Thursday, July 25, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनये बॉलीवुड नहीं, तेलुगु फिल्म है... पश्चिमी मीडिया को SS राजामौली की दो टूक:...

ये बॉलीवुड नहीं, तेलुगु फिल्म है… पश्चिमी मीडिया को SS राजामौली की दो टूक: ‘क्रिटिक्स चॉइस’ में भी ‘RRR’ को 2 बड़े अवॉर्ड, ‘अवतार’ के निर्देशक ने की तारीफ़

गाने को लेकर सवाल पर उन्होंने कहा कि वो गानों और संगीत को फिल्म की कहानी को आगे बढ़ाने के लिए इस्तेमाल में लाते हैं, न कि फिल्म को रोकने के लिए या नाचने के लिए एक मौका देने के लिए।

प्रतिष्ठित ‘गोल्डन ग्लोब्स’ में ‘RRR’ के गाने ‘नाटू-नाटू’ को सर्वश्रेष्ठ ऑरिजिनल गाने का अवॉर्ड मिला अब फिल्म को ‘क्रिटिक्स चॉइस अवॉर्ड्स’ ने ‘विदेशी भाषा की सर्वश्रेष्ठ फिल्म’ का ख़िताब दिया है। यहाँ भी MM कीरवानी द्वारा कंपोज किए गए गाने ‘नाटू-नाटू’ को बेस्ट सॉन्ग का ख़िताब दिया गया। इस तरह इस बड़े अवॉर्ड शो में ‘RRR’ ने दो सम्मान अपने नाम किया। निर्देशल एसएस राजामौली ने इस दौरान हॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियों से मुलाकात भी की।

SS राजामौली ने जूनियर एनटीआर और राम चरण स्टारर ‘RRR’ के बारे में विदेशियों का कन्फ्यूजन दूर करते हुए स्पष्ट किया है कि ये बॉलीवुड फिल्म नहीं है। ‘डायरेक्टर्स गिल्ड फॉर अमेरिका थिएटर फॉर एकेडमी मेंबर्स’ में फिल्म की एक स्क्रीनिंग भी रखी गई थी। इस दौरान जब पश्चिमी मीडिया ने इसे ‘बॉलीवुड फिल्म’ बताया तो निर्देशक SS राजामौली ने स्पष्ट किया कि ये बॉलीवुड फिल्म नहीं, बल्कि भारत के दक्षिणी हिस्से की एक तेलुगु फिल्म है।

उन्होंने कहा कि वो भी भारत के दक्षिणी क्षेत्र से आते हैं। गाने को लेकर सवाल पर उन्होंने कहा कि वो गानों और संगीत को फिल्म की कहानी को आगे बढ़ाने के लिए इस्तेमाल में लाते हैं, न कि फिल्म को रोकने के लिए या नाचने के लिए एक मौका देने के लिए। उन्होंने कहा कि पूरी फिल्म देखने के बाद अगर कोई कहे कि उसे लगा ही नहीं कि फिल्म कब खत्म हो गई, तो इसे वो अपने लिए सम्मान मानते हैं। SS राजामौली की अगली फिल्म जंगल एडवेंचर है, जिसमें महेश बाबू हैं।

इधर ‘अवतार’ फिल्म सीरीज के निर्देशक जेम्स कैमरून ने भी एसएस राजामौली से मुलाकात की और ‘RRR’ के लिए उनकी तारीफ़ की। उन्होंने बताया कि ये फिल्म उन्हें इतनी अच्छी लगी कि उन्होंने अपनी पत्नी को इसे देखने के लिए कहा और फिर दोनों ने साथ बैठ कर देखा। ‘लॉस एंजेल्स फिल्म क्रिटिक्स एसोसिएशन (LAFSA)’ में भी अब फिल्म का दबदबा रहा है। हॉलीवुड के महान निर्देशक स्टीवन स्पीलबर्ग ने भी इस गाने की तारीफ़ की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अखलाक की मौत हर मीडिया के लिए बड़ी खबर… लेकिन मुहर्रम पर बवाल, फिर मस्जिद के भीतर तेजराम की हत्या पर चुप्पी: जानें कैसे...

बरेली में एक गाँव गौसगंज में तेजराम नाम के एक युवक की मुस्लिम भीड़ ने मॉब लिंचिंग कर दी। इलाज के दौरान तेजराम की मौत हो गई।

‘वन्दे मातरम’ न कहने वालों को सेना के जवान और डॉक्टर ने Whatsapp ग्रुप में कहा – पाकिस्तान जाओ: सिद्दीकी ने करवा दी थी...

शिकायतकर्ता शबाज़ सिद्दीकी का कहना है कि सेना के जवान और डॉक्टर ने मुस्लिमों की भावनाओ को ठेस पहुँचाई है, उनके भीतर दुर्भावना थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -