Saturday, July 13, 2024
Homeराजनीतिहमेशा ऑन ड्यूटी... 9 सालों में PM मोदी ने एक भी दिन नहीं ली...

हमेशा ऑन ड्यूटी… 9 सालों में PM मोदी ने एक भी दिन नहीं ली काम से छुट्टी, RTI से खुलासा

"कार्यालय में अनुपस्थित दिनों की संख्या जीरो है। यही कारण है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने लाल किले से अपने पहले संबोधन में खुद को प्रधानमंत्री की जगह 'प्रधान सेवक' कहा था।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर सोशल मीडिया पर कई चीजें वायरल होती रहतीं हैं। इसमें उनके छुट्टी न लेने को लेकर भी दावा किया जाता रहा है। अब आरटीआई (RTI) में खुलासा हुआ है कि देश की सत्ता सँभालने के बाद से पीएम मोदी ने एक भी छुट्टी नहीं ली है। यानी कि वह बतौर पीएम बीते 9 साल से अधिक समय से लगातार काम कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, आरटीआई कार्यकर्ता प्रफुल्ल पी शारदा ने 31 जुलाई 2023 को प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) में अर्जी दाखिल कर पीएम मोदी की छुट्टियों से जुड़ी जानकारी माँगी थी। इसमें उन्होंने दो सवाल पूछे थे। पहला सवाल था कि प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी दिल्ली स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय में कितने दिन उपस्थित रहे? दूसरा सवाल था कि प्रधानमंत्री बनने के बाद से अब तक वह विभिन्न कार्यक्रमों में कितने दिन उपस्थित रहे?

इस आरटीआई के जवाब में प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जवाब देकर कहा गया है कि पीएम मोदी हर समय ऑन ड्यूटी पर रहते हैं। प्रधानमंत्री बनने के बाद से अब तक उन्होंने एक भी छुट्टी नहीं ली है। वहीं प्रधानमंत्री के विभिन्न कार्यक्रमों से जुड़े सवाल के जवाब में कहा गया है कि प्रधानमंत्री कार्यालय की वेबसाइट में पीएम मोदी के कार्यक्रम से जुड़ी सभी जानकारी उपलब्ध है।

गौरतलब है कि इससे पहले साल 2016 में भी आरटीआई दाखिल कर प्रधानमंत्री कार्यालय से पीएम की छुट्टी से जुड़ी जानकारी माँगी गई थी। तब भी PMO ने अपने जवाब में कहा था कि पीएम मोदी ने एक भी छुट्टी नहीं ली। वह हमेशा ड्यूटी में रहते हैं।

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा दी गई यह जानकारी असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर शेयर की है। साथ ही हैशटैग के साथ लिखा है, “माई पीएम-माई प्राइड” यानि कि मेरा प्रधानमंत्री-मेरा अभिमान।

वहीं केंद्रीय आयुष और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनवाल ने लिखा है, “जब कर्म की पूजा होती है तब देश समृद्ध होता है। माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी सभी के लिए इसका उदाहरण हैं।”

बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और तेलंगाना के गडवाल से विधायक डीके अरुण ने एक्स पर लिखा है, “कार्यालय में अनुपस्थित दिनों की संख्या जीरो है। यही कारण है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने लाल किले से अपने पहले संबोधन में खुद को प्रधानमंत्री की जगह ‘प्रधान सेवक’ कहा था।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आदिल ने आदित्य बनकर हिंदू छात्रा को फँसाया, फिर लिव इन में रहने का बनवाया एफिडेविट: युवती के माता-पिता को भी मुस्लिम बनने के...

मध्य प्रदेश के सतना में आदिल खान ने आदित्य यादव बनकर हिंदू लड़की को जाल में फँसा लिया। इसके बाद लिव इन रिलेशन में रहने का एफिडेविट बनवा लिया।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -