Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र: शिवसेना ने कहा- सरकार बनाना हमारी जिम्मेदारी नहीं, कॉन्ग्रेस-एनसीपी ने बैठक टाली

महाराष्ट्र: शिवसेना ने कहा- सरकार बनाना हमारी जिम्मेदारी नहीं, कॉन्ग्रेस-एनसीपी ने बैठक टाली

शरद पवार को लेकर संजय राउत ने कहा कि शरद पवार को समझने में कई जन्म लग जाएँगे। हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें पवार पर किसी तरह का कोई संदेह नहीं है।

महाराष्ट्र में जारी सियासी उठापठक के बीच ​सरकार बनाने की शिवसेना की उम्मीदें धूमिल होती जा रही है। 170 विधायकों का समर्थन होने का दावा करने वाले शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा है कि सरकार गठन की जिम्मेदारी ​उनकी पार्टी की नहीं है। वहीं, एनसीपी और कॉन्ग्रेस की मंगलवार को होने वाली बैठक भी टाल दी गई है। यह खबरें ऐसे वक्त में आई है जब कुछ मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे को सीएम बनाने पर कॉन्ग्रेस और एनसीपी राजी हैं।

अटकलों का दौर तब शुरू हुआ जब सोमवार को एनसीपी सुप्रीमो शरद पवार ने सोनिया गॉंधी से हुई मुलाकात के दौरान सरकार गठन पर चर्चा नहीं होने की बात कही। इससे पहले उन्होंने यह भी कहा था कि शिवसेना ने कॉन्ग्रेस-एनसीपी के खिलाफ चुनाव लड़ा था। ऐसे में वे उसके साथ कैसे सरकार बना सकते हैं।

सोमवार (नवंबर 18, 2019) देर शाम पवार से मुलाकात के बाद संजय राउत ने कहा, “सरकार गठन हमारी जिम्मेदारी नहीं है। जिसकी यह जिम्मेदारी थी वे भाग खड़े हुए। बावजूद मुझे यकीन है कि जल्द हम सरकार बनाने में कामयाब रहेंगे।”

शरद पवार को लेकर संजय राउत ने कहा कि शरद पवार को समझने में कई जन्म लग जाएँगे। हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें पवार पर किसी तरह का कोई संदेह नहीं है। संजय राउत ने आगे कहा कि वो किसानों के मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेंगे। ये मुलाकात शरद पवार की अगुवाई में ही होगी।

वहीं जब सोनिया गाँधी के साथ बैठक के बाद जब शरद पवार से राउत के 170 विधायकों के समर्थन के दावे के बारे में पूछा गया, तो पवार ने कहा, “मुझे इस 170 के आँकड़े के बारे में नहीं पता है। इस  बारे में आपको उनसे पूछना चाहिए था।”

बता दें कि सोनिया गाँधी से मुलाकात के बाद पवार ने कहा था, “सोनिया जी के साथ सरकार बनाने को लेकर कोई बात ही नहीं हुई। हमारी अपनी पार्टियों की बात हुई। चुनाव के दौरान कई पार्टियाँ हमारे साथ थीं, उनका भी ध्यान रखना होगा। किसी के साथ सरकार बनाने पर बात नहीं हुई। कॉन्ग्रेस-एनसीपी के अपने मुद्दों पर बात हुई। साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर कोई बात ही नहीं हुई है। कॉन्ग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के नेताओं के बीच सामान्य मुलाकात हुई थी।”

इस मुलाकात के बाद कॉन्ग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, “शरद पवार ने सोमवार को कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी से मुलाकात की और महाराष्ट्र के राजनीतिक हालात के बारे में उन्हें अवगत कराया। यह निर्णय लिया गया कि अगले एक या दो दिनों में एनसीपी और कॉन्ग्रेस के प्रतिनिधि दिल्ली में फिर मिलेंगे, जिसमें आगे के रणनीति के बारे में चर्चा होगी।” वहीं, एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने बताया है कि कॉन्ग्रेस के साथ होने वाली बैठक इंदिरा गॉंधी की जयंती के कारण टाल दी गई है। अब बैठक बुधवार को होगी।

यह भी पढ़ें:फँस गई शिवसेना: सरकार बनाने पर सोनिया गाँधी से पवार ने नहीं की बात
यह भी पढ़ें:बिगड़ रही शिवसेना-कॉन्ग्रेस-NCP की बात?
यह भी पढ़ें:दिल्ली पहुँच पवार का यू टर्न: हमारे खिलाफ लड़ी शिवसेना, उसके साथ सरकार कैसे बना लें

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -