Wednesday, July 28, 2021
Homeसंपादक की पसंद'हमारी माँगटीका में चमक रही हैं स्वरा भास्कर': यूजर्स बोले- आम्रपाली ज्वेलर्स से अब...

‘हमारी माँगटीका में चमक रही हैं स्वरा भास्कर’: यूजर्स बोले- आम्रपाली ज्वेलर्स से अब कभी कुछ नहीं खरीदेंगे

आम्रपाली ज्वेलर्स के मालिक कॉन्ग्रेस नेता राजीव अरोड़ा हैं। जुलाई 2020 के दौरान आयकर विभाग के अधिकारियों ने आम्रपाली ज्वेलर्स के विभिन्न ठिकानों पर कर चोरी को लेकर छापे मारे थे। इस छापेमारी के दौरान लगभग 12 करोड़ नगद और 1.5 करोड़ के आभूषण जब्त किए गए थे।

घनघोर वामपंथन और लिबरल ब्रिगेड की अहम सदस्य स्वरा भास्कर को ब्रांड एम्बेसडर बनाने के बाद राजस्थान के ‘आम्रपाली ज्वेलर्स’ को सोशल मीडिया पर कड़ा विरोध झेलना पड़ा है।  

आम्रपाली ज्वेलर्स के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से 27 नवंबर 2020 को स्वरा भास्कर की एक तस्वीर साझा की गई, जिसमें उन्होंने आभूषण पहने हुए थे। इस ट्वीट में लिखा हुआ था, “प्रेम, प्रकाश और ख़ुशी के साथ त्योहार का उत्सव मनाते हुए स्वरा भास्कर हमारी चाँदबालियों, चूड़ियों और माँगटीका में चमक रही हैं।” 

स्वरा भास्कर को बतौर ब्रांड एम्बेसडर पेश करने के बाद आम्रपाली के अनेक ग्राहकों ने काफी रोष जताया। उन्होंने एक विवादित और एजेंडापरस्त चेहरे को ब्रांड एम्बेसडर बनाने के लिए आम्रपाली ज्वेलर्स का ट्विटर पर जम कर विरोध किया। स्वरा भास्कर को अपने साथ जोड़ने पर ट्विटर यूज़र्स ने ज्वेलरी ब्रांड का बहिष्कार करने की माँग भी उठाई। 

सोशल मीडिया यूज़र्स ने उठाई बहिष्कार की माँग

एक आक्रोशित ट्विटर यूज़र ने कहा कि उसने अपनी पत्नी के लिए लाखों रुपए के कुल 6 उत्पाद आम्रपाली ज्वेलर्स से खरीदे थे, लेकिन अब वह कुछ नहीं खरीदेगा। यूज़र ने यह भी कहा कि वह आम्रपाली ज्वेलर्स को ट्विटर और व्हाट्सएप दोनों जगह से ब्लॉक करेगा। 

एक ट्विटर यूज़र ने कहा कि उसे इस ब्रांड के बारे में कोई जानकारी नहीं थी, लेकिन स्वरा भास्कर के जुड़ने के बाद वह इस ब्रांड से कोई खरीददारी नहीं करेगी। इसके अलावा वह अपने फॉलोअर्स को भी यही सुझाव देगी। 

एक ट्विटर यूज़र्स ने दिल्ली दंगों का ज़िक्र करते हुए कहा कि स्वरा भास्कर ने दिल्ली दंगे भड़काने में भूमिका निभाई थी, इसलिए आम्रपाली ज्वेलर्स का बहिष्कार करना होगा। 

एक सोशल मीडिया यूज़र स्वरा भास्कर के ब्रांड एम्बेसडर बनने से इतना आक्रोशित हुआ कि उसने कहा, “मैं या सुनिश्चित करूँगा कि मेरे परिवार का कोई भी सदस्य इस ब्रांड का कोई भी उत्पाद नहीं खरीदे।”

एक यूज़र ने लिखा, “सभी धूर्त एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं।” इसके साथ उसने एक स्क्रीनशॉट साझा किया जिसमें आम्रपाली ज्वेलर्स पर आयकर विभाग के छापे की जानकारी दी गई थी। 

मज़े की बात है कि आम्रपाली ज्वेलर्स के मालिक कॉन्ग्रेस नेता राजीव अरोड़ा हैं। जुलाई 2020 के दौरान आयकर विभाग के अधिकारियों ने आम्रपाली ज्वेलर्स के विभिन्न ठिकानों पर कर चोरी को लेकर छापे मारे थे। इस छापेमारी के दौरान लगभग 12 करोड़ नगद और 1.5 करोड़ के आभूषण जब्त किए गए थे। अधिकारियों का आरोप था था कि चाँदी के आभूषणों के बड़े हिस्से का व्यापार रेगुलर एकाउंट बुक से हट कर होता है। 

स्वरा भास्कर की पुरानी हरकतों के चलते आया सोशल मीडिया यूज़र्स को गुस्सा

पिछले कुछ समय में तमाम ऐसे मुद्दे सामने आए हैं जिन पर स्वरा भास्कर का मत बेहद विवादित रहा है। ‘देवी स्थान’ में बलात्कार की घटना का आरोप लगाए जाने के बाद प्लेकार्ड लेकर सलेक्टिव विरोध दर्ज कराने के चलते स्वरा भास्कर को ‘एंटी हिन्दू’ घोषित किया जा चुका है। स्वरा भास्कर की इस हरकत के बाद काफी विवाद भी खड़ा हुआ था कि कुछ लोगों द्वारा किए गए अपराध की वजह से उन्होंने पूरे धर्म को नीचा दिखाना शुरू कर दिया। इस दौरान यह आरोप लगा था कि जब अन्य धार्मिक और पूजा स्थलों पर ऐसी घटनाएँ हुई थीं तब स्वरा भास्कर का मत ऐसा नहीं था। 

इसके अलावा स्वरा भास्कर 2020 के फरवरी महीने के दौरान राजधानी दिल्ली में हुए भयावह दंगों के मुख्य आरोपितों के साथ खड़ी नज़र आई थीं। स्वरा भास्कर ने दिल्ली दंगों के मास्टरमाइंड उमर खालिद की रिहाई के लिए पूरे जोर शोर से अभियान चलाया था जो दिल्ली पुलिस द्वारा दायर की गई चार्जशीट के मुताबिक़ देशद्रोह का आरोपित है।    

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

बकरीद की ढील का दिखने लगा असर? केरल में 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 22129 केस, 156 मौतें भी

पूरे देश भर में रिपोर्ट हुए कोविड केसों में 53 % मामले अकेले केरल से आए हैं। भारत में कुल मामले जहाँ 42, 917 रिपोर्ट हुए। वहीं राज्य में 1 दिन में 22129 केस आए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,634FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe