गर्भवती हथिनी की हत्या पर केंद्र ने केरल सरकार से माँगी रिपोर्ट, अज्ञात के खिलाफ FIR

हथिनी की हत्या मामले में एफआईआर दर्ज

केरल में पटाखों से भरा अनानास खिलाए जाने के बाद गर्भवती हथिनी की मौत को केंद्र सरकार ने गंभीरता से लिया है और कहा कि इसकी आवश्यक जाँच की जाएगी। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस सम्बन्ध में केरल सरकार से पूरी रिपोर्ट माँगते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया।

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने अपनी नाराजगी जताते हुए माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर लिखा, “केंद्र सरकार ने मल्लापुरम, केरल में एक हथिनी की हत्या के मामले पर बहुत गंभीरता से ध्यान दिया है। हम सही तरीके से जाँच करने और अपराधी को पकड़ने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। पटाखे खिलाना और मारना भारतीय संस्कृति नहीं है।”

दरअसल, 27 मई को एक 15 वर्षीय गर्भवती हथिनी एक अमानवीय कृत्य का शिकार हो गई। उसे किसी उपद्रवी शख्स ने एक पटाखों से भरा अनानास खिलाया, जिससे हथिनी के मुँह में विस्फोट हो गया और वह बुरी तरह जख्मी हो गई। हथिनी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चला कि वह गर्भवती थी। उसका जबड़ा टूट गया था और मुँह में विस्फोट के कारण वह अनानास चबाने के बाद कुछ खा नहीं पा रही थी।

इस विस्फोट से उसकी जीभ और मुँह पर गंभीर चोटें आईं। इसके बाद वह एक नदी में चली गई और तीन दिनों के बाद आखिर में उसने प्राण त्याग दिए। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री ने हथिनी की मौत पर रिपोर्ट माँगी है और कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

हथिनी की हत्या मामले में एफआईआर दर्ज

गर्भवती हथिनी के साथ हुई इस अमानवीय घटना के खिलाफ सोशल मीडिया पर काफी आक्रोश नजर आ रहा है। इस प्रकरण में गर्भवती हथिनी की हत्या के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। मन्नरक्कड फॉरेस्ट रेंज के अधिकारी के अनुसार, गर्भवती हथिनी को पटाखे से भरे अनानास खिलाकर हत्या करने के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ वाइल्ड लाइफ ऐक्ट की संबद्ध धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

ऑपइंडिया स्टाफ़: कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया