Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'जैसे भारत के सामने सरेंडर किया था, दोबारा यही हाल कर देंगे': Pak ने...

‘जैसे भारत के सामने सरेंडर किया था, दोबारा यही हाल कर देंगे’: Pak ने धमकाया तो तालिबान नेता ने शेयर कर दी 1971 युद्ध की तस्वीर

"अफगानिस्तान कोई सीरिया या पाकिस्तान नहीं है। हम पर हमला करने की सोचना भी मत, नहीं तो भारत के सामने जिस तरह से सरेंडर किया था, वही शर्मनाक हाल दोबारा होगा।"

तालिबान के नेता यासिर अहमद (Yasir Ahmad) ने पाकिस्तान को चेतावनी दी है। दरअसल, पाकिस्तान के गृह मंत्री राना सनाउल्लाह (Rana Sanaullah) ने अफगान तालिबान को धमकी देते हुए कहा था कि अगर ‘तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP)’ ने अपने हमले नहीं रोके तो पाकिस्तान, अफगानिस्तान में इन्हें घुसकर मारेगा। इसी के जवाब में तालिबान के नेता ने पाकिस्तान को चेतावनी दी और 1971 में भारतीय सेना के हाथों पाकिस्तान की शर्मनाक हार की फोटो पोस्ट कर दी।

यासिर अहमद ने एक ट्वीट में यह ऐतिहासिक फोटो पोस्ट की है। ये तस्वीर भारतीय सेना की वीरता का प्रतीक है। 16 दिसंबर 1971 को पाकिस्तानी सेना के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल आमिर अब्दुल्लाह खान नियाजी ने भारतीय सेना के समक्ष सरेंडर दस्तावेजों पर साइन किए थे। पाकिस्तानी सेना के सरेंडर के बाद विश्व पटल पर एक नए देश बांग्लादेश का उदय हुआ था।

इसी फोटो के बहाने यासिर अहमद ने पाकिस्तान का मजाक उड़ाते हुए कहा, “पाकिस्तान के गृह मंत्री जी, यह बड़े से बड़े साम्राज्यों का कब्रिस्तान है। अफगानिस्तान कोई सीरिया या पाकिस्तान नहीं है। हम पर हमला करने की सोचना भी मत, नहीं तो भारत के सामने जिस तरह से सरेंडर किया था, वही शर्मनाक हाल दोबारा होगा।”

दरअसल, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के संबंध बीते कुछ वक्त से खराब हो गए हैं। दोनों देशों में तल्खी का कारण तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (TTP) है। TTP लगातार पाकिस्तान में हमले को अंजाम दे रहा है। TTP अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर यानि डूरंड रेखा (Durand Line) को भी नहीं मानता। इस वजह से दोनों देशों के बीच यहाँ आए दिन झड़प होते रहते हैं। इसी के मद्देनजर पाकिस्तान के गृह मंत्री ने अफगानिस्तान को गुरुवार (27 दिसम्बर, 2022) को चेतावनी दी थी।

उन्होंने कहा था, “TTP के आतंकी पाकिस्तान में हमले के बाद भागकर अफगानिस्तान में छुप जाते हैं। अगर अफगानिस्तान ने इन आतंकियों को पनाह देना बंद नहीं किया तो हम अफगानिस्तान में घुसकर इन्हें मारेंगे। हमे पता है कि अफगानिस्तान में इनके ठिकाने कहाँ हैं। इन्हें हथियार भी वहीं से मिलता है।” वहीं अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने भी पाकिस्तान के गृह मंत्री के बयान को लेकर प्रतिक्रिया दी थी। मंत्रालय ने कहा था कि अफगानिस्तान में TTP को कहीं पनाह नहीं दिया जाता है। ये आरोप बेबुनियाद हैं। फिर भी पाकिस्तान ने अगर हमला किया तो उन्हें मुँहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरियों में अग्निवीरों को 10% आरक्षण: हरियाणा के CM सैनी का ऐलान- आयुसीमा में भी मिलेगी छूट, बंदूक का लाइसेंस भी मिलेगा

हरियाणा के सीएम सैनी ने कहा कि राज्य में अग्निवीरों को पुलिस भर्ती और माइनिंग गार्ड समेत कई अन्य पदों की भर्ती में 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा।

12वीं पास को ₹6000, डिप्लोमा वाले को ₹8000, ग्रेजुएट को ₹10000: क्या है महाराष्ट्र की ‘लाडला भाई योजना’, कैसे और किनको मिलेगा फायदा?

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने 'लाडला भाई योजना' की घोषणा की है। इस लाडला भाई योजना में युवाओं को फैक्ट्रियों में अप्रेंटिसशिप मिलेगी और सरकार की तरफ से उन्हें वजीफा दिया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -