Sunday, July 14, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका में चीनी नववर्ष समारोह में अंधाधुन फायरिंग: 9 की मौत और दर्जनों घायल,...

अमेरिका में चीनी नववर्ष समारोह में अंधाधुन फायरिंग: 9 की मौत और दर्जनों घायल, पहले भी हो चुकी हैं Mass Shooting की कई घटनाएँ

मॉन्टेरी पार्क महाद्वीपीय शहर है और यह अमेरिका का पहला शहर था, जहाँ एशियाई मूल के लोग सबसे पहले आकर बसे थे। यहाँ आकर बसने वाले लोगों में चीन, ताइवान, जापान और वियतनाम के आप्रवासी प्रमुख हैं। हालाँकि, इस घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों के बारे में अभी कोई सूचना नहीं है।

अमेरिका (America) में एक बार फिर लोगों पर अंधाधुन फायरिंग (Mass Shooting) करने की घटना सामने आई है। कैलिफॉर्निया में हुई हृदयविदारक घटना में कम-से-कम 9 लोग मारे गए हैं। वहीं, गोली लगने से दर्जनों लोगों के घायल होने की खबर है। घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना कैलिफॉर्निया के मॉन्टेरी पार्क की है। शनिवार (21 जनवरी 2023) की रात में हुई इस घटना के बाद इलाके में दहशत का माहौल है। जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुँच गई और मोर्चा सँभाल लिया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, फायरिंग करने वाले शख्स के पास सेमी-ऑटोमेटिक गन था।

फायरिंग की यह घटना स्थानीय समय रात के 10 बजे हुई। पार्क में चीनी चंद्र नववर्ष समारोह का आयोजन (Chinese Lunar New Year Celebration) किया गया था। यहाँ हजारों लोग इस उत्सव में शामिल हुए थे। इसी दौरान एक शख्स ने आयोजन वाले स्थान पर अंधाधुन फायरिंग शुरू कर दी।

एक प्रत्यक्षदर्शी ने लॉस एंजिल्स टाइम्स को बताया कि वह समारोह में शामिल था। इसी दौरान व्यक्ति डांस क्लब एरिया के पास लोगों को निशाना बनाकर गोली चलाने लगा। एक गोली उसके भी सिर के ऊपर से गुजरी। उसने बताया कि जब गोली खत्म हो जाती तो वह दोबारा लोड करता और लोगों पर फायरिंग करता।

मेरिका के कैलिफॉर्निया राज्य में स्थित है मॉन्टेरी पार्क दरअसल लॉस एंजिल्स काउंटी का एक शहर है। यह लॉस एंजिल्स के डाउनटाउन से लगभग 11 किलोमीटर दूर है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, यहाँ की जनसंख्या लगभग 60,000 है। इनमें लगभग 65 प्रतिशत लोग एशियाई मूल के अमेरिकी और 27 प्रतिशत हिस्पैनिक या लैटिनो हैं।

यह महाद्वीपीय शहर संयुक्त राज्य अमेरिका का पहला शहर था, जहाँ एशियाई मूल के लोग सबसे पहले आकर बसे थे। यहाँ आकर बसने वाले लोगों में चीन, ताइवान, जापान और वियतनाम के आप्रवासी प्रमुख हैं। हालाँकि, इस घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों के बारे में अभी कोई सूचना नहीं है।

पिछले साल अमेरिका में हुईं फायरिंग की बड़ी घटनाएँ

अमेरिका में इस तरह की घटनाएँ आम हैं। इसको लेकर वहाँ की सरकार हथियारों के लिए लाइसेेंस पर विचार कर रही है। इसके पहले 20 नवंबर 2022 को अमेरिका के कोलोराडो स्प्रिंग्स शहर के LGBTQ नाइट क्लब में अंधाधुन फायरिंग की गई थी। इस फायरिंग में 5 लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, 18 लोग घायल हो गए थे।

इसके बाद अमेरिका के फिलाडेल्फिया के किंग्स्टन इलाके में 5 नवंबर 2022 को गोलीबारी हुई थी। इस फायरिंग में 40 लोगों को गोली मारी गई थी, जिनमें 12 लोगों की मौत हो गई थी। घटना को अंजाम देने में एक से अधिक हमलावर शामिल थे।

इसके बाद 27 अक्टूबर 2022 को वॉशिंगटन (Washington) के उत्तर-पूर्व में स्थित हडसन नदी के किनारे बसे कोल्विन ट्राइब्स रिजर्वेशन (The Colville Tribal Reservation) में रहने वाले लोगों को निशाना बनाकर गोलीबारी की गई। इस हमले में दो लोगों की मौत हो गई थी। पुलिस ने तीन हमलावरों को गिरफ्तार किया था।

अमेरिका के टेक्सास राज्य में 24 मई 2022 को एक स्कूल में 18 साल के युवक ने छात्रों और टीचरों को निशाना बनाते हुए अंधाधुन फायरिंग की थी। इस घटना में 18 छात्र समेत 22 लोगों की मौत हो गई थी। फायरिंग में दर्जनों लोग घायल हुए। युवक ने AK-47 स्कूल में चलाने से पहले घर में इस्तेमाल किया था और अपने दादी को गोली मारी थी।

अमेरिका के कैलिफोर्निया शहर में 15 मई 2022 को एक चर्च में फायरिंग की गई थी। इस गोलीबारी में एक शख्स की मौत हो गई थी, जबकि 5 लोग घायल हुए थे। पुलिस ने संदिग्ध हमलावर को हिरासत में ले लिया था। उसके पास से हथियार के साथ-साथ दो हथगोले बरामद हुए थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -