Monday, July 15, 2024
Homeविविध विषयअन्यएशियन पैरा गेम्स में भारत ने तोड़े अपने सारे रिकॉर्ड, पहली बार मेडल टैली...

एशियन पैरा गेम्स में भारत ने तोड़े अपने सारे रिकॉर्ड, पहली बार मेडल टैली सौ के पार; 29 स्वर्ण समेत कुल 111 पदकों के साथ हासिल किया चौथा स्थान

भारत सरकार ने अपनी तरफ से 100 पदकों को जीतने का ऐतिहासिल लक्ष्य रखा था, जो पूरा हो गया। इससे पहले भारत का एशियन पैरा गेम्स में सर्वक्षेष्ठ प्रदर्शन साल 2018 में रहा था, तब भारत ने 15 स्वर्ण पदकों के साथ कुल 72 पदक जीते थे। कुल पदकों के मामले में नौंवे स्थान पर रहा था। साल 2014 में 33 पदकों के साथ भारत को 15वाँ स्थान मिला था।

भारत ने एशियन पैरा गेम्स में अपने सारे पिछले रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। पहली बार भारत ने 100 पदकों का आँकड़ा पार कर लिया है। भारतीय खिलाड़ियों ने ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए एशियन पैरा गेम्स में कुल 111 पदक जीते हैं। पदकों की संख्या के मामले में भारत को चौथा स्थान मिला है। एशियन पैरा गेम्स में 521 पदकों के साथ चीन टॉप पर रहा। वहीं, 150 पदकों के साथ जापान दूसरे स्थान पर रहा। भारत ने 29 स्वर्ण पदकों के साथ कुल 111 पदक जीते।

अंकतालिका में सर्वाधिक स्वर्ण पदक चीन ने जीते हैं। चीन ने 214 स्वर्ण, 167 रजत और 140 कांस्य को मिलाकर कुल 521 पदकों के साथ टॉप की पोजिशन पर कब्जा जमाया। दूसरे नंबर पर रहे जापान ने 42 स्वर्ण, 49 रजत और 59 कांस्य पदकों के साथ कुल 150 पदक जीते। तीसरे स्थान पर रहे ईरान ने 44 स्वर्ण, 46 रजत और 41 कांस्य पदकों के साथ कुल 131 पदक जीते।

भारत को लिस्ट में चौथा स्थान प्राप्त हुआ है। भारत ने 29 स्वर्ण, 31 रजत और 51 कांस्य पदकों के साथ कुल 111 पदक जीते। पाँचवें नंबर पर रहे थाईलैंड ने 27 स्वर्ण, 26 रजत और 55 कांस्य पदकों के साथ कुल 108 पदक जीते हैं। छठें स्थान पर दक्षिण कोरिया ने 30 स्वर्ण, 33 रजत और 40 कांस्य के साथ कुल 103 पदक जीते।

सातवें नंबर पर इंडोनेशिया रहा, जिसने 29 स्वर्ण, 30 रजत और 36 कांस्य पदकों के साथ कुल 95 पदक जीते। आठवें नंबर पर उज्बेकिस्तान रहा, जिसने 25 स्वर्ण, 24 रजत और 30 कांस्य पदकों के साथ कुल 79 पदक जीते। इस प्रतियोगिता में पाकिस्तान को महज एक ही पदक मिला, वो भी स्वर्ण पदक, इसके दम पर वो अंक तालिका में 26वें स्थान पर रहा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की तारीफ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के पदकों की संख्या के 100 पर पहुँचते ही सभी को बधाई दी है। उन्होंने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर लिखा, “एशियाई पैरा खेलों में 100 पदक! अभूतपूर्व आनंद का क्षण। यह सफलता हमारे एथलीटों की प्रतिभा, कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प का परिणाम है। यह उल्लेखनीय मील का पत्थर हमारे दिलों को अत्यधिक गर्व से भर देता है।”

प्रधानमंत्री मोदी ने आगे लिखा, “मैं अपने अविश्वसनीय एथलीटों, कोचों और उनके साथ काम करने वाली संपूर्ण सहायता प्रणाली के प्रति अपनी गहरी प्रशंसा और आभार व्यक्त करता हूं। ये जीतें हम सभी को प्रेरित करती हैं। ये सफलता बताती है कि हमारे युवाओं के लिए कुछ भी असंभव नहीं है।”

दीपा मलिक ने दी बधाई

भारत की पैरालंपिक समिति की अध्यक्ष दीपा मलिक ने पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि पहले एशियन गेम्स, फिर एशियन पैरा गेम्स में भारतीय खिलाड़ियों को ऐतिहासिक प्रदर्शन के लिए हार्दिक बधाई। उन्होंने इस उपलब्धि को महान बताया है।

भारत के लिए महत्वपूर्ण उपलब्धि

बता दें कि भारत सरकार ने अपनी तरफ से 100 पदकों को जीतने का ऐतिहासिल लक्ष्य रखा था, जो पूरा हो गया। इससे पहले भारत का एशियन पैरा गेम्स में सर्वक्षेष्ठ प्रदर्शन साल 2018 में रहा था, तब भारत ने 15 स्वर्ण पदकों के साथ कुल 72 पदक जीते थे। कुल पदकों के मामले में नौंवे स्थान पर रहा था। साल 2014 में 33 पदकों के साथ भारत को 15वाँ स्थान मिला था। साल 2010 में भी भारत को 15वाँ स्थान मिला था।

भारत की सफलता के आधार पर यह अनुमान लगाया जा सकता है कि भारत भविष्य में पैरा खेलों में और भी बेहतर प्रदर्शन करेगा। भारत के पास प्रतिभाशाली पैरा एथलीटों की एक मजबूत पूल है, और सरकार और निजी क्षेत्र पैरा खेलों में निवेश करना जारी रखेंगे। भारत की पैरा खेलों में सफलता देश के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। यह दिखाता है कि भारत एक समावेशी समाज है जो सभी लोगों को समान अवसर प्रदान करता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -