Tuesday, July 27, 2021
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षासोपोर में CRPF काफिले पर घात लगा आतंकवादियों ने किया हमला, तीन जवान वीरगति...

सोपोर में CRPF काफिले पर घात लगा आतंकवादियों ने किया हमला, तीन जवान वीरगति को प्राप्त

हमले के बाद आतंकी फरार हो गए। इसके बाद से ही सेना ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाया हुआ है। आशंका जताई जा रही है कि जंगलों में कई आतंकी छिपे हो सकते हैं।

एक तरफ पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। दूसरी ओर आतंकी अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। जम्मू-कश्मीर के सोपोर में घात लगाए आतंकवादियों ने CRPF के काफिले पर हमला किया। हमले में CRPF के तीन जवान वीरगति को प्राप्त हो गए। वहीं दो जवान गंभीर रूप से घायल हैं। पूरे इलाके में सेना सर्च अभियान चला रही है।

जानकारी के मुताबिक उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिला के सोपोर में पहले से घात लगाए बैठे आतंकवादियों ने अचानक से CRPF के काफिले पर हमला बोल दिया। हमले के बाद आतंकी फरार हो गए। इसके बाद से ही सेना ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाया हुआ है। आशंका जताई जा रही है कि जंगलों में कई आतंकी छिपे हो सकते हैं।

हमला सोपोर में नूराबाद इलाके में अहद बाबा क्रॉसिंग के पास हुआ था। इस दौरान CRPF और पुलिस का संयुक्त दल क्रॉसिंग पर ड्यूटी पर तैनात था। वीरगति को प्राप्त हुए जवानों की पहचान हेड कॉन्स्टेबल राजीव शर्मा, कॉन्स्टेबल खरड़े, कॉन्स्टेबल सतपाल के रूप में हुई है। घायलों में हेड कॉन्स्टेबल एमसी घोष व कॉन्स्टेबल जावेद शामिल है।

डीजीपी पुलिस दिलबाग सिंह ने हमले की पुष्टि करते हुए बताया कि ये सुरक्षाकर्मी रोजाना की तरह सोपोर कस्बे की मुख्य सड़क पर अपने वाहन के साथ ड्यूटी पर तैनात थे। आतंकवादियों को शायद इस बारे में पता था और उन्होंने पूरी योजना के साथ हमले को अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों की धर-पकड़ के लिए सर्च ऑपरेशन जारी है। सेना, CRPF और पुलिस के एसओजी के जवानों ने इलाके की घेराबंदी कर रखी है।

गौरतलब हो कि कोरोनावायरस संकट के बीच पिछले कुछ दिनों से जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियाँ बढ़ गई हैं। दूसरी ओर पाकिस्तान भी लगातार सीमा पार से सीज फायर का उल्लंघन कर रहा है। शुक्रवार को भी जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के नीवा इलाके में CRPF की टुकड़ी पर आतंकी हमला किया गया था। इस हमले में गोली लगने की वजह से एक जवान घायल हो गया था। हालाँकि इस बीच चली मुठभेड़ में चार आतंकवादियों को जवानों ने मार गिराया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाम: नूर मुहम्मद, काम: रोहिंग्या-बांग्लादेशी महिलाओं और बच्चों को बेचना; 36 घंटे चला UP पुलिस का ऑपरेशन, पकड़ा गया गिरोह

देश में रोहिंग्याओं को बसाने वाले अंतरराष्ट्रीय मानव तस्करी के गिरोह का उत्तर प्रदेश एटीएस ने भंडाफोड़ किया है। तीन लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है।

‘राजीव गाँधी थे PM, उत्तर-पूर्व में गिरी थी 41 लाशें’: मोदी सरकार पर तंज कसने के फेर में ‘इतिहासकार’ इरफ़ान हबीब भूले 1985

इतिहासकार व 'बुद्धिजीवी' इरफ़ान हबीब ने असम-मिजोरम विवाद के सहारे मोदी सरकार पर तंज कसा, जिसके बाद लोगों ने उन्हें सही इतिहास की याद दिलाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,464FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe