Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिलड़कियों के कपड़े कैंची से काटे, राखी-गहने-चप्पल सब उतरवाए: राजस्थान में कुछ इस तरह...

लड़कियों के कपड़े कैंची से काटे, राखी-गहने-चप्पल सब उतरवाए: राजस्थान में कुछ इस तरह हो रही REET की परीक्षा, रोते रहे अभ्यर्थी

इस बाबत इंटरनेट सेवा भी ठप्प कर दी गई है, जिससे आम लोगों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। चेकिंग के दौरान परीक्षार्थियों के हाथों में बँधी राखी तक उतरवा ली गई।

राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (REET 2021) की परीक्षा के दौरान सेंटरों पर लड़कियों के फुल बाजू के कपड़ों को कैंची से काट डालने का मामला सामने आया है। एक तस्वीर में देखा जा सकता है कि किस तरह REET 2021 परीक्षा सेंटर पर एक महिला पुलिसकर्मी एक महिला अभ्यर्थी के फुल बाजू को कैंची से काट कर हाफ बना रही है। CCTV के माध्यम से परीक्षा पर नजर रखी जा रही है और अधिकारी लगातार दौरा कर रहे हैं।

सीकर जिले में इस बाबत इंटरनेट सेवा भी ठप्प कर दी गई है, जिससे आम लोगों को खासा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। चेकिंग के दौरान परीक्षार्थियों के हाथों में बँधी राखी तक उतरवा ली गई। साथ ही महिलाओं से नाक-कान-गले में पहने हुए गहने भी उतरवा लिए गए। यहाँ तक कि छात्राओं के बाल के रिबन तक खुलवा लिए गए। पोद्धार स्कूल पर बने सेंटर पर पुलिस से अभ्यर्थियों की झड़प भी हुई।

एक महिला के कपड़े की बाजू काटने पर पुलिसकर्मियों से परिजन उलझ गए। परीक्षार्थियों को उनके चप्पल तक उतारने को कहा गया, जिससे उन्होंने पुलिस के साथ झड़प की। हालाँकि, स्थानीय कोतवाल ने वहाँ पहुँच कर किसी तरह मामले को शांत कराया। इतनी सुरक्षा के बावजूद कई लोग सेठ जयदेव जालान स्कूल की दीवारों पर चढ़े हुए थे, जिन्हें पुलिस ने खदेड़ कर भगाया। तब जाकर वहाँ से लोग भागे।

परीक्षा के नियमों को इतना कड़ा कर दिया गया है कि कुछ मिनटों की देरी पर आने के बाद परीक्षार्थियों को अंदर प्रवेश तक नहीं दिया गया। कई छात्राएँ परीक्षा हॉल में न जाने दिए जाने के कारण बाहर ही रोती रहीं। उनके परिजन उन्हें ढाँढ़स बँधाते रहे। वो गुहार लगाते रहे कि उन्हें भीतर जाने दिया जाए, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। ‘आज तक’ ने इस सम्बन्ध में खबर प्रकाशित की है और परीक्षा सेंटरों का हाल बताया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

US में पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को लगी गोली, हमलावर सहित 2 की मौत: PM मोदी ने जताया दुख, कहा- ‘राजनीति में हिंसा की...

गोलीबारी के दौरान सुरक्षाबलों ने हमलावर को मार गिराया। इस हमले में डोनाल्ड ट्रंप घायल हो गए और उनके कान से निकला खून उनके चेहरे पर दिखा।

छात्र झारखंड के, राष्ट्रगान बांग्लादेश-पाकिस्तान का, जनजातीय लड़कियों से ‘लव जिहाद’, फिर ‘लैंड जिहाद’: HC चिंतित, मरांडी ने की NIA जाँच की माँग

झारखंड में जनजातीय समाज की समस्या पर भाजपा विरोधी राजनीतिक दल भी चुप रहते हैं, जबकि वो खुद को पिछड़ों का रहनुमा कहते नहीं थकते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -