Monday, July 15, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा'खाली जगह घेर कर बना देते हैं मजार, फिर कहते हैं ये सदियों पुरानी...

‘खाली जगह घेर कर बना देते हैं मजार, फिर कहते हैं ये सदियों पुरानी है’: नेपाल सीमा के विधायक ने माना बॉर्डर क्षेत्र में जमीनों के अधिकतर ख़रीददार मुस्लिम – OpIndia Ground Report

विधायक कैलाशनाथ शुक्ला ने हमें बताया कि उनका जन्म उसी सीमावर्ती क्षेत्र में हुआ है और उनके बचपन में हिन्दू-मुस्लिम आबादी संतुलन में हुआ करती थी।

हाल में कई रिपोर्टें आई हैं जो बताती हैं कि नेपाल से लगी भारत की सीमा पर तेजी से डेमोग्राफी में बदलाव हो रहा है। मस्जिद-मदरसों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जमीनी हालात का जायजा लेने के लिए 20 से 27 अगस्त 2022 तक ऑपइंडिया की टीम ने भारत और नेपाल के अलग-अलग इलाकों का दौरा किया। हमने जो कुछ देखा, वह सिलसिलेवार तरीके से आपको बता रहे हैं। पेश है इस कड़ी की 22वीं रिपोर्ट:

ऑपइंडिया की टीम ने नेपाल सीमा से सटे भारत के बलरामपुर जिले की तुलसीपुर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक कैलाशनाथ शुक्ला से मुलाकात की। हमसे बातचीत के दौरान भाजपा विधायक ने भी यह स्वीकार किया कि नेपाल सीमा पर न सिर्फ मुस्लिम आबादी बढ़ रही है बल्कि उनकी इबादतगाहों में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। भाजपा विधायक ने बेबाकी से इस मामले में अपने द्वारा भी पर्याप्त ध्यान न दिया जाना स्वीकार करते हुए इस मामले को शासन और प्रशासन के आगे उठाने का एलान किया।

यह रिपोर्ट एक सीरीज के तौर पर है। इस पूरी सीरीज को एक साथ पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हाँ, बॉर्डर इलाकों में बढ़ी है मुस्लिम आबादी

विधायक कैलाशनाथ शुक्ला ने मीडिया में चल रही उन खबरों पर मुहर लगाई है, जिसमें भारत नेपाल सीमा पर एकतरफा मुस्लिम आबादी बढ़ना बताया गया है। उन्होंने कहा कि जंगली और पहाड़ी इलाके होने के चलते बॉर्डर पर हो रही गतिविधियों पर लगातार नजर रखना शासन और प्रशासन के लिए चुनौतीपूर्ण होता है। विधायक ने ये भी कहा कि देशविरोधी ताकतें नेपाल के रास्ते से एक वर्ग विशेष को मजबूत कर रहीं हैं और ये चिंता का विषय है।

सीमावर्ती क्षेत्रों में बढ़ी हैं इस्लामी इबादतगाहें, जमीन बेचने वाले अधिकतर हिन्दू और खरीदने वाले ज्यादातर मुस्लिम

हमसे बात करते हुए भाजपा विधायक शुक्ला ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्रों में सिर्फ एकतरफा आबादी ही नहीं, बल्कि उसके साथ इबादतगाहें भी बढ़ी हैं। उन्होंने कहा कि इस बदलाव के फलस्वरूप भारत और नेपाल की सीमा पर तस्करी जैसे अपराधों में भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। विधायक ने स्वीकार किया कि उनकी खुद की विधानसभा में इबादतगाहों की संख्या सामान्य से अधिक हो चुकी है।

एक सवाल के जवाब में विधायक कैलाशनाथ शुक्ला ने कहा कि ये सत्य है कि बॉर्डर इलाके के तुलसीपुर क्षेत्र में अपनी जमीनें बेचने वाले अधिकतर लोग हिन्दू हैं और उसे खरीदने वाले मुस्लिम समुदाय के। विधायक के मुताबिक इसके पीछे कई कारण हैं जिसमें मुख्य वजह आर्थिक कारण है। विधायक ने इसकी दूसरी वजह बताते हुए कहा कि मुस्लिम बहुल इलाकों में हिन्दुओं पर बड़ा दबाव बनाया जाता है और उस दबाव से टूट कर वो उस जगह को छोड़ देते हैं।

भाजपा विधायक ने इसे पलायन का नाम दिया और बताया कि एक वर्ग विशेष के लोग ऐसे पलायन कर रहे हिन्दुओं की जमीनें खरीद कर न सिर्फ अमीर बन रहे हैं, बल्कि कई अन्य गतिविधियों को भी संचालित कर रहे हैं।

वर्ग विशेष ने यहाँ आबादी के संतुलन को ध्वस्त किया

विधायक कैलाशनाथ शुक्ला ने हमें बताया कि उनका जन्म उसी सीमावर्ती क्षेत्र में हुआ है और उनके बचपन में हिन्दू-मुस्लिम आबादी संतुलन में हुआ करती थी। उन्होंने बताया कि एक वर्ग विशेष की जनसंख्या तेजी से बढ़ी है और अब नेपाल के सीमावर्ती क्षेत्रों में पुराना संतुलन ध्वस्त हो चुका है। विधायक के मुताबिक अब सीमा के इलाकों में लव जिहाद और धर्मांतरण जैसी घटनाएँ सामने आने लगी हैं।

प्रशासन भी इन हालातों का जिम्मेदार

सबसे पहले अपने खुद की भी अनदेखी और गलती मानते हुए भाजपा विधायक ने स्थानीय प्रशासन को भी नेपाल सीमा पर बने वर्तमान हालातों के लिए जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि अगर प्रशासनिक लोग चौकन्ने होते या उन्होंने अपनी जिम्मेदारी का सही से निर्वहन किया होता तो आज भारत-नेपाल सीमा पर ऐसे हालत न बने होते। भाजपा MLA ने कहा कि वो इस बाबत जिले के और प्रदेश के अधिकारियों से बात करेंगे और फिलहाल बन रहे हालातों के समाधान के बारे में अधिकतम प्रयास करेंगे।

हर नई बनी इबादतगाह को घोषित कर दिया जाता है पुराना, पहले जैसा भाईचारा और सौहार्द अब इलाके में नहीं

कैलाशनाथ शुक्ला ने कहा कि सीमाओं पर पहले तो पता ही नहीं चल पाता और जब नई मस्जिद या मदरसा बन कर तैयार हो जाता है तो उसे बहुत पुराना घोषित किया जाने लगता है। उन्होंने कहा कि अब वो जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से बात कर के इसकी मॉनिटरिंग भी करवाएँगे और ‘चेक एन्ड बैलेंस’ के भाव से काम करवाएँगे।

विधायक कैलाशनाथ शुक्ला ने कहा कि उनके बचपन में जो भाईचारा और सौहार्द समाज में हुआ करता था वो अब नहीं दिखाई देता है। विधायक के अनुसार, पहले हिन्दू भी मुस्लिमों के त्यौहार में चंदा देते थे और इस दिन मुस्लिम से ज्यादा हिन्दू ख़ुशी मनाते थे। कैलाशनाथ ने कहा कि अब एक वर्ग विशेष में संवेदनहीतना आ चुकी है और सामाजिक सौहार्द बिगड़ने का प्रयास उसी वर्ग विशेष द्वारा किया जा रहा है।

पूरी प्लानिंग से बनाई जाती हैं मज़ारें, नेपाल से जुडी हर हरकत का प्रभाव भारत में पड़ेगा

भाजपा विधायक ने बताया कि मजारों को बनाने के लिए पूरी प्लानिंग की जाती है। उन्होंने कहा कि पहले खाली पड़ी जमीन देखी जाती और बाद में उसको घेर कर वहाँ अगरबत्ती आदि जलाना शुरू कर दिया जाता है। भाजपा MLA ने आगे बताया कि बाद में उस जगह अवैधानिक जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है।

भाजपा विधायक कैलाशनाथ ने सीमा के उस पार नेपाल में बढ़ रही भारत विरोधी गतिविधियों पर चिंता जताई। उन्होंने बताया कि नेपाल में जो कुछ भी होगा। उसका असर भारत में जरूर पड़ेगा। विधायक शुक्ला के मुताबिक, नेपाल की भारत से लगती खुली सीमा को पाकिस्तानियों और बांग्लादेशियों के द्वारा दुरुपयोग की भी संभावना बनी रहती है।

पढ़ें पहली रिपोर्ट : कभी था हिंदू बहुल गाँव, अब स्वस्तिक चिह्न वाले घर पर 786 का निशान: भारत के उस पार भी डेमोग्राफी चेंज, नेपाल में घुसते ही मस्जिद, मदरसा और इस्लाम – OpIndia Ground Report

पढ़ें दूसरी रिपोर्ट : घरों पर चाँद-तारे वाले हरे झंडे, मस्जिद-मदरसे, कारोबार में भी दखल: मुस्लिम आबादी बढ़ने के साथ ही नेपाल में कपिलवस्तु के ‘कृष्णा नगर’ पर गाढ़ा हुआ इस्लामी रंग – OpIndia Ground Report

पढ़ें तीसरी रिपोर्ट : नेपाल में लव जिहाद: बढ़ती मुस्लिम आबादी और नेपाली लड़कियों से निकाह के खेल में ‘दिल्ली कनेक्शन’, तस्कर-गिरोह भारतीय सीमा पर खतरा – OpIndia Ground Report

पढ़ें चौथी रिपोर्ट : बौद्ध आस्था के केंद्र हों या तालाब… हर जगह मजार: श्रावस्ती में घरों की छत पर लहरा रहे इस्लामी झंडे, OpIndia Ground Report

पढ़ें पाँचवीं रिपोर्ट : महाराणा प्रताप के साथ लड़ी थारू जनजाति बहुल गाँव में 3 मस्जिद, 1 मदरसा: भारत-नेपाल सीमा पर बढ़ती मुस्लिम आबादी का ये है ‘पैटर्न’ – OpIndia Ground Report

पढ़ें छठी रिपोर्ट : बौद्ध-जैन मंदिरों के बीच दरगाह बनाई, जिस मजार को पुलिस ने किया ध्वस्त… वो फिर चकमकाई: नेपाल सीमा पर बढ़ती मुस्लिम आबादी – OpIndia Ground Report

पढ़ें सातवीं रिपोर्ट : हनुमान गढ़ी की जमीन पर कब्जा, झारखंडी मंदिर सरोवर में ताजिया: नेपाल सीमा पर बढ़ती मुस्लिम आबादी, असर UP के बलरामपुर में – OpIndia Ground Report

पढ़ें आठवीं रिपोर्ट : पुरातत्व विभाग से संरक्षित जो जगह, वहाँ वक्फ की दरगाह-मजार: नेपाल सीमा पर बढ़ती मुस्लिम आबादी, मुसीबत में बौद्ध धर्मस्थल – OpIndia Ground Report

पढ़ें नौवीं रिपोर्ट : 2 मीनारों वाली मस्जिदें लोकल, 1 मीनार वाली अरबी पैसे से… लगभग हर गाँव में मदरसे: नेपाल बॉर्डर के मौलाना ने बताया इसमें कमीशन का खेल – OpIndia Ground Report

पढ़ें दसवीं रिपोर्ट : SSB बेस कैंप हो या सड़क, गाँव हो या खेत-सुनसान… हर जगह मस्जिद-मदरसे-मजार: UP के बलरामपुर से नेपाल के जरवा बॉर्डर तक OpIndia Ground Report

पढ़ें 11वीं रिपोर्ट : हिंदू बच्चों का खतना, मंदिर में शादी के बाद लव जिहाद और आबादी असंतुलन के साथ बढ़ते पॉक्सो मामले: नेपाल बॉर्डर पर बलरामपुर जिले में OpIndia Ground Report

पढ़ें 12वीं रिपोर्ट : गाँवों में अरबी-उर्दू लिखे हुए नल, UAE के नाम की मुहर: ज्यादा दाम देकर जमीनें खरीद रहे नेपाली मुस्लिम – OpIndia Ground Report

पढ़ें 13वीं रिपोर्ट : नए बने ओवरब्रिज के नीचे मज़ार-कर्बला, सड़क किनारे मस्जिद-मदरसे-दरगाह: नेपाल के बढ़नी बॉर्डर हाइवे पर ‘हरा रंग’ हावी – OpIndia Ground Report

पढ़ें 14वीं रिपोर्ट : 4 और 14 वाली नीति से एकतरफा बढ़ रही आबादी… उस गाँव में मस्जिद बनाने की कोशिश, जहाँ नहीं एक भी मुस्लिम’ : UP-नेपाल बॉर्डर से OpIndia Ground Report

पढ़ें 15वीं रिपोर्ट: फ़ारसी में ‘गरीब नवाज स्कूल’ का बोर्ड, उस पर बने चाँद-तारे… घरों-दुकानों में लहरा रहे इस्लामी झंडे, सड़क से सटी हुई मजारें: UP-नेपाल बॉर्डर से OpIndia Ground Report

पढ़ें 16वीं रिपोर्ट: ’10 km में 20 गाँव मुस्लिम बहुल, हिन्दू दब कर मनाते हैं अपने त्योहार’: नेपाल सीमा के ग्राम प्रधान ने बताया – गरीब दिखने वाले मुस्लिमों के पास भी बहुत पैसे: UP-नेपाल बॉर्डर से OpIndia Ground Report

पढ़ें 17वीं रिपोर्ट: 150 मदरसे, 200 मस्जिदें… नेपाल सीमा से 15 km के दायरे का हाल, जानिए बॉर्डर के उन गाँवों की स्थिति जो बन गए हैं मुस्लिम बहुल: UP-नेपाल बॉर्डर से OpIndia Ground Report

पढ़ें 18वीं रिपोर्ट: ‘संयुक्त अरब अमीरात एसोसिएशन’ के नल से UP-नेपाल बॉर्डर पर पानी, सिद्धार्थनगर का मुस्लिम बहुल बाजार डुमरियागंज है सप्लायर: OpIndia Ground Report

पढ़ें 19वीं रिपोर्ट: ‘नेपाल से अपराधी को पकड़ कर लाना Pak से लाने के बराबर’: सीमा पर तैनात रहे DSP ने बताया – नेपाल पुलिस नहीं दिखाती हमारे जैसी सक्रियता – OpIndia Ground Report

पढ़ें 20वीं रिपोर्ट: रामजन्मभूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष का मंदिर लैंड जिहाद का शिकार: बॉर्डर UP-नेपाल का… लेकिन जमीन कब्जा के लिए फिलिस्तीनी मॉडल – OpIndia Ground Report

पढ़ें 21वीं रिपोर्ट: ‘मस्जिद-मदरसे-मजार हैं ठिकाने, बाहरी लोगों से भरे पड़े’ : भारत-नेपाल बॉर्डर के 5 Km दोनों तरफ साजिश की पट्टी – OpIndia Ground Report

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

98 दिन ASI ने किया सर्वे, 2000 पन्नों की रिपोर्ट हाई कोर्ट में पेश: भोजशाला में ब्रम्हा-गणेश-नरसिंह-भैरव सबकी प्रतिमाएँ मिलीं, हिन्दू पक्ष ने कहा-...

मध्य प्रदेश के धार जिले में स्थित भोजशाला में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) की सर्वे रिपोर्ट को मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में जमा कर दिया गया है।

मात्र 2 किलोग्राम ही घटा अरविंद केजरीवाल का वजन, AAP कह रही – कोमा में चले जाएँगे, ब्रेन स्ट्रोक हो जाएगा: जेल प्रशासन ने...

10 मई को जब उन्हें जमानत पर रिहा किया गया, तब उनका वजन 64 किलो था। यानी, 1 महीने 10 दिन में अरविंद केजरीवाल का वजन मात्र 1 किलोग्राम घटा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -