Sunday, June 16, 2024
Homeविविध विषयअन्य'अंपायर ने धोखा दिया, BCCI वाले चला रहे हैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट': हार से तिलमिलाए...

‘अंपायर ने धोखा दिया, BCCI वाले चला रहे हैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट’: हार से तिलमिलाए Pak फैंस ने भारत पर लगाया ‘रनों की डकैती’ का आरोप, कहा – हमें लूट लिया

टीम इंडिया के हाथों पाकिस्तान को मिली करारी शिकस्त के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट फैंस सोशल मीडिया पर नो बॉल को चीटिंग बताते हुए आँसू बहाते दिख रहे हैं।

रविवार (23 अक्टूबर, 2022) को टी20 विश्वकप में भारत और पाकिस्तान के बीच हुए मैच भारत ने पाकिस्तान को 4 विकेट से करारी शिकस्त दी है। एक समय टीम इंडिया मुश्किल में फँस चुकी थी और मैच बेहद रोमांचक हो गया था। हालाँकि, आखिरी ओवर में पाकिस्तानी गेंदबाज मोहम्मद नवाज ने नो बॉल फेंक दी, जो मैच का सबसे बड़ा टर्निंग पॉइंट रहा। मोहम्मद नवाज की गेंद को अंपायर द्वारा नो बॉल करार देने पर पाकिस्तान के क्रिकेट प्रेमी सोशल मीडिया पर आँसू बहा रहे हैं।

ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में हुए इस मैच में टीम इंडिया के जीत के हीरो रहे विराट कोहली और हार्दिक पांड्या 20वें ओवर में बल्लेबाजी कर रहे थे। इस ओवर में टीम इंडिया को जीत के लिए 16 रनों की जरूरत थी। गेंद पाकिस्तान के मोहम्मद नवाज के हाथों में थी। उन्होंने पहली ही गेंद पर हार्दिक पांड्या को बाबर आजम के हाथों कैच कराकर मैच में पाकिस्तान की पकड़ मजबूत कर दी थी।

इसके बाद, बल्लेबाजी करने आए दिनेश कार्तिक ने एक रन लेकर विराट कोहली को स्ट्राइक दे दी। इसके बाद कोहली ने तीसरी गेंद पर 2 रन लिए और फिर मोहम्मद नवाज ने अगली गेंद विराट कोहली की कमर से काफी ऊपर फेंक दी जिस पर कोहली ने छक्का जड़ते हुए टीम इंडिया की वापसी करा दी। यह गेंद कमर से काफी ऊपर थी, जिसका मतलब साफ था कि यह नो बॉल है।

चूँकि, ऐसी स्थिति में गेंद को नो बॉल करार देने की जवाबदेही लेग अंपायर की होती है। लेकिन, उन्होंने इसे नो बॉल नहीं दिया। ऐसे में, मेन अंपायर ने गेंद नो बॉल करार दी। इसके बाद पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम समेत कई प्लेयर अंपायर से आकर बहस करने लगे। हालाँकि, इसके बाद भी अंपायर ने अपना फैसला नहीं बदला और गेंद नो बॉल ही रही। यह नो बॉल ही मैच का बड़ा टर्निंग प्वाइंट रही।

टीम इंडिया के हाथों पाकिस्तान को मिली करारी शिकस्त के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट फैंस सोशल मीडिया पर नो बॉल को चीटिंग बताते हुए आँसू बहाते दिख रहे हैं। इसके कारण ट्विटर पर ‘नो बॉल’ और ‘चीटिंग’ ट्रेंड कर रहा है। इसको लेकर ट्विटर यूजर @teepusahab ने ट्वीट कर कहा “वह नो बॉल नहीं थी। कोहली के बोल्ड होने के बाद के उन 3 रन की गिनती नहीं की जानी चाहिए। हमें लूटा गया है।”

@ikarachiwala नामक ट्विटर यूजर ने लिखा “विराट कोहली क्रीज से बाहर थे और गेंद उनकी कमर की ऊँचाई पर थी, गेंदबाज भी स्पिनर था, इसलिए गेंद को कमर की ऊँचाई के नीचे होना था। यह एक गलत नो बॉल थी और अगली ही गेंद पर विराट क्लीन बोल्ड हो गए। अगर फ्री हिट के कारण वह नॉट आउट हो जाते हैं, तो एक डॉट बॉल होनी चाहिए।”

@Gotoxytop1 नामक यूजर ने टीम इंडिया की जीत के बाद विराट कोहली के बयान “मेरे पास कोई शब्द नहीं है” को कोट करते हुए लिखा “एक फ्री नो बॉल और एक बॉल के 3 अतिरिक्त रन मिलने के बाद वास्तव में आपके पास शब्द नहीं होंगे। क्योंकि आपके पिता बीसीसीआई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट चलाते हैं और जब चाहें डकैती कर सकते हैं।”

एक ने ट्विटर यूजर ने लिखा “नवाज और पक्षपाती ‘अंपायर’, पाकिस्तान के लिए कभी अच्छे साबित नहीं हुए। वह नो बॉल नहीं थी।”

@Naya_Pakistan नामक ट्विटर यूजर ने अंपायर्स को दोषी ठहराते हुए लिखा, “अंपायर के धोखे से पाकिस्तान यह मैच हार गया। नो बॉल नहीं थी।”

वहीं, इस पर भाजपा नेता शहजाद पूनावाला ने नो बॉल पर रोने वालों पर व्यंग्य करते हुए ट्वीट किया, “भारत-पाकिस्तान मैच में “नो बॉल” के फैसले के बारे में रोने वाले कुछ लोग बिल्कुल चुनाव हारने के बाद ईवीएम के बारे में रोने वालों की तरह लगते हैं।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -