Saturday, May 15, 2021

विषय

लिबरल गिरोह

राजदीप पर कार्रवाई से अत्यंत कष्ट में लिब्रांडू समुदाय, कहा- अपने सभी एंकरों पर एक्शन लोगे तो बहुत पैसा बचेगा

"इंडिया टुडे/आजतक फ्री में अपना चैनल चला सकते हैं अगर गलत समाचार और झूठी खबरों पर इसी तरह सैलरी काट लें। मुफ्त में मौज ही मौज।"

कैपिटल हिल के लिए छाती पीटने वाले दिल्ली के ‘दंगाइयों’ के लिए पीट रहे ताली: ट्रम्प की आलोचना करने वाले करेंगे राहुल-प्रियंका की निंदा?

कैपिटल हिल वाले अगर दंगाई थे तो दिल्ली के उपद्रवी संत कैसे हुए? ट्रम्प की आलोचना हो रही थी तो राहुल-प्रियंका की निंदा क्यों नहीं? ये दोहरा रवैया अपनाने वाले आज भी फेक न्यूज़ फैलाने में लगे हैं।

अशोका यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर ने भगवान राम का उड़ाया मजाक, राष्ट्रपति को कर रहा था ट्रोल

अशोका यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर नीलांजन सरकार ने अपना दावा झूठा निकलने पर भगवान राम का उपहास किया।

घोटालेबाज लालू के लिए लिबरल गैंग का रूदन चालू, पेड ट्वीट्स की बाढ़: सैकड़ों चंदा बाबू जैसे पीड़ितों का दोषी ‘मसीहा’ कैसे?

अब सजायाफ्ता लालू यादव के बीमार होने पर उसे 'सामाजिक न्याय' का मसीहा बताने वाले फिर से सामने आ गए हैं। ट्वीट पर ट्वीट किए जा रहे हैं।

इस्लामी कट्टरता की बात करने पर लिबरपंथियों ने वीर सांघवी की कर दी डिजिटल लिंचिंग

हिंदुओं से घृणा का स्तर कितना अधिक व्यापक है कि यदि भाजपा की तुलना अयातुल्ला खुमैनी से भी हो जाए तो नाराजगी दिखने लगती है। मानो जैसे बेचारे अयातुल्ला ने ऐसा भी क्या कर दिया कि उसकी तुलना 'फासीवादी' भाजपा से की जाए।

वामपंथियों का जीना दुश्वार करके रहूँगी, अकाउंट ‘बैन’ करवा के धमकी देने की कोशिश मत करो: कंगना रनौत की चुनौती

कंगना का कहना है कि उनकी वर्चुअल पहचान कभी भी देश के लिए शहीद हो जाएगी लेकिन उनकी देशभक्ति हमेशा फिल्मों के जरिए नजर आती रहेगी।

फहद अहमद अब बना ‘किसान नेता’, पहले था CAA विरोधी छात्र नेता: स्वरा-मंडली संग करता है काम, AMU में मिली थी ‘ट्रेनिंग’

मुंबई के TISS में Ph.D कर रहा एक छात्र नेता है फहद अहमद, जो CAA विरोधी प्रदर्शनकारी हुआ करता था, अब वो 'किसान नेता' बन गया है।

WhatsApp की प्राइवेसी पॉलिसी में अडानी-अम्बानी कनेक्शन ना ढूँढ पाने पर अवसाद में गया वोक लिबरल

WhatsApp ने गोपनीयता नीतियों में कुछ बदलाव किए हैं। दुर्भाग्य से, इस बदलाव के बावजूद वोक लिबरल की जिन्दगी में कोई खास बदलाव नहीं आया।

कैपिटल हिल में हिंसा के दौरान एक हिन्दू लहरा रहा था भगवा झंडा? लिबरल गिरोह के दावे का फैक्टचेक

वाशिंगटन डीसी में भगवा झंडा लिए हुए इस व्यक्ति की तस्वीर 5 अगस्त 2020 की है, यानी अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि के भूमि पूजन के ठीक बाद की तस्वीर।

राजदीप गिरोह का वैचारिक दोगलापन: संसद हमले को ‘महान दिन’ कहने वाले कैपिटल हिल हंगामे से हलकान

जब ऐसे दो चेहरे वाले लोग यूएस की संसद के बाहर हुए हंगामे पर सदमे में जाने का नाटक करते हैं, तो यह सिर्फ़ उनके पाखंडी चेहरे की हकीकत दिखाता है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,355FansLike
93,959FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe