Monday, July 15, 2024
Homeदेश-समाजजिस गैंग ने दिल्ली के हिन्दू विरोधी दंगाइयों को दिए थे हथियार, उसका यूपी...

जिस गैंग ने दिल्ली के हिन्दू विरोधी दंगाइयों को दिए थे हथियार, उसका यूपी पुलिस ने किया पर्दाफाश: खिजर, जमशेद और नौख़ेज गिरफ्तार, शाहरुख़ ने तानी थी इन्हीं की दी हुई पिस्टल

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपितों के पास से मैगजीन सहित 2 अवैध पिस्टल, अलग अलग बोर के 8 तमंचे, 1 बाइक और 1 स्कूटी बरामद की है।

साल 2020 में दिल्ली में CAA-NRC के नाम पर हुई हिन्दू विरोधी हिंसा में दंगाइयों को हथियार बेचने वाले गैंग का उत्तर प्रदेश की हापुड़ पुलिस ने पर्दाफाश किया है। दंगों में पुलिस पर दंगाई शाहरुख़ द्वारा तानी गई पिस्टल भी इसी गैंग ने सप्लाई की थी। यह गैंग मेरठ से संचालित हो रहा था, जिसके सदस्यों ने हथियारों की सप्लाई के लिए एक व्हाट्सएप्प ग्रुप बना रखा था। पकड़े गए आरोपितों के नाम खिजर, जमशेद और नौख़ेज हैं।

पुलिस ने इनके पास से अवैध हथियार भी बरामद किए हैं। यह गिरफ्तारी मंगलवार (7 फरवरी, 2023) को हुई है। वहीं गैंग का मुखिया बाबू वसीम फरार है जिसकी तलाश में पुलिस की छापेमारी चल रही है।

तीनों आरोपितों की गिरफ्तारी हापुड़ जिले की बाबूगढ़ थाना पुलिस ने स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) के साथ मिल कर की है। इस गैंग की गिरफ्तारी के लिए पुलिस पिछले 6 महीने से काम कर रही थी। पुलिस को इनके द्वारा एक व्हाट्सएप्प ग्रुप चलाने की जानकारी हुई जो UP के ही मेरठ जिले से संचालित हो रहा था। पुलिस का एक स्टाफ इस ग्रुप में गुपचुप ढंग से शामिल हो गया। उसने ग्रुप संचालकों की हरकतों पर बारीकी से नजर रखी। बाद में ग्रुप में गुप्त तौर पर शामिल पुलिसकर्मी ने ही आरोपितों को ग्राहक बन कर पिस्टल खरीदने का लालच दिया।

बताया जा रहा है कि पकड़े गए तीनों आरोपित ग्राहक बने पुलिसकर्मी को पिस्टल बेचने हापुड़ के बाबूगढ़ थानाक्षेत्र में आए थे। यहाँ पर तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। तीनों आरोपित मेरठ के रहने वाले हैं। पूछताछ में तीनों आरोपितों ने अपने लीडर का नाम बाबू वसीम बताया जो मेरठ से दिल्ली और NCR क्षेत्र में अवैध हथियारों की तस्करी करता है। गिरफ्तार आरोपितों में से मुस्तकीम के बेटे खिजर उर्फ़ मोनू की बहन की शादी भी आज ही है। उसके अब्बा मेरठ के नौचंदी से उस से मिलने भी आए थे।

दिल्ली दंगों से कनेक्शन

पुलिस की पूछताछ में पता चला कि CAA-NRC के विरोध के नाम पर साल 2020 में दिल्ली में हुए हिन्दू विरोधी दंगों के दौरान इसी गैंग ने दंगाइयों को हथियार सप्लाई किए थे। इन्हीं के द्वारा दी गई पिस्टल को शाहरुख़ नाम के दंगाई ने पुलिस के जवान पर ताना था। दिल्ली पुलिस ने काफी मशक्क्त के बाद शाहरुख़ को हथियार सप्लाई करने वाले इस गैंग के मुखिया बाबू वसीम को खोज निकला था और अप्रैल 2022 में उसे गिरफ्तार कर के तिहाड़ जेल भेज दिया था।

बाद में जेल से छूट कर यह गैंग फिर से हथियारों की तस्करी में लग गया। फ़िलहाल बाबू वसीम और इस गैंग के अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगा दी गईं हैं।

अवैध हथियार बरामद

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपितों के पास से मैगजीन सहित 2 अवैध पिस्टल, अलग अलग बोर के 8 तमंचे, 1 बाइक और 1 स्कूटी बरामद की है। पकड़े गए खिजर पर 4 मुकदमे, जमशेद पर 2 मुकदमे और नौख़ेज पर 3 मुकदमे चल रहे हैं। ये मुकदमे अलग-अलग थानाक्षेत्रों व अलग-अलग जिलों के हैं। पुलिस के मुताबिक इस गैंग के लोग अपराधियों को ऑन डिमांड हथियारों की सप्लाई करते हैं। एक तमंचे का रेट 5 से 7 हजार और एक अवैध पिस्टल का रेट 50 हजार होता था।

हापुड़ जिले के पुलिस अधीक्षक IPS अभिषेक वर्मा के मुताबिक, पकड़े गए आरोपितों से पूछताछ से मिली जानकारी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

मंगलौर के बहाने समझिए मुस्लिमों का वोटिंग पैटर्न: उत्तराखंड की जिस विधानसभा से आज तक नहीं जीता कोई हिन्दू, वहाँ के चुनाव परिणामों से...

मंगलौर में हाल के विधानसभा उपचुनावों में कॉन्ग्रेस ने भाजपा को हराया। इस चुनाव में मुस्लिम वोटिंग का पैटर्न भी एक बार फिर साफ़ हो गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -