Tuesday, July 16, 2024
Homeरिपोर्टमीडियारिपब्लिक के पत्रकार के साथ धक्का-मुक्की कर चुकी है वामपंथियों को कोचिंग देने वाली...

रिपब्लिक के पत्रकार के साथ धक्का-मुक्की कर चुकी है वामपंथियों को कोचिंग देने वाली ‘इंडिया टुडे’ की तनुश्री

तनुश्री ने ख़ुद स्वीकार किया था कि उन्होंने बाकी पत्रकारों से लड़ाई की थी। तब तनुश्री ने पत्रकारों के साथ धक्का-मुक्की को जायज ठहराते हुए कहा था कि वो 'अपने लोगों द्वारा किए गए अन्याय' को बर्दाश्त नहीं कर सकतीं।

रविवार (जनवरी 12, 2020) को ऑपइंडिया ने ‘इंडिया टुडे’ के पत्रकार के वायरल वीडियो को लेकर एक ख़बर प्रकाशित की थी। उस वीडियो में देखा जा सकता है कि पत्रकार तनुश्री पांडेय जेएनयू के सर्वर रूम में वामपंथी छात्रों को सिखाती हुई दिख रही हैं कि उन्हें कैमरे के सामने क्या बोलना है? अपने फ़र्ज़ी स्टिंग ऑपरेशन को लेकर ‘इंडिया टुडे’ पहले से ही विवादों में है। चैनल वामपंथी छात्रों को पीड़ित व निर्दोष साबित करने के लिए पूरा जोर लगा रहा है। चैनल ने 5 दिसंबर को जेएनयू में हुई हिंसा में एबीवीपी के छात्रों को दोषी साबित करने के लिए दिन-रात एक कर दिया है।

अब सामने आया है कि ‘इंडिया टुडे’ की तनुश्री पांडेय जेएनयू छात्र संगठन की अध्यक्ष आईसी घोष के साथ मिल कर ‘रिपब्लिक टीवी’ के पत्रकार के साथ धक्का-मुक्की की थी। पत्रकार तनुश्री, वामपंथी छात्र नेता आईसी व अन्य वामपंथी छात्रों ने ‘रिपब्लिक टीवी’ के पत्रकार के साथ सिर्फ़ इसीलिए धक्का-मुक्की की थी क्योंकि उसने कुछ सवाल पूछे थे। ये घटना नवंबर 20, 2019 की है, जब जेएनयू में हॉस्टल फी बढ़ाने को लेकर हंगामा चल रहा था।

इस सम्बन्ध में ‘टीवी 9 भारतवर्ष’ ने एक ख़बर दिखाई थी। इस ख़बर के अनुसार, जेएनयू छात्र न सिर्फ़ मीडिया के सवालों से भड़क गए बल्कि ‘मीडिया बाहर जाओ’ के नारे भी लगाने लगे। तब तनुश्री ने इस ख़बर को नकार दिया था। उन्होंने जेएनयू का बचाव करते हुए लिखा था कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में ‘रिपब्लिक टीवी’ के पत्रकार और सुरेश चव्हाणके के गुंडों ने हंगामा किया था। उनका आशय ‘सुदर्शन टीवी’ के पत्रकारों से था। तनुश्री ने ख़ुद स्वीकार किया था कि उन्होंने बाकी पत्रकारों से लड़ाई की थी।

तनुश्री ने पत्रकारों के साथ धक्का-मुक्की को जायज ठहराते हुए कहा था कि वो ‘अपने लोगों द्वारा किए गए अन्याय’ को बर्दाश्त नहीं कर सकतीं। ‘टीवी 9 भारतवर्ष’ के वीडियो में देखा जा सकता है कि आईसी घोष के साथ तनुश्री पांडेय भी हैं। वामपंथी छात्र नेता सन्नी धीमन ने तनुश्री की तारीफ करते हुए कहा था कि वो ‘गोदी मीडिया’ से लोहा लेने के लिए मज़बूरी से खड़ी रहीं। उसने तो यहाँ तक दावा किया था कि तनुश्री ने रिपब्लिक टीवी, ज़ी न्यूज़ और सुदर्शन न्यूज़ के पत्रकारों के साथ ‘लोहा लिया।’

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -