Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजहावड़ा रेलवे स्टेशन पर लगे जय श्रीराम के नारे, ममता बनर्जी ने मंच पर...

हावड़ा रेलवे स्टेशन पर लगे जय श्रीराम के नारे, ममता बनर्जी ने मंच पर बैठने से कर दिया इनकार: राज्यपाल और मंत्री के मनाने पर भी नहीं मानीं

बंगाल में हुए कार्यक्रम के दौरान आज जहाँ पीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य को 7800 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट्स की सौगात दी। वहीं ममता बनर्जी 'जय श्रीराम' का नारे लगने के वजह से नाराज दिखाई दीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पश्चिम बंगाल को हावड़ा-जलपाईगुड़ी वंदे भारत एक्सप्रेस की सौगात दी। यह कार्यक्रम हावड़ा रेलवे स्टेशन में आयोजित था। इस कार्यक्रम में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद थीं। ममता को देखकर वहाँ मौजूद लोगों ने ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाने शुरू कर दिए। इन नारों को सुनने के बाद, ममता बनर्जी भड़क गईं और उन्होंने मंच पर बैठने से इनकार दिया।

दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार (30 दिसंबर 2022) को पश्चिम बंगाल को 7800 करोड़ रुपए की योजनाओं की सौगात दी है। इस कार्यक्रम से पहले, ममता बनर्जी जब मंच की ओर जा रहीं थीं तब लोगों ने नारेबाजी करना शुरू कर दिया। उस समय उनके साथ खड़े राज्यपाल सीवी आनंद बोस व केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ममता बनर्जी को मनाने की कोशिश करते रहे।

हालाँकि, ‘जय श्रीराम’ के नारों से भड़की हुई ममता बनर्जी मंच पर चढ़ना ही नहीं चाहतीं थीं। राज्यपाल, केंद्रीय मंत्री समेत अन्य लोगों ने भी काफी देर तक उन्हें मनाने की कोशिश की। हालाँकि, वह नहीं मानीं और प्लेटफॉर्म के पास रखी कुर्सियों में जाकर बैठ गईं। फिर, कार्यक्रम औपचारिक रूप से शुरू हुआ। इस कार्यक्रम में उन्होंने रेलवे परियोजना के लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद करने के साथ ही उनकी माँ के निधन को लेकर अपनी संवेदनाएँ भी व्यक्त कीं हैं।

गौरतलब है कि यह पहला मौका नहीं है जब ममता बनर्जी ‘जय श्रीराम’ के नारों के कारण भड़कीं हों। इससे पहले उन्होंने, जनवरी 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति वाले एक कार्यक्रम को संबोधित करने से मना कर दिया था। यह कार्यक्रम नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 125वीं जयंती पर आयोजित था।

कार्यक्रम में ममता मंच पर थीं। जब, वह लोगों को संबोधित करने पहुँची तब, वहाँ मौजूद लोगों ने ‘जय श्रीराम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाने शुरू कर दिए। थोड़ा देर बाद पूरा कार्यक्रम स्थल इन नारों से गूँजने लगा। इन नारों के बीच ममता बनर्जी को अपनी बेइज्जती महसूस हुई और वह कार्यक्रम छोड़कर चलीं गईं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -