Sunday, July 21, 2024
Homeव्हाट दी फ*गर्लफ्रेंड को चुम्मा लेने में मदहोश था युवक, अचानक हो गया बहरा! चीनी वैलेंटाइन...

गर्लफ्रेंड को चुम्मा लेने में मदहोश था युवक, अचानक हो गया बहरा! चीनी वैलेंटाइन डे पर वाकया, डॉक्टरों ने बताया – किस करने से फट सकते हैं कान के पर्दे

इस मामले में डॉक्टर्स का कहना है कि उत्तेजनापूर्ण चुंबन (Passionate Kiss) से कान के अंदर हवा के दबाव में तेज़ी से बदलाव हो सकता है।

चीन में एक युवक को अपनी गर्लफ्रेंड को काफी देर तक ‘किस’ करना भारी पड़ गया। चीनी वैलेंटाइन डे के दिन इस युवक ने अपनी ग्रलफ्रेंड को 10 मिनट तक किस किया, जिसके बाद उसकी सुनने की शक्ति ही खत्म हो गई। इस वजह से चीन में सोशल मीडिया पर इसे ‘किस ऑफ लव’ नहीं बल्कि ‘किस ऑफ डेफ’ यानी ‘बहरे होने का चुंबन’ कहा जा रहा है।

‘साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट’ की रिपोर्ट के मुताबिक, मंगलवार (22 अगस्त, 2023) को चीनी वेलेंटाइन डे पर चीन के पूर्वी झेजियांग प्रांत में वेस्ट झील के किनारे एक युवक अपनी प्रेमिका को बाँहों में भरे हुए था। इस दौरान दोनों एक-दूसरे को मदहोशी से किस कर रहे थे। किस के दौरान अचानक ही युवक को बुदबुदाहट की आवाज के साथ ही बाएँ कान में दर्द महसूस हुआ।

इस वजह से वह ठीक से सुन भी नहीं पा रहा था। इस पर तुरंत ये प्रेमी जोड़ा अस्पताल पहुँचा। यहाँ पहुँच कर डॉक्टरों से उन्हें पता चला कि युवक के कान के पर्दे में छेद हो गया है। डॉक्टर्स ने उसे ये भी बताया कि उसे ठीक होने में कम से कम 2 महीने लगेंगे।

किस से कान में हवा के दबाव में आता है बदलाव

SCMP की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में डॉक्टर्स का कहना है कि उत्तेजनापूर्ण चुंबन (Passionate Kiss) से कान के अंदर हवा के दबाव में तेज़ी से बदलाव हो सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह साथी की भारी साँस के साथ मिलकर असंतुलन का कारण बनता है। इससे कान का पर्दा फट जाता है। हालाँकि, ऐसा पहली बार नहीं हुआ है।

पिछले महीने भी दक्षिणी चीन के गुआंग्डोंग प्रांत में एक जोड़े के घर पर टीवी देखने के दौरान भी ऐसा ही वाकया पेश आया था। किस के अलावा अन्य कई चीजें भी कान के पर्दे में छेद का कारण बन सकते हैं। इन कारणों में लड़ाई, सड़क दुर्घटनाएँ, गोताखोरी और विमान यात्रा शामिल हैं।

उत्तर-पूर्वी हेइलोंगजियांग प्रांत के मुडानजियांग वानिकी अस्पताल में कान और गले की बीमारी विभाग के डॉक्टर, झांग जून ने बाइड्यू डॉट कॉम (baidu.com) पर इस बारे में जानकारी दी है। उनके मुताबिक, अधिकांश रोगियों में इस तरह से कान के पर्दे फटने की वजह टाइम्पेनाइटिस, यानी कान के पर्दे में सूजन होती है।

कम गंभीर मामलों में एंटीबायोटिक्स का कोर्स और कान को सूखा रखने से परेशानी ठीक हो जाती है, लेकिन कान में छेद होने अधिक गंभीर केसों में सर्जरी की जरूरत होती है।

चीनी सोशल मीडिया पर सुर्खियों में घटना

झेजियांग प्रांत का ये वाकया चीनी सोशल मीडिया पर सुर्खियों में है। चीनी एप डॉयिन पर इससे जुड़े पोस्ट को 1 मिलियन लाइक और 400,000 कॉमेंट मिले हैं। एक शख्स ने कहा, “दुनिया इतनी बड़ी है कि यहाँ अनगिनत अजीबोगरीब घटनाएँ होती रहती हैं।”

एक अन्य ऑनलाइन यूजर ने कहा, “यह पता चला है कि प्यार वास्तव में अपनी दहाड़ से कानों को बहरा कर सकता है।” दूसरे यूजर ने इस पर चुटकी लेते हुए कहा, “यही वजह है कि मैं कोई साथी नहीं ढूँढना चाहता। यह बहुत खतरनाक है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -