Wednesday, July 17, 2024
Homeविविध विषयअन्य'जीतेगा भाई जीतेगा, पाकिस्तान जीतेगा': भीड़ में हैदराबादी और भोपाली भी… यूँ ही नहीं...

‘जीतेगा भाई जीतेगा, पाकिस्तान जीतेगा’: भीड़ में हैदराबादी और भोपाली भी… यूँ ही नहीं रिजवान को मिली भारत में रावलपिंडी वाली मोहब्बत और दुआ

"ऐसा लग रहा था, जैसे मैं रावलपिंडी में खेल रहा हूँ। जिस तरह से भीड़ ने हमें मोहब्बत दी, वह अद्भुत था। यह हमारे लिए घरेलू मैच जैसा लगा।"

पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच वर्ल्ड कप 2023 का एक मैच खेला गया। हैदराबाद के राजीव गाँधी इंटरनेशनल स्टेडियम में। इसमें जीत पाकिस्तान की हुई लेकिन वीडियो जो वायरल हुआ, वो किसी प्लेयर का नहीं बल्कि “जीतेगा भाई जीतेगा, पाकिस्तान जीतेगा” के नारे लगाती भीड़ का।

वर्ल्ड कप 2023 के पाकिस्तान बनाम श्रीलंका मैच के दौरान हैदराबाद के स्टेडियम में जब “जीतेगा भाई जीतेगा, पाकिस्तान जीतेगा” के जोरदार नारे लगे तो वहाँ बैठे आम भारतीय भी आश्चर्य में पड़ गए। जब इसका वीडियो वायरल हुआ तो सोशल मीडिया पर कई यूजर्स भी आर्श्चय से सवाल पूछने लगे।

“जीतेगा भाई जीतेगा, पाकिस्तान जीतेगा” का यह नारा जिस भीड़ ने लगाया, दिल से लगाया। दिल से क्यों और कैसे लगाया, इसका प्रमाण यह है कि इसकी शुरुआत एक डीजे ने की। डीजे ने इसे ऐसे शुरू किया – “जीतेगा भाई जीतेगा”। डीजे के इतना बोलते ही भीड़ ने उसके बाद नारे को पूरा करते हुए कहा – “…पाकिस्तान जीतेगा”।

X पर एक यूजर ने लिखा कि हैदराबाद भले ही श्रीलंका से भौगोलिक तौर पर नजदीक है लेकिन पाकिस्तान के साथ हैदराबादी लोगों के दिल की नजदीकियाँ हैं, डेमोग्राफी के स्तर पर ये दोनों साथ-साथ हैं।

सवाल उठता है कि क्या जिस भीड़ ने “जीतेगा भाई जीतेगा, पाकिस्तान जीतेगा” का नारा लगाया, वो सिर्फ हैदराबादी भीड़ थी? जवाब है – नहीं। भारत में रहने वाले कुछ हिंदुस्तानी नागरिक पाकिस्तानी टीम के जबरदस्त फैन हैं। इतने बड़े वाले प्रशंसक कि 850 किलोमीटर दूर भोपाल से गाड़ी चलाकर हैदराबाद आ गए

“ऐसा लग रहा था, जैसे मैं रावलपिंडी में खेल रहा हूँ। जिस तरह से भीड़ ने हमें मोहब्बत दी, वह अद्भुत था। यह हमारे लिए घरेलू मैच जैसा लगा।”

131 रन बना कर नाबाद रहने वाले मोहम्मद रिजवान ने यूँ ही नहीं इतनी बड़ी बात कह दी। कुछ हिंदुस्तानियों की भीड़ ने जो प्यार पाकिस्तानी टीम पर बरसाई, वो वायरल वीडियो में तो देख-सुन सकते ही हैं… अगर आपने टीवी पर लाइव मैच देखा है तो आप उस क्लिप को भी याद कर सकते हैं जब “जीतेगा भाई जीतेगा, पाकिस्तान जीतेगा” के नारों को सुन कर पवेलियन में बैठे बाबर आजम भी आश्चर्यचकित होकर मुस्कुराने लगे थे।

मोहब्बत के माहौल में, रावलपिंडी जैसा रोमांच और श्रीलंका के खिलाफ मैच में रिकॉर्ड जीत के बाद पाकिस्तानी क्रिकेटरों ने हैदराबाद स्टेडियम के ग्राउंड स्टाफ को अपनी जर्सी तक दे दी। साथ में फोटो-सेल्फी सब भी किया गया। खिलाड़ियों और ग्राउंड स्टाफ के बीच बने स्पेशल बॉन्ड तक भी जिक्र किया गया।

भारत के साथ परोक्ष-प्रत्यक्ष युद्ध लड़ने, आतंकियों को पनाह देने वाले देश पाकिस्तान का समर्थन करने वाले लोग कौन हैं? भीड़ का कोई चेहरा नहीं होता, भीड़ का कोई नाम नहीं होता। इसलिए इसकी जाति-मजहब-उम्र आदि अमूमन छिप जाती है। गौर करने लायक बात यह है कि अपने समय के मशहूर पाकिस्तानी क्रिकेटर मुश्ताक अहमद ने भारत में पाकिस्तानियों के समर्थक भीड़ पर कुछ कहा था। मुश्ताक ने कहा था कि हैदराबाद और अहमदाबाद में मुस्लिम आबादी ज्यादा है, इसलिए इन जगहों पर पाकिस्तानी खिलाड़ियों को समर्थन मिलेगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -