Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिहैदराबाद का नाम बदलकर 'भाग्यनगर' करने की माँग तेज, RSS ने जनवरी में बीजेपी...

हैदराबाद का नाम बदलकर ‘भाग्यनगर’ करने की माँग तेज, RSS ने जनवरी में बीजेपी के साथ बुलाई समन्वय बैठक

हैदराबाद के मलकजगिरी क्षेत्र में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था, "कुछ लोग मुझसे पूछ रहे थे कि क्या हैदराबाद का नाम बदल कर भाग्यनगर किया जा सकता है? मैंने कहा क्यों नहीं? जब हमने फैजाबाद का नाम अयोध्या किया और इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया तो भाग्यनगर के रूप में हैदराबाद का नाम क्यों नहीं बदला जा सकता है?”

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने तेलंगाना (Telangana) की राजधानी हैदराबाद (Hyderabad) का नाम बदलकर ‘भाग्यनगर’ (Bhagyanagar) करने की माँग तेज कर दी है। माना जा रहा है कि अगले साल 5 जनवरी से 7 जनवरी के बीच संघ और बीजेपी के बीच होने वाली समन्वय बैठक के दौरान इस मुद्दे पर चर्चा हो सकती है। इस बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ बीजेपी के महासचिव बीएल संतोष समेत कई अन्य वरिष्ठ नेता शामिल रहेंगे।

आरएसएस ने खुद इसकी जानकारी ट्विटर के जरिए दी है। खास बात यह रही है कि संघ ने अपने ट्वीट में हैदराबाद को भाग्यनगर के नाम से जिक्र किया है। संघ के ट्वीट में लिखा गया, “राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से सम्बंधित समाज जीवन के विभिन्न क्षेत्र में कार्यरत विविध संगठन के प्रमुख पदाधिकारियों की समन्वय बैठक अगले माह 5 से 7 जनवरी 2022 को भाग्यनगर (हैदराबाद), तेलंगाना में आयोजित हो रही है।”

हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर करने की माँग कोई नई नहीं है। इससे पहले भी समय-समय पर इसकी माँग उठती रही है। साल 2020 में हैदराबाद के म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने भी हैदराबाद का नाम भाग्यनगर करने की माँग की थी। 29 नवंबर 2020 को हैदराबाद के मलकजगिरी क्षेत्र में भाषण देते हुए उन्होंने कहा था, “कुछ लोग मुझसे पूछ रहे थे कि क्या हैदराबाद का नाम बदल कर भाग्यनगर किया जा सकता है? मैंने कहा क्यों नहीं? मैंने उनसे कहा कि उत्तर प्रदेश में सत्ता हासिल करने के बाद जब हमने फैजाबाद का नाम अयोध्या किया और इलाहाबाद का नाम प्रयागराज किया तो भाग्यनगर के रूप में हैदराबाद का नाम क्यों नहीं बदला जा सकता है?”

इसके साथ ही सीएम योगी ने भाग्यनगर का मतलब भी समझाते कहा था कि इसका अर्थ विकास का प्रतीक होता है। यहीं नहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने भी हैदराबाद शहर को भाग्यनगर करने की बात कही थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -