Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टराष्ट्रीय सुरक्षा20 अगस्त से गायब हैं अरुणाचल के 2 युवक, आशंका - चीनी फ़ौज ने...

20 अगस्त से गायब हैं अरुणाचल के 2 युवक, आशंका – चीनी फ़ौज ने कर लिया अपहरण: परिजनों ने मोदी सरकार से लगाई गुहार, जड़ी-बूटी लेने गए थे

अरुणाचल का अंजॉ क्षेत्र भारत-चीन सीमा से जुड़ा हुआ है। इस मामले पर भाजपा विधायक दासंगलू का कहना है कि दोनों युवक 20 अगस्त से लापता हैं।

अरुणाचल प्रदेश के अंजॉ (Anjaw) जिले से पिछले ढाई महीने दो युवक लापता हैं। लापता युवकों का नाम बेतेलम टिकरो (33) और और बेइंग्सो मन्यु (31) बताया जा रहा है। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर लिया है। लापता युवकों में से एक के बड़े भाई ने समाचार एजेंसी एएनआई से बताया, “हमें संदेह है कि उन्होंने भारतीय सीमा पार की और चीन ने उनका अपहरण कर लिया। हम केंद्र सरकार से उन्हें ढूँढने में मदद करने की अपील करते हैं।”

दरअसल, अरुणाचल का अंजॉ क्षेत्र भारत-चीन सीमा से जुड़ा हुआ है। इस मामले पर भाजपा विधायक दासंगलू का कहना है कि दोनों युवक 20 अगस्त से लापता हैं। वो स्थानीय जंगल से वे जड़ी-बूटियाँ लेने गए थे। इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। उन्होंने आगे कहा, “हमने इस मामले में पूर्वी अरुणाचल प्रदेश के सांसद तापिर गाओ, सीएम, डिप्टी सीएम और केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से बात की है। प्रशासन और सेना द्वारा बचाव अभियान चलाया जा रहा है।”

इससे पहले इस साल अगस्त में अंजॉ जिले के पुलिस अधीक्षक (एसपी) राईके कामसी ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया था कि दोनों युवक भारत-चीन बॉर्डर से जुड़े अंजॉ जिले के चगलगाम से 19 अगस्त को निकले थे। उनके परिवार के सदस्यों ने 9 अक्टूबर, 2022 को पुलिस थाने में उनकी गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी। कामसी ने कहा, “हमने सेना से संपर्क किया है। उन्हें ढूँढ निकालने के लिए हमारा बचाव अभियान जारी है।”

गौरलतब है कि इस साल जनवरी में चीनी सेना ने अरुणाचल प्रदेश के एक 17 वर्षीय किशोर को अगवा कर लिया था। बीजेपी सांसद तापिर गाओ (Tapir Gao) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी। अगवा किए गए किशोर की पहचान मीरम तरोन (Miram Taron) के रूप में की गई थी। वह जीडो गाँव का रहने वाला बताया गया था।

सांसद ने बताया था कि तरोन को उसके दोस्त जॉनी यइयिंग (Johny Yaiying) के साथ चीन की सेना ने अगवा कर लिया था। लेकिन वह किसी तरह चीनी सेना के कब्जे से भागने में सफल रहा। इसके बाद तरोन के अपहरण की बात सामने आई थी। सांसद ने तरोन की फोटो भी शेयर की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

‘आपातकाल तो उत्तर भारत का मुद्दा है, दक्षिण में तो इंदिरा गाँधी जीत गई थीं’: राजदीप सरदेसाई ने ‘संविधान की हत्या’ को ठहराया जायज

सरदेसाई ने कहा कि आपातकाल के काले दौर में पूरे देश पर अत्याचार करने के बाद भी कॉन्ग्रेस चुनावों में विजयी हुई, जिसका मतलब है कि लोग आगे बढ़ चुके हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -