Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिस्मृति ईरानी को नीचा दिखाने के लिए कॉन्ग्रेसियों ने पद्मभूषण सम्मानित BEST सांसद को...

स्मृति ईरानी को नीचा दिखाने के लिए कॉन्ग्रेसियों ने पद्मभूषण सम्मानित BEST सांसद को बताया ‘रेप गुरु’

कॉन्ग्रेस के तलवे चाटने वाले नेताओं का ज्ञान इतना कम है कि वो चिन्मयानंद और हुकुमदेव नारायण यादव को भी नहीं पहचान पाते। हो भी कैसे नहीं! गाँधियों के रहते संसद में इनकी पहुँच कहाँ! ये तो सड़क पर बस हाथ-छाप मलते रह जाएँगे और...

वैसे तो सोशल मीडिया पर कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा फैलाए जा रहे झूठ का आए दिन पर्दाफाश होता रहता है और दुनिया को पता चलता रहता है कि कॉन्ग्रेस खुद को पाक साफ दिखाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है। लेकिन, इस बार मामला सिर्फ़ झूठ का नहीं है। इस बार मामला नारी सम्मान का है। इस बार मामला एक मंत्री पद पर आसित महिला की छवि धूमिल करने का है और साथ ही उसके चरित्र पर सवालिया निशान लगाने का है…

बीते दिनों राहुल गाँधी ने ‘रेप इन इंडिया’ पर एक विवादित बयान दिया। जिसके बाद संसद में हंगामा हुआ और स्मृति ईरानी समेत कई महिला सांसदों ने उनके माफी माँगने की बात की। लेकिन कॉन्ग्रेस की बेशर्मी देखिए, माफी माँगना तो दूर उन्होंने स्मृति ईरानी को ही बदनाम करना शुरू कर दिया।

दरअसल, महिला कॉन्ग्रेस की राष्ट्रीय सचिव और AICC की सदस्य इंद्राणी मिश्रा ने स्मृति ईरानी की एक तस्वीर को ट्वीट किया, जिसमें वे संसद के बाहर पद्म भूषण से सम्मानित हुकुमदेव नारायण यादव के सामने हाथ जोड़कर उनसे आशीर्वाद ले रही हैं। लेकिन इंद्राणी ने इस तस्वीर को ऐसे पेश किया है जैसे स्मृति ईरानी कोई बहुत गलत काम कर रही हैं और उन्हें उसके लिए शर्म भी नहीं आ रही।

इंद्राणी इस तस्वीर में सांसद हुकुमदेव को ‘रेप गुरु’ का चेहरा बता रही हैं और कह रही है स्मृति ईरानी इनके आगे हाथ जोड़े खड़ी हैं। हालाँकि उनकी इस हरकत से साफ पता चलता है कि देश की सबसे पुरानी पार्टी से जुड़ने के बावजूद भी उन्हें विरोधी पार्टी से जुड़े नेताओं की बिलकुल पहचान नहीं है। या ये कहें कि वो एक महिला मंत्री को गिराने के लिए जानबूझकर ऐसा कर रही है। लेकिन हैरानी की बात है कि वो अकेली ऐसी कॉन्ग्रेसी नहीं हैं…


कॉन्ग्रेस की छात्र संगठन ईकाई NSUI की सोशल मीडिया कॉर्डिनेटर पंपी बघेल ने भी इसी तस्वीर को पोस्ट किया है और चिन्मयानंद की जय करते हुए बोला है कि जिसके आगे मैडम (स्मृति ईरानी) हाथ जोड़ती हैं, उसके लिए सजा की माँग कैसे करेंगी।

अब, इन दोनों कॉन्ग्रेसी महिलाओं द्वारा भ्रम फैलाने के लिए अपलोड की गई तस्वीर के बाद सोशल मीडिया पर ये मामला तूल पकड़ने लगा। देखते ही देखते कॉन्ग्रेसी समर्थकों ने स्मृति ईरानी पर तरह-तरह की बातें करनी शुरू कर दीं।

किसी ने इस तस्वीर में दिख रही स्मृति ईरानी को नौटंकी बताया और किसी ने उनके चाल-चरित्र पर सवाल उठाते हुए कहा कि देखो आशीर्वाद कौन ले रहा है और आशीर्वाद कौन दे रहा है। इन कॉन्ग्रेसी टुटपूंजिए नेताओं को पता ही नहीं कि हुकुमदेव नारायण वही सांसद हैं, जिन्हें 2014-17 तक आउटस्टैंडिंग पार्लियामेंट्रियन अवॉर्ड मिल चुका है।

कॉन्ग्रेस समर्थकों ने इस बीच बार-बार यह दर्शाने की कोशिश की कि भाजपा की महिला मंत्री चिन्मयानंद से आशीर्वाद ले रही है और संसद में, जनता के सामने बार-बार झूठ बोल रही हैं।

इसके बाद, छत्तीसगढ़ से युवा कॉन्ग्रेस नेता संजय अजगल्ले ने भी इस पर ट्वीट किया और स्मृति ईरानी पर निशाना साधते हुए लिखा कि नौटंकी करना हो तो कोई इनसे सीखें?

राजनीता मेहता, जो खुद को ऑल इंडिया महिला कॉन्ग्रेस की नेशनल कॉर्डिनेटर और हरियाणा राज्य की मीडिया प्रवक्ता बताती हैं, वे भी इस तस्वीर को शेयर करती हैं और स्मृति ईरानी को कहती हैं कि अब जनता को मैडम क्या मुँह दिखाएँगी?

गौरतलब है कि कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं और नेताओं की मूढ़ता देखने के बाद सोशल मीडिया पर स्मृति ने खुद ट्वीट किया और सबको ये बताया कि वे लोग जिस सज्जन को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं, उनका नाम चिन्मयानंद नहीं है, बल्कि हुकुमदेव नारायण यादव है। जिन्हें पद्मभूषण से सम्मानित किया गया है और जो दलित समाज के लिए काम कर चुके हैं।

बता दें कि ये पहली बार नहीं है, जब स्मृति ईरानी को नीचा दिखाने के लिए कॉन्ग्रेस ने इस तरह उन पर हमला किया हो। साल 2014 में भी कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता उनके ख़िलाफ़ बोलते नजर आए थे। जिसका जवाब देते हुए उन्होंने इस वर्ष अमेठी में राहुल गाँधी को हराकर ऐतिहासिक जीत हासिल की।

‘रेप इन इंडिया’ पर मुश्किल में राहुल गाँधी, स्मृति ईरानी की शिकायत पर चुनाव आयोग ने माँगा जवाब

‘रेप इन इंडिया’ पर घिरे राहुल गाँधी, स्मृति ईरानी बोलीं- बपौती नहीं देश की महिलाएँ

नचनिया, रंगा-बिल्ला के आगे मुजरा करने वाली… स्मृति ईरानी पर कॉन्ग्रेस समर्थक का आपत्तिजनक कमेंट

किसानों की जमीन हड़पने वाले न दें नसीहत: प्रियंका गाँधी की स्मृति ईरानी ने की बोलती बंद

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,363FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe