Sunday, July 25, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षाचीनी सैनिकों को छठी का दूध याद दिलाने वाले 16 बिहार बटालियन को गैलेंट्री...

चीनी सैनिकों को छठी का दूध याद दिलाने वाले 16 बिहार बटालियन को गैलेंट्री अवॉर्ड, कर्नल संतोष बाबू थे कमांडिंग ऑफिसर

चीनी सेना को गलवान घाटी में मुँहतोड़ जवाब देने वाले 16 बिहार बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर, कर्नल संतोष बाबू समेत भारतीय सेना के 5 जवानों को गणतंत्र दिवस के मौके पर गैलेंट्री मेडल से सम्मानित किया जाएगा।

पिछले साल जून महीने में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी को पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में मुँहतोड़ जवाब देने वाले 16 बिहार बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर, कर्नल संतोष बाबू समेत भारतीय सेना के 5 जवानों को गणतंत्र दिवस के मौके पर गैलेंट्री मेडल से सम्मानित किया जाएगा।   

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़ रक्षा मंत्रालय और भारतीय सेना ने इस बारे में किसी भी तरह का खुलासा नहीं किया है कि मेडल्स की संख्या कितनी होगी। प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक़ कम से कम सेना के उन दो अधिकारियों और तीन जवानों को सम्मानित किया जाएगा, जिन्होंने चीनी सेना का सामना करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

जब भारत और चीन के बीच तय समझौते के मुताबिक़ चीन के सैनिकों ने पेट्रोलिंग पॉइंट 14 के नज़दीक स्थित क्षेत्र से हटने के लिए साफ़ मना कर दिया, तब वहाँ पर दोनों देशों की सेनाओं के बीच टकराव की स्थिति पैदा हुई। भारतीय सेना के जवानों ने चीनी सैनिकों की तमाम साज़िशों को नाकाम करने के लिए हर ज़रूरी कदम उठाया। 

चीनी सैनिक इस टकराव के लिए पूरी तैयारी के साथ आए थे। उनके पास लाठी-डंडे, रॉड, ड्रैगन पंच और कटीले तारों वाले कई हथियार मौजूद थे। गौरतलब है कि जून में LAC पर हुई हिंसा 1975 के बाद पहली ऐसी हिंसा थी, जिसमें सैनिकों ने जान गँवाई।

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हाथापाई और संघर्ष में भारत के 20 जवान वीरगति को प्राप्त हुए थे जबकि चीन के 43 से अधिक जवानों के हताहत होने की सूचना सामने आई थी। 

भारत-चीन विवाद के बीच उस दौरान (जुलाई 3, 2020) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह दौरे पर गए थे। उन्होंने वहाँ तैनात सैनिकों से मुलाकात की थी और सेना की तैयारियों का जायजा भी लिया था। इसके अलावा उन्होंने गलवान घाटी में चीनी सैनिकों को खदेड़ने वाले बहादुर सैनिकों से भी मुलाकात की थी। उन्होंने सेना के शौर्य की गाथा का बखान करते हुए हर सैनिक की हौसला अफजाही की। उन्होंने कहा था कि पूरे भारत को हमारे सैन्य बल पर गर्व है।

भारतीय सेना के जवानों ने गलवान घाटी में हुए टकराव के बीच असीम साहस और पराक्रम का परिचय दिया था। चीनी की सेना ने इस बात की आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की थी कि उनके कितने जवानों की जान गई थी। लेकिन भारतीय सेना और खुफ़िया एजेंसियों द्वारा किए गए दावों के मुताबिक़ चीनी कमांडिंग ऑफिसर समेत लगभग 60 से अधिक चीनी सैनिकों की जान गई थी।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान में भगवा ध्वज फाड़ने वाले कॉन्ग्रेस MLA को लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा: वायरल वीडियो का FactChek

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि लाठी-डंडा लिए भीड़ एक शख्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीट रही है।

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,067FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe