Tuesday, July 16, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकंगाल पाकिस्तान ने रोका भारत का रास्ता, भूकंप पीड़ितों के लिए जा रही मदद...

कंगाल पाकिस्तान ने रोका भारत का रास्ता, भूकंप पीड़ितों के लिए जा रही मदद सामग्री के लिए नहीं दिया अपना एयरस्पेस: तुर्की बोला – ज़रूर में काम आने वाला ही सच्चा दोस्त

पाकिस्तान ने तुर्की की स्थिति देखते हुए भी मानवीय सहायता के लिए अपने एयरस्पेस का प्रयोग करने देने से इनकार कर दिया। इस बीच भारत द्वारा भेजी गई सहायता तुर्की पहुँच चुकी है।

पाकिस्तान की आर्थिक हालत खस्ता है। लोग वहाँ आटा के लिए एक-दूसरे का सिर फोड़ रहे हैं। बावजूद पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने भारत द्वारा तुर्की भेजे जाने वाले सहायता सामग्री के लिए अपने एयरस्पेस देने से इनकार कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि तुर्की में आए विनाशकारी भूकंप से अब तक 4900 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और मलबे से लगातार शव निकाले जा रहे हैं। मृतकों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। भूकंप की भयावहता को देखते हुए पूरी दुनिया ने तुर्किये के लिए मदद का हाथ बढ़ाया है। इसी को देखते हुए भारत ने भी एनडीआरएफ की अगुवाई में सहायता सामग्री तुर्की भेजी है।

यह सहायता सामग्री जल्द से जल्द तुर्किये तक पहुँच जाए और वहाँ के लोगों को इससे कुछ राहत मिले, इसी को देखते हुए भारत ने पाकिस्तान से उसके एयरस्पेस का प्रयोग करने की इजाजत माँगी थी। हालाँकि फर्स्टपोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान ने तुर्की की स्थिति देखते हुए भी मानवीय सहायता के लिए अपने एयरस्पेस का प्रयोग करने देने से इनकार कर दिया। इस बीच भारत द्वारा भेजी गई सहायता तुर्की पहुँच चुकी है।

पाकिस्तान की इस हरकत की वजह से भारत को लम्बा रास्ता तय करके राहत सामग्री को पहुँचाना पड़ा। लेकिन भारत में तुर्की के राजदूत ने फिरात सुनेल ने भारत का शुक्रिया अदा किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “तुर्की और हिंदी में ‘दोस्त’ एक आम शब्द है… हमारे यहाँ तुर्की में एक कहावत है- ‘दोस्त करा गुंडे बेली ओलुर’ (ज़रूरत में काम आने वाला दोस्त ही सच्चा दोस्त होता है)। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।”

इससे पहले सोमवार (6 फरवरी, 2023) को केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री (MoS) वी मुरलीधरन तुर्की के दूतावास गए थे और जान-माल की क्षति पर शोक व्यक्त किया। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सहानुभूति और मानवीय समर्थन से भी अवगत कराया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतवंशी पत्नी, हिंदू पंडित ने करवाई शादी: कौन हैं JD वेंस जिन्हें डोनाल्ड ट्रम्प ने चुना अपना उपराष्ट्रपति उम्मीदवार, हमले के बाद पूर्व अमेरिकी...

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को रिपब्लिकन पार्टी के नेशनल कंवेंशन में राष्ट्रपति और सीनेटर JD वेंस को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार चुना है।

जम्मू-कश्मीर के डोडा में 4 जवान बलिदान, जंगल में छिपे थे इस्लामी आतंकवादी: हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमला करने वाले आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी

जम्मू कश्मीर के डोडा में हुए आतंकी हमले में एक अफसर समेत 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -