Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिपंजाब के DGP सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय हटाए गए, वीके भावरा नए चीफ: चुनाव आयोग के...

पंजाब के DGP सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय हटाए गए, वीके भावरा नए चीफ: चुनाव आयोग के तारीखों के ऐलान से पहले फैसला

उधर चुनाव आयोग चुनाव पंजाब सहित 5 राज्यों में होने वाले चुनाव की तारीखों का ऐलान करने वाला है, इधर पंजाब के डीजीपी को बदल दिया गया। वीके भंवरा होंगे नए पुलिस चीफ। इससे पहले वो विजिलेंस चीफ के तौर पर भी काम कर चुके हैं।

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा से खिलवाड़ किए जाने के मामले में मचे सियासी बवाल के बीच प्रदेश के डीजीपी रहे सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय को हटा दिया गया है। उनकी जगह ये जिम्मेदारी वीके भावरा को दी गई है। 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी वीके भावरा मौजूदा समय में होमगार्ड के डीजी हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शनिवार (8 जनवरी 2021) को चुनाव आयोग चुनाव पंजाब सहित 5 राज्यों में होने वाले चुनाव की तारीखों का ऐलान करने वाला था, उससे पहले पंजाब के डीजीपी को बदल दिया गया है। वीके भंवरा की बात की जाए तो वो विजिलेंस चीफ के तौर पर भी काम कर चुके हैं। उन्हें पिछले पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान आयोग ने प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किया था।

डीजीपी के पद से हटाए गए सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय नवजोत सिंह सिद्धू के चहेते माने जाते हैं। दरअसल, पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के करीबी डीजीपी रहे दिनकर गुप्ता के छुट्टी पर जाने के बाद आईपीएस सहोता को ये पदभार दिया गया था। नवजोत सिंह सिद्धू, कॉन्ग्रेस, मुख्यमंत्री चन्नी इन सब के बीच चले राजनीतिक सर्कस के कारण अंततः सिद्धू के ही करीबी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय को यह जिम्मा दिया गया।

आप लोगों को जान कर यह आश्चर्य होगा कि डीजीपी पद के लिए जिन 10 आईपीएस अधिकारियों का नाम संघ लोक सेवा आयोग को भेजा गया था, उसमें भी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय का नाम ही नहीं था। संयोग देखिए कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 जनवरी 2022 को पंजाब के दौरे पर गए थे। लेकिन प्रदर्शनकारियों द्वारा रास्ता रोके जाने के बाद उन्हें वापस लौटना पड़ा था। और यह सब डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय के पुलिस प्रमुख रहते हुए हुआ।

भटिंडा एयरपोर्ट से वापस लौटते समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहाँ के अधिकारियों से कहा था, “अपने मुख्यमंत्री को धन्यवाद कहना, कि मैं भटिंडा एयरपोर्ट तक ज़िंदा पहुँच गया।” वहीं, पंजाब के उप-मुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा ने माना था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक हुई है। जबकि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने सुरक्षा में किसी भी प्रकार की चूक की बात से इनकार किया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -