Wednesday, December 1, 2021
Homeविविध विषयअन्य₹200 करोड़ का वसूली केस: तीसरी बार ED के सामने नहीं पेश हुईं जैकलीन...

₹200 करोड़ का वसूली केस: तीसरी बार ED के सामने नहीं पेश हुईं जैकलीन फर्नांडिस, माँगी अगले महीने तक की मोहलत

ईडी ने जैकलीन का कई अवसरों पर बयान रिकॉर्ड किया था। अपने पहले के बयानों में उन्होंने दावा किया था वो खुद सुकेश के वसूली रैकेट की विक्टिम हैं और उन्होंने कुछ गलत नहीं किया।

बॉलीवुड अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस कई करोड़ के वसूली रैकेट मामले की पड़ताल में प्रवर्तन निदेशालय का सहयोग नहीं कर रहीं। खबर है कि लगातार तीसरी बार ईडी द्वारा पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बावजूद वह एजेंसी कार्यालय नहीं पहुँचीं। ईडी ने जैकलीन को सुकेश चंद्रशेखर के ख़िलाफ़ चल रही धनशोधन मामले की जाँच में पूछताछ के लिए बुलाया था।

जानकारी के अनुसार जैकलीन फर्नांडिस ने ईडी अधिकारियों को बताया कि वे पूछताछ के लिए ईडी ऑफिस नहीं पहुँच पाएँगी। अभिनेत्री को ईडी के तरफ से तीसरा समन गया था, बावजूद इसके वह पेश नहीं हुईं। अब आगे उन्हें अधिकारियों के समक्ष सोमवार (18 अक्टूबर) को पेश होने को कहा गया है। शुक्रवार को अभिनेत्री ने अधिकारियों से कहा कि उनसे पूछताछ अगले माह के पहले हफ्ते तक टाली जाए, लेकिन अधिकारी उनसे तत्काल पूछताछ चाहते हैं। 

बता दें कि सुकेश चंद्रशेखर से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में जैकलीन फर्नांडिस और नोरा फतेही को गुरुवार को समन किया गया था। जाँच एजेंसी इस बात का पता लगा रही हैं कि क्या कोई आर्थिक ट्रांजैक्शन सुकेश और जैकलीन-नोरा के बीच हुआ था।

इससे पहले ईडी ने जैकलीन का कई अवसरों पर बयान रिकॉर्ड किया था। अपने पहले के बयानों में उन्होंने दावा किया था वो खुद सुकेश के वसूली रैकेट की विक्टिम हैं और उन्होंने कुछ गलत नहीं किया। मालूम हो कि इस मामले में सुकेश चंद्रशेखर, उनकी पत्नी लीना और 6 अन्य ईडी की कस्टडी में हैं।

सुकेश कथित तौर पर तिहाड़ जेल से जैकलीन फर्नांडिस को स्पूफ कॉल करता था। वह उससे एक बड़ी हस्ती होने का दिखावा करता था और जब उन्होंने उस पर विश्वास कर लिया तो उसने उसे कथित तौर पर उसे चॉकलेट और फूल उपहार के रूप में भेजना शुरू कर दिया। रिपोर्ट के मुताबिक, जाँच एजेंसी प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट की धारा 50 के तहत अभिनेत्री से पूछताछ कर रही थी।

पूरा मामला:

सुकेश चंद्रशेखर को पुलिस ने इसी साल गिरफ्तार किया था। उस पर आरोप है कि उसने जेल के अंदर बंद रहते हुए 200 करोड़ रुपए वसूली का रैकेट चलाया था। उसने एक बड़े बिजनेसमैन की पत्नी से 50 करोड़ रुपए की एक्सटॉर्शन मनी माँगी थी। इसी मामले को लेकर जब पुलिस ने जेल में ही रेड की तो वहाँ से उसके पास से 2 मोबाइल फोन जब्त किए गए थे। इसके अलावा भी उसने साल 2013 में केनरा बैंक में फ्रॉड किया था।

ईडी के अधिकारियों के पास सुकेश के दो दर्जन से अधिक कॉल रिकॉर्ड हैं, जिसके आधार पर वे जैकलीन के साथ हुई धोखाधड़ी के बारे में पता लगाने में सफल रहे। हालाँकि, जाँच एजेंसी ने सुरक्षा कारणों से यह खुलासा नहीं किया है कि सुकेश खुद को क्या बताकर एक्ट्रेस से बातचीत करता था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,754FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe