Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'हथकड़ी लगाओ और ले चलो': सुबह में बोली थीं प्रियंका गाँधी, अब लगा रही...

‘हथकड़ी लगाओ और ले चलो’: सुबह में बोली थीं प्रियंका गाँधी, अब लगा रही हैं झाड़ू, लखीमपुर जा रहे दूसरे नेता भी UP पुलिस की हिरासत में

इस दौरान वह सीतापुर जिले की पुलिस पर चिल्लाते हुए कह रही हैं, ''आप एक अरेस्ट का वारंट निकालो, मुझे हथकड़ी पहनाओ और ले चलो, मुझे बिल्कुल मंजूर है। बताओ मुझे किस आधार पर रोक रहे हो।''

लखीमपुर खीरी में ‘किसान प्रदर्शनकारियों’ की गुंडई के बाद विपक्ष ने उत्तर प्रदेश को राजनीति का अखाड़ा बना दिया है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और कॉन्ग्रेस नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा इस मामले पर राजनीतिक रोटियाँ सेंकने में जुट गए हैं। इसी बीच कॉन्ग्रेस महासचिव का एक वीडियो सोशल मीडिया तेजी से वायरल हो रहा है। यह वीडियो सीतापुर जिले के PAC गेस्ट हाउस का है, जहाँ प्रियंका गाँधी वाड्रा झाड़ू लगाती हुई दिखाई दे रही हैं।

अखिलेश यादव और प्रियंका गाँधी को हिरासत में लिया

दरअसल, विपक्षी नेता प्रशासन के मना करने के बावजूद लखीमपुर जाकर किसानों से मिलना चाहते हैं। रोके जाने पर अखिलेश यादव लखनऊ में सड़क पर ही धरने पर बैठ गए थे, जिसके बाद उनको हिरासत में लिया गया। वहीं, इससे पहले कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा को हिरासत में लेने का वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया था। इसमें वह यूपी पुलिस की कार्रवाई को बाधित करती हुई दिखाई दीं।

धारा-144 लगने के बावजूद वह कुछ लोगों के साथ लखीमपुर खीरी जाने वाली थीं। इस दौरान वह सीतापुर जिले की पुलिस पर चिल्लाते हुए कह रही हैं, ”आप एक अरेस्ट का वारंट निकालो, मुझे हथकड़ी पहनाओ और ले चलो, मुझे बिल्कुल मंजूर है। बताओ मुझे किस आधार पर रोक रहे हो।” इसके बाद पुलिस ने सोमवार (4 अक्टूबर 2021) सुबह प्रियंका को हिरासत में लिया गया था। अब वह सीतापुर जिले के साफ सुधरे PAC Guest House में झाड़ू लगा रही हैं।

इसके अलावा, लखीमपुर घटना के जरिए खुद को लाइम लाइट लाने वाले अन्य नेताओं को भी यूपी पुलिस ने हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि लखीमपुर खीरी जा रहे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के नेता शिवपाल सिंह यादव को लखनऊ पुलिस ने इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहा पर हिरासत में लिया। वहीं, AAP नेता संजय सिंह को भी वहाँ जाने से रोका गया है।

लखीमपुर खीरी में धारा-144

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कॉन्ग्रेस नेता प्रियंका गाँधी के अलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंजाब के उप-मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा के भी लखीमपुर पहुँचने की खबरें सामने आई हैं। वहीं, ‘भारतीय किसान मोर्चा’ के प्रवक्ता राकेश टिकैत भी वहाँ पहुँचे हैं और कहा है कि कार्रवाई न होने तक मृतकों का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा। 8 लोगों की मौत के बाद से ‘किसान प्रदर्शनकारी’ धरने पर हैं। सोमवार (4 अक्टूबर, 2021) को सुबह साढ़े 4 बजे ही राकेश टिकैत वहाँ पहुँच गए थे और उन्होंने एक गुरुद्वारे में बैठक भी की। इस दौरान आगे की रणनीति बनाई गई। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष का नाम FIR में डालने की माँग की गई है। फिलहाल स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए लखीमपुर खीरी में धारा-144 लगा दी गई है।

आशीष मिश्रा समेत 14 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज

जानकारी के मुताबिक, आशीष मिश्रा समेत 14 लोगों के खिलाफ हत्‍या, आपराधिक साजिश और बलवा सहित कई धाराओं में FIR दर्ज कर ली गई है। बहराइच नागपाड़ा के जगजीत सिंह की शिकायत पर तिकुनिया थाने में मामला दर्ज किया गया है। वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री गंभीर हैं और अधिकारियों की टीम गठित कर दी गई है। उन्होंने शांति व्यवस्था बनाए रखने पर जोर देते हुए कहा कि सरकार अपना काम कर रही है और इस मामले को राजनीतिक तूल देने की जरूरत नहीं है।

‘किसान प्रदर्शनकारियों’ ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला बोला

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में रविवार (3 अक्टूबर 2021) को ‘किसान प्रदर्शनकारियों’ ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमला बोल दिया था। इस घटना में 8 लोगों की मौत हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पर दुःख प्रकट करते हुए इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा है कि सरकार इसकी तह तक जाएगी और जाँच के बाद इसमें शामिल तत्वों को बेनकाब करेगी। साथ ही दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। इस दौरान कई वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

बता दें कि इस घटना का वीडियो भी सामने आया है, जिसमें किसान प्रदर्शनकारी’ लाठी-डंडे लेकर लोगों को पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं। तथाकथित ‘किसानों’ का कहना है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे ने जबरदस्ती ‘आंदोलनकारियों’ के ऊपर गाड़ी चढ़ा कर उन्हें कुचल दिया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

कर्नाटक के बाद अब तमिलनाडु में YouTuber अजीत भारती के खिलाफ FIR, कॉन्ग्रेस नेता सैमुअल MC ने की शिकायत: राहुल गाँधी से जुड़ा है...

"कर्नाटक उच्च न्यायालय ने स्थगन का आदेश दे रखा है, उस पर कथित घटना और केस पर स्टे के बाद, वापस दूसरे राज्य में केस करना क्या बताता है? "

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -