेश के तवांग में चीनी सैनिकों के साथ झड़प को लेकर कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) के बयान से विवाद पैदा हो गया है। राहुल गाँधी ने कहा था कि चीन युद्ध की तैयारी कर रहा है और केंद्र की मोदी सरकार सो रही है। इतना ही नहीं, राहुल गाँधी ने यह भी कहा कि चीन भारतीय जवानों के पीट रहा है और देश के 2,000 किलोमीटर वर्ग स्क्वॉयर पर कब्जा कर लिया है।

इस बयान पर भाजपा (BJP) के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा (Manjinder Singh Sirsa) ने राहुल गाँधी को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय सेना को लेकर राहुल गाँधी का दिया गया बयान बेहद घटिया है। इसके घटिया बयान कुछ और नहीं हो सकता।

मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, “राहुल गाँधी कह रहे हैं कि हमारे देश के बहादुर सैनिक चीनी सैनिकों के हाथों अरुणाचल प्रदेश में पिट रहे हैं। उनके इस बयान को सुनकर मेरा खून खौल रहा है। राजनीति में ये सबसे निचले स्तर की भाषा और स्टेटमेंट है।”

उन्होंने आगे कहा, “ऐसी देश विरोधी बातें करने के लिए सोनिया गाँधी और प्रियंका गाँधी को राहुल गाँधी की पिटाई करनी चाहिए, ताकि उनके परिवार के चश्मे-चिराग को कुछ अकल आए और देश के लिये थोड़ी वफ़ादारी आए।” उन्होंने कहा कि एक माँ-बहन का फर्ज होता है अपने बेटे और भाई को देशभक्ति का पाठ पढ़ाना।

भाजपा नेता प्रीति गाँधी ने भी राहुल गाँधी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, “पूरे देश ने भारतीय सैनिकों द्वारा चीनी सैनिकों की पिटाई के दृश्य देखे, लेकिन हमेशा की तरह राजनीतिक लाभ के लिए राहुल गाँधी काल्पनिक कहानियाँ गढ़ेंगे और हमारे जवानों की वीरता पर सवाल उठाएँगे। राहुल गाँधी, क्या आपको एहसास है कि भारतीय सेना के लिए आपके शब्द कितने निराशाजनक हैं?”

भाजपा के प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, “राहुल गाँधी को एक बार फिर हमारे सशस्त्र बलों की बहादुरी पर संदेह है! सर्जिकल स्ट्राइक के लिए खून की दलाली और फ़र्ज़िकल स्ट्राइक कहने के बाद अब गलवान और तवांग में शौर्य पर संदेह। राहुल कहते हैं ‘पिट के आ गए अरुणाचल प्रदेश में’। CCP = कॉन्ग्रेस का चीन प्रोपेगेंडा! यह समझौता और धन प्रभाव है।”

भाजपा नेता अमित मालवीय ने कहा, “बिलावल भुट्टो जरदारी और राहुल गाँधी में जबरदस्त समानता है। दोनों ही वंशवादी, अक्खड़ और बदमिजाज हैं। एक जैसी भाषा बोलते हैं। पीएम मोदी को निशाना बनाने के लिए एक जैसे शब्दों और मुहावरों का इस्तेमाल करते हैं। उन्हें आपस में क्या जोड़ता है? शायद भारत के लिए उनकी नफरत, जो लगातार बढ़ रही है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -