Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाश्रीनगर में मार डाले गए 3 आतंकी: टॉप के 4 आतंकवादी संगठनों के चीफ...

श्रीनगर में मार डाले गए 3 आतंकी: टॉप के 4 आतंकवादी संगठनों के चीफ का सफाया, J&K इतिहास में पहली बार

लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन और गजवा-उल-हिंद के चारों चीफ कमांडर चार महीने के भीतर मार डाले गए। ऐसा जम्मू-कश्मीर के इतिहास में पहली बार हुआ है।

जम्मू और कश्मीर में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने आज (21 जून, 2020) तीन आंतकियों को मार गिराया है। तीनों आतंकी श्रीनगर के जदीबल इलाके में मारे गए हैं। श्रीनगर में पिछले कुछ समय में यह दूसरा इनकाउंटर है।

कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने बताया कि मारे गए आतंकियों में से एक आतंकी रमजान के दौरान 20 मई को पंडाच चौक के पास सीमा सुरक्षा में तैनात 2 बीएसएफ के जवानों पर किए गए हमले में शामिल था। इस हमले में दोनों जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे।

जानकारी के अनुसार शहर के जूनिमार और ज़दीबल के पोज़वालपुरा इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की खुफिया जानकारी के आधार पर सुरक्षाबलों ने आज सुबह इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू किया था।

अधिकारियों ने बताया कि पुलिस के बार-बार प्रयास के बाद भी आतंकवादियों के परिवार के सदस्य उन्हें आत्मसमर्पण के लिए मनाने में विफल रहे। और उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी। जिस पर जवाबी कार्रवाही करते हुए जवानों ने उन्हें मार गिराया।

न्यूज़ एजेंसी एएनआई को विजय कुमार ने बताया, “हमनें आतंकियों की पहचान पता चलने पर उनके परिजनों को बुलाया। और उनसे अपील कि की वे आतंकवादियों को आत्मसमर्पण के लिए कहें। मगर आतंकवादियों ने अपने परिजनों के कहने पर भी आत्मसमर्पण नहीं किया।”

उन्होंने आगे कहा, “तीनों आतंकियों में दो आतंकी 2019 से आतंकी गतिविधियों में शामिल थे। वहीं एक आंतकी सीमा पर तैनात दो बीएसएफ जवानों पर हुए हमले में शामिल था।”

आईजी विजय कुमार के अनुसार चार प्रमुख आतंकी संगठन – लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मद, हिजबुल मुजाहिदीन और गजवा-उल-हिंद के चारों चीफ कमांडर चार महीने के भीतर मार डाले गए। ऐसा जम्मू-कश्मीर के इतिहास में पहली बार हुआ है।

कल से शुरू हुए इस मुठभेड़ में सीआरपीएफ के तीन जवान भी घायल हुए हैं। अधिकारी ने बताया कि शहर में मोबाइल इंटरनेट सेवाएँ एहतियातन निलंबित कर दी गई हैं। उन्होंने बताया कि शहर के व्यावसायिक क्षेत्रों के अधिकतर हिस्सों में लोगों के आवागमन पर प्रतिबंध लगाया गया है।

बता दें कि इसी साल मई में श्रीनगर के नवाकदल इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में जवानों ने हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकी को मार गिराया था। जिसमें कश्मीर के अलगाववादी नेता का बेटा भी शामिल था। 19 मई को 12 घंटे सैनिकों और आतंकियों की इस मुठभेड़ में दर्जनों घर क्षतिग्रस्त हो गए थे। इलाके में भारी तबाही भी मची थी।

वहीं इससे पहले शुक्रवार (19 जून,2020) को कश्मीर के अवंतीपोरा और शोपियाँ जिले में सुरक्षा बलों ने मस्जिद में छुपे 2 आतंकियों के साथ-साथ कुल 8 आतंकियों को ढेर कर दिया था, जिसमें सेना के जवानों ने शोपियाँ जिले में पाँच और पांपोर जिले में तीन आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया था। ये सभी आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन से जुड़े हुए थे।

गौरतलब है कि पिछले दो हफ्ते के अंदर सुरक्षाबलों ने करीब दो दर्जन आतंकियों को जम्मू कश्मीर मेंं ढेर कर दिया है। अगर पूरे साल की बात की जाए तो अब तक 100 से अधिक आतंकी मारे गए हैं। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन लागू के समय में भी सुरक्षाबलों का आतंकियों पर कड़ा प्रहार जारी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -