Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति'भारत में लागू हो शरिया': सपा संसद ST हसन की माँग, कहा - पॉर्न...

‘भारत में लागू हो शरिया’: सपा संसद ST हसन की माँग, कहा – पॉर्न देखने से शरीर में बनते हैं विशेष हार्मोन, जो बलात्कार के लिए करता देता है मजबूर

मुरादाबाद से सपा सांसद एसटी हसन का कहना है कि चार लड़के खेतों में ग्रुप में बैठकर पॉर्न देखते हैं और कोई लड़की सामने से गुजरती है, तो उसका रेप कर देते हैं।

समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन ने माँग की है कि भारत में शरिया कानून लागू कर दिया जाए, इससे रेप जैसी वारदातों पर पूरी तरह से रोक लग जाएगी। एसटी हसन ने तर्क दिया है कि शरिया कानून लागू होने की वजह से सऊदी अरब में महिलाओं के खिलाफ एक भी अपराध नहीं होते।

उन्होंने कहा कि पॉर्न साइटों पर बैन लगा देने से भी रेप की वारदातें नहीं होंगी। हालाँकि, भारत में अश्लीलता फैलाने वाली बहुत सारी वेबसाइटें ब्लॉक्ड हैं।

पॉर्न पर बैन लगाने का दिया अजीब तर्क

मुरादाबाद से सपा सांसद एसटी हसन का कहना है कि चार लड़के खेतों में ग्रुप में बैठकर पॉर्न देखते हैं और कोई लड़की सामने से गुजरती है, तो उसका रेप कर देते हैं। उनका कहना है कि ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि जवान लड़के-लड़कियाँ पॉर्न और गंदी फिल्मों को देखते हैं तो उनके शरीर के अंदर एक विशेष किस्म का हार्मोन बनता है, जो उन्हें बलात्कार करने के लिए मजबूर करता है। ऐसे में वो अपराधिक घटना को अंजाम दे देते हैं। इसलिए देश में पॉर्न साइटों पर रोक लगनी चाहिए।

शरिया के समर्थन में तर्क

मुरादाबाद के सांसद एसटी हसन ने कहा कि रेप की घटनाओं पर रोक के लिए शरीयत कानून को जरूरी बताया। उन्होंने कहा कि शरीयत के मुताबिक सजा देने से इस तरह के अपराध को अंजाम देने वालों में खौफ का माहौल बनेगा, जिससे इस तरह की वारदातें रूकेंगी।

सपा सांसद ने मामले को लेकर सऊदी अरब का उदाहरण भी दिया। सपा सांसद ने कहा कि सऊदी अरब में रेप, चोरी, हत्या की घटनाएं क्यों नहीं होती? फिर उन्होंने जवाब दिया कि क्योंकि वहाँ इस तरह के अपराधों को अंजाम देने पर सख्त सजा का प्रावधान है। उन्होंने ये भी कहा कि हमारे देश में कानून के लचीला होने का लोग फायदा उठाते हैं और रेप का झूठा मुकदमा दर्ज कराते हैं।

एसटी हसन ने कहा कि रेप की धारा 376 का देश में काफी दुरुपयोग हो रहा है, किस तरह से लोग एक दूसरे को फँसाने के लिए अपनी बहन बेटियों से झूठे आरोप लगवाकर इस धारा का दुरुपयोग कर रहे हैं। हसन ने कहा कि पूरे हिंदुस्तान में इस्लाम और मुस्लिम के खिलाफ राजनीति हो रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

समतल कर दिया पैगंबर मुहम्मद की अम्मी-अब्बू का कब्र, बीवी खदीजा का घर बना डाला शौचालय, वो मस्जिद भी बंद… जहाँ पढ़ते थे नमाज:...

वहाबी सुन्नी इस्लाम का सबसे रूढ़िवादी शाखा है। इस्लाम की इस कट्टरपंथी शाखा को वहाबिज्म कहा जाता है, जिसकी स्थापना 18वीं शताब्दी में मुहम्मद इब्न अब्द अल-वहाब ने की थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -