Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजछूट जाती ट्रेन इसलिए फैला दी बम की अफवाह: नशे में धुत IAF अधिकारी...

छूट जाती ट्रेन इसलिए फैला दी बम की अफवाह: नशे में धुत IAF अधिकारी की करतूत, पुलिस ने पकड़ा

रेलवे पुलिस उप आयुक्त हरीश एच पी ने बताया कि पुलिस ने कॉलर के नंबर को ट्रेस किया। वह नंबर सुनील सांगवान का पाया गया जो भारतीय वायुसेना में सार्जेंट के तौर पर नियुक्त है। सुनील को हिरासत में ले लिया गया। पुलिस की पूछताछ में सुनील ने बताया कि वह मुंबई के सांताक्रूज में वायु सेना के अड्डे पर तैनात है।

राजधानी एक्सप्रेस में बम की फर्जी सूचना देने के आरोप में पुलिस ने भारतीय वायुसेना के एक अधिकारी को गिरफ्तार किया है। आरोपित ने शनिवार (21 जनवरी 2023 को दिल्ली से मुंबई जा रही राजधानी एक्सप्रेस में बम की सूचना फोन पर पुलिस को दी थी। पुलिस ने फ़ौरन ही ट्रेन की जाँच की थी जिसके बाद सूचना अफवाह पाई गई थी। बाद में नंबर को ट्रेस कर के पुलिस आरोपित तक पहुँच गई। आरोपित 35 वर्षीय सुनील सांगवान है जो गिरफ्तारी के दौरान शराब के नशे में बताया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शनिवार को पुलिस कमांड रूम में शाम 4:48 पर एक कॉल आई। फोन करने वाले व्यक्ति ने 10 मिनट बाद 4:55 पर मुंबई के लिए रवाना होने जा रही राजधानी एक्सप्रेस में बम होने की जानकारी दी। पुलिस ने फ़ौरन ही सूचना आगे भेजी। आनन-फानन में रेलवे और जिला पुलिस के बम डिस्पोजल दस्ते प्लेटफॉर्म पर खड़ी गाडी के पास पहुँच गए। इन दस्तों ने ट्रेन की सघन तलाशी ली लेकिन कोई भी आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली। तलाशी की वजह से ट्रेन छूटने में थोड़ा विलम्ब भी हुआ था।

रेलवे पुलिस उप आयुक्त हरीश एच पी ने बताया कि पुलिस ने कॉलर के नंबर को ट्रेस किया। वह नंबर सुनील सांगवान का पाया गया जो भारतीय वायुसेना में सार्जेंट के तौर पर नियुक्त है। सुनील को हिरासत में ले लिया गया। पुलिस की पूछताछ में सुनील ने बताया कि वह मुंबई के सांताक्रूज में वायु सेना के अड्डे पर तैनात है। शनिवार को उसे मुंबई के लिए राजधानी ट्रेन पकड़नी थी लेकिन वह लेट हो रहा था। ट्रेन छूट न जाए इसके लिए उसने बम होने वाली कॉल की थी। सुनील का मकसद था कि तलाशी के दौरान होने वाली देरी में वह ट्रेन पकड़ लेगा।

सुनील ने साल 2006 में एयरमैन के पद पर वायुसेना ज्वाइन की थी। वह मूल रूप से हरियाणा के भिवानी का रहने वाला है। जिस नंबर का प्रयोग उसने बम वाली कॉल के लिए किया था वह उसके भाई आनंद कुमार के नाम पर था। आनंद के एक अन्य नंबर पर कॉल की गई तो उसने सिम के सुनील द्वारा प्रयोग किए जाने की जानकारी दी। पुलिस ने सुनील नाम से रेलवे का चार्ट निकाला। वह पुलिस को ट्रेन के कोच नंबर बी-9 की सीट नंबर 1 पर बैठा मिला। बताया जा रहा है कि उस समय सुनील नशे में था। उसे रेलवे अधिनियम की धाराओं में गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपित का मोबाईल फोन भी जब्त कर लिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -