Sunday, September 19, 2021
Homeदेश-समाजमुजफ्फरपुर में एक ही जगह मुर्हरम और सुअरिया मेला: बलि वाले सुअर को पुलिस...

मुजफ्फरपुर में एक ही जगह मुर्हरम और सुअरिया मेला: बलि वाले सुअर को पुलिस ने भगाया, आक्रोशित हिंदुओं ने किया हमला

मुहर्रम पर ताजिया जुलूस और सुअरिया मेला के एक साथ आयोजन को लेकर तनाव था। प्रशासन ने दोनों को आयोजन से मना कर दिया था। दोनों पक्ष ने प्रशासन की नहीं सुनी। पुलिस वालों ने सुअरिया मेला से बलि वाले सुअर को भगा दिया। इसके बाद आक्रोशित हिंदुओं ने...

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के देवरिया के रामलीला गाछी बाजार में शुक्रवार (20 अगस्त) को ताजिया जुलूस और सुअरिया मेला के आयोजन को लेकर दो पक्षों के बीच विवाद हो गया। इसी बीच मेले में पशु बलि रोकने पहुँची पुलिस पर आक्रो​शित हिंदूओं ने लाठी-डंडे व बाँस से हमला कर दिया। इसमें देवरिया थानेदार समेत 5 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए हैं। एक अन्य मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस हमले में एक दर्जन से ज्यादा ग्रामीण भी घायल हो गए हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुहर्रम पर ताजिया जुलूस व सुअरिया मेला के आयोजन को लेकर दो पक्षों में तनाव उत्पन्न हो गया। दोनों तरफ से सैकड़ों लोग वहाँ पर जमा हो गए। दोनों पक्ष के लोगों ने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप ​लगाया है।

बताया जा रहा है कि एक पक्ष ने बुधवार (18 अगस्त) की रात जुलूस निकाला था। इसके बाद दूसरे पक्ष ने मेले के आयोजन के लिए पंडाल का निर्माण कराया। इसको लेकर वहाँ तनाव पैदा हो गया था। स्थिति बिगड़ते देख पारू के सीओ और थानाध्यक्ष ने स्थानीय लोगों के साथ बैठक कर किसी को भी आयोजन करने की अनुमति नहीं दी थी, लेकिन दोनों पक्षों ने इसे मानने से इनकार कर दिया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्थानीय लोगों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि इन्होंने बलि के लिए सुअर लेकर जा रहे ग्रामीण के हाथों से सुअर को छीनकर भगा दिया। इसकी वजह से हिन्दू ग्रामीण आक्रोशित हो गए और पुलिस पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया। ग्रामीणों ने पुलिस को वहाँ से भगाने के लिए उन पर पथराव करना शुरू कर दिया, जिसमें थानाध्यक्ष संजय स्वरूप, पारु इंस्पेक्टर दिगंबर प्रसाद समेत 5 पुलिसकर्मी जख्मी हो गए हैं।

इसके बाद पुलिस ने आक्रोशित ग्रामीणों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया, जिसमें एक दर्जन ग्रामीण घायल हो गए हैं। स्थानीय लोगों की मानें तो पुलिस की तरफ से भीड़ को नियंत्रित करने के लिए चार राउंड हवाई फायरिंग भी की गई। हालाँकि, पुलिस इन सभी आरोपों से इनकार कर रही है। इस घटना के बाद घटनास्थल पर भारी तनाव है। घटनास्थल पर पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है।

बता दें कि घायल थानेदार संजय स्वरूप, जमादार निशार अहमद खान, महिला सिपाही संध्या कुमारी, राधा कुमारी समेत पाँचों पुलिसकर्मियों का स्थानीय स्तर पर इलाज कराया गया है। एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि दो पक्षों में आयोजन को लेकर तनाव हो गया था। फिलहाल स्थिति काबू में है। हमला करने वालों को चिह्नित कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

वामपंथी मीडिया पोर्टल 'The Quint' में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,106FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe