Sunday, July 21, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजन5 भाषा, 5 बड़े स्टार... इस पैन-इंडिया फिल्म के लिए साथ आए 5 बड़े...

5 भाषा, 5 बड़े स्टार… इस पैन-इंडिया फिल्म के लिए साथ आए 5 बड़े चेहरे, ‘The Kashmir Files’ और ‘कार्तिकेय 2’ से है कनेक्शन

कन्नड़ में 35 वर्षों का करियर में 100 फिल्मों में काम कर चुके डॉ शिवा राजकुमार इसे पेश करेंगे। तेलुगु में वैंकटेश दग्गुबती इसे पेश कर रहे हैं, जिन्हें हाल ही में 'राणा नायडू' वेब सीरीज में देखा गया था।

‘द कश्मीर फाइल्स’ और ‘कार्तिकेय 2’ जैसी फिल्मों का निर्माण कर चुके अभिषेक अग्रवाल अब ‘टाइगर नागेश्वर राव’ लेकर आ रहे हैं, जो तेलुगु फिल्मों के अभिनेता रवि तेजा की पहली पैन-इंडिया फिल्म होगी। रवि तेजा को आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में ‘मास महाराजा’ के रूप में भी जाना जाता है। वो अपने अभिनय में एक्शन के साथ-साथ कॉमेडी का छौंक डालने के लिए भी जाने जाते हैं। ‘टाइगर नागेश्वर राव’ 70-80 के दशक में सेट फिल्म है।

अब इस फिल्म के 5 भाषाओं के 5 बड़े स्टार सामने आए हैं। दरअसल, बुधवार (24 मई, 2023) को ‘अभिषेक अग्रवाल आर्ट्स’ द्वारा प्रोड्यूस की जा रही इस फिल्म का फर्स्ट लुक जारी किया जाएगा। देश की 5 भाषाओं में इसका फर्स्ट लुक सामने आएगा। हर भाषा में एक बड़ा स्टार अपने सोशल मीडिया हैंडल्स से इसके फर्स्ट लुक को दर्शकों के सामने पेश करेगा। साथ ही ये स्टार अपनी-अपनी भाषा में आवाज भी देंगे। इससे फिल्म का स्तर और बढ़ गया है।

तमिल फिल्मों में कार्ति ‘टाइगर नागेश्वर राव’ फिल्म का फर्स्ट लुक जारी करेंगे। वो ‘PS 1’, ‘PS 2’ और ‘कैथी (2019)’ जैसी फिल्मों के लिए जाने जाते हैं। वहीं हिंदी भाषा में इसे जॉन अब्राहम पेश कर रहे हैं, जो ‘फ़ोर्स’ सीरीज और ‘धूम (2006)’ फिल्म के लिए जाने जाते हैं। कन्नड़ में 35 वर्षों का करियर में 100 फिल्मों में काम कर चुके डॉ शिवा राजकुमार इसे पेश करेंगे। तेलुगु में वैंकटेश दग्गुबती इसे पेश कर रहे हैं, जिन्हें हाल ही में ‘राणा नायडू’ वेब सीरीज में देखा गया था।

बताते चलें कि ‘टाइगर नागेश्वर राव’ स्टुअर्टपुरम के एक चोर की कहानी है। जॉन अब्राहम ने कहा कि वो इस बड़े प्रोजेक्ट का हिस्सा बनने को उत्सुक हैं। डॉ शिवा रहकुमार ने कहा कि उन्होंने फिल्म का फर्स्ट लुक देखा है और ये बहुत ही अच्छा है। नागेश्वर राव को ‘चेन्नई जेल ब्रेक’ के लिए भी जाना जाता है। 1976 में उसे और प्रभाकर को गिरफ्तार किया गया था। तभी उसने अपने भाई से कह दिया था कि वो अब जेल में नहीं रह सकता।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -