Monday, July 4, 2022
Homeदेश-समाज5 साल में ₹3 लाख करोड़ का निवेश जमीन पर उतारा, अब ₹80000 करोड़...

5 साल में ₹3 लाख करोड़ का निवेश जमीन पर उतारा, अब ₹80000 करोड़ की परियोजनाओं की शुरुआत: CM योगी की ‘गति’ के अडानी भी मुरीद

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के दौरान उद्योगपतियों ने सीएम योगी और पीएम मोदी की जोड़ी की खूब प्रशंसा की। अडानी समूह के प्रमुख गौतम अडानी ने कहा, “मेरा सौभाग्य है कि आज मुझे दो महान नेताओं से एक साथ मिलने का मौका मिला, जो भारत को नया भारत बनाने के लिए सतत प्रयासरत हैं। योगी जी और मोदी जी का विजन एक दूसरे से मेल खाता है।"

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की अगुआई में उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) निवेशकों (Investors) का सबसे मनपसंद स्थान बनकर उभरा है। यही कारण है कि प्रदेश में निवेश लगातार बढ़ता जा रहा है। पिछले पाँच सालों में उत्तर प्रदेश को 4.68 लाख करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव मिले। वहीं, तीसरे ग्राउंड सेरेमनी के दौरान अडानी समूह ने 70,000 करोड़ रुपए निवेश करने की घोषणा की है।

कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी से प्रदेश में निवेश का माहौल बन रहा है। उन्होंने निवेशकों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि प्रदेश में उनका निवेश पूरी तरह सुरक्षित है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में निवेश करने वाले उद्योगपतियों को हर संभव मदद उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “साल 2018 में पहले इंवेस्टर समिट के समय हमें 4 लाख 68 हजार करोड़ रुपए के निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए थे, जिनमें से पिछले पाँच वर्षों के दौरान 3 लाख करोड़ रुपए से अधिक के निवेश प्रस्ताव को धरातल पर उतारा गया। कोरोना कालखंड के दौरान भी प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में और उनकी प्रेरणा से जीवन और जीविका को बचाने के साथ ही प्रदेश में निवेश के प्रस्तावों को सफलतापूर्वक लागू किया गया। उस दौरान 66,000 करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव मिले और उसे सफलतापूर्वक धरातल पर उतारा गया।”

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 80,000 करोड़ रुपए की नई परियोजनाओं का शुभारंभ किया जा रहा है। इससे 5 लाख प्रत्यक्ष और 20 लाख अप्रत्यक्ष रोजगार का सृजन होगा। वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्शन के सफल क्रियान्वयन के कारण यूपी ने अपने निर्यात को 88,000 करोड़ से बढ़ाकर 1.56 लाख करोड़ रुपए सालाना कर दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश छठवीं अर्थव्यवस्था से दूसरे स्थान पर आ गई है। यूपी ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में नंबर 2 पर पहुँच गया है। प्रदेश में 500 से ज्यादा सुधार लागू किए गए हैं और 40 विभागों के 1400 से अधिक अनुपयोगी नियमों को खत्म कर प्रदेश को निवेश फ्रेंडली बनाया गया है।”

उन्होंने आगे कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी के रिफॉर्म, परफार्म और इन्फॉर्म के मंत्र को अंगीकार करते हुए उत्तर प्रदेश ने विकास की नई दिशा तय की है। इसके तहत अब तक 1 करोड़ 60 हजार लोगों को व्‍यापार से जोड़ा गया है।

ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के दौरान उद्योगपतियों ने सीएम योगी और पीएम मोदी की जोड़ी की खूब प्रशंसा की। अडानी समूह के प्रमुख गौतम अडानी ने कहा कि सीएम योगी के प्रशासन में जल्द निर्णय लेने की क्षमता आश्चर्यजनक है और इससे प्रदेश में निवेश का माहौल बन रहा है।

उन्होंने आगे कहा, “मेरा सौभाग्य है कि आज मुझे दो महान नेताओं से एक साथ मिलने का मौका मिला, जो भारत को नया भारत बनाने के लिए सतत प्रयासरत हैं।” उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विजन एक दूसरे से मेल खाता है।

वहीं, उद्योगपति हीरानंदानी (Industrialist Hiranandani) ने पीएम मोदी व सीएम योगी की तारीफ करते हुए कहा, “आप दोनों का कॉग्बिनेशन डबल इंजन गाड़ी की तरह है।” इस दौरान हीरानंदानी ने प्रदेश में डेटा सेंटर बनाने में अगले पाँच साल में प्रत्येक वर्ष एक हजार करोड़ रुपए निवेश करने का ऐलान किया।

बिड़ला ग्रुप के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला (Kumar Mangalam Birla) ने उत्तर प्रदेश को अन्य राज्यों के लिए उदाहरण बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश आगे बढ़ रहा है और प्रधानमंत्री मोदी के निर्देशन में प्रदेश सशक्त बन रहा है।

कुमार मंगलम बिड़ला ने पीएम मोदी व सीएम योगी की प्रशंसा में कहा, “जब हौसला बना लिया ऊँची उड़ान का, तब देखना फिजूल है कद आसमान का।” उन्होंने प्रदेश के सीमेंट उद्योग में पाँच हजार करोड़ रुपए निवेश करने की घोषणा की।

बता दें कि तीसरे ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी के दौरान प्रदेश के टियर-2 और टियर-3 जैसे शहरों को भी विकास की मुख्यधारा से जोड़ने का काम किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए पूरी रूपरेखा तैयार कर ली है। जिन जगहों को प्रोजेक्ट्स के लिए चुना गया है, उनमें रामपुर, देवरिया, बरेली, कानपुर देहात, हमीरपुर जैसी कई जगहें शामिल हैं। इन जगहों पर खाद्य प्रसंस्करण उद्योग से लेकर रेलवे और हवाई अड्डे तक बनाने तक की परियोजना शामिल हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

AG के पास पहुँचा TMC वाला साकेत गोखले, हमारे खिलाफ चलाना चाहता है अदालत की अवमानना का मामला: हम अपने शब्दों पर अब भी...

ऑपइंडिया की एडिटर नुपूर शर्मा के लेख की शिकायत लेकर टीएमसी नेता साकेत गोखले अटॉर्नी जनरल के पास गए हैं ताकि अदालत की अवमानना का केस चलवा सकें।

‘शौच करने गई थी, मोहम्मद जाकिर हुसैन सर पीछे-पीछे आ गए’: मिडिल स्कूल में शिक्षक ने नाबालिग छात्रा से की छेड़खानी, हुआ गिरफ्तार

बिहार के सुपौल में शिक्षक जाकिर हुसैन ने 7वीं कक्षा की लड़की के साथ छेड़छाड़ किया। परिजनों ने थाने में दर्ज कराया मामला। आरोपित गिरफ्तार।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,064FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe