योगी सरकार ने लॉकडाउन के कारण कोटा में फँसे 7500 छात्रों को निकालने के लिए की 252 बसें राजस्थान रवाना

हरियाणा से उत्तरप्रदेश लाए गए 2224 लोग

लॉकडाउन के बीच राजस्थान के शहर कोटा में फँसे उत्तर प्रदेश के लगभग 7500 छात्रों को वहाँ से निकालने के लिए यूपी सरकार ने पहल शुरू कर दी है। योगी सरकार द्वारा यह पहल राजस्थान सरकार से बसें चलाने की अनुमति और कोचिंग के छात्रों द्वारा की गई अपील के बाद की गई है। योगी सरकार ने यूपी से 252 बसों को राजस्थान रवाना करने का फैसला किया है।

ये सभी बसें आज अपने तय स्थानों से सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए रवाना होकर शनिवार को उत्तर प्रदेश वापस लौटेंगी। हालाँकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में 300 बसें भेजने की भी बात कही जा रही है।

25 अप्रैल से देश में जारी लॉकडाउन के बाद से ही कई प्रदेशों से विभिन्न विषयों की तैयारी के लिए कोटा शहर में रह रहे हजारों छात्र इस बीच फँसे हुए हैं। कोटा में फँसे छात्रों ने पिछले दिनों कई किलोमीटर का पैदल रास्ता तय करने बाद डीएम से मुलाकात कर अपने घर वापस भेजने की अनुमति माँगी थी, जिसे डीएम ने ठुकरा दिया।

इसके बाद परेशान छात्रों ने ट्विटर पर घर वापसी के लिए #SendUsBackHome नाम से एक ट्रेंड चलाया, जिस पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने संज्ञान लेते हुए सुरक्षा ऐजेंसियों से बात की, लेकिन उन्हें निराशा हाथ लगी। वहीं अब बताया जा रहा है कि अब केंद्रीय एजेंसियों के कहने पर ही कोटा से बच्चों को निकालने की प्रक्रिया शुरू हुई है।

इसके बाद राजस्थान ने अपने यहाँ फँसे हजारों छात्रों को वापस बुलाने के लिए सभी राज्य सरकारों को परमिट देने का भरोसा दिया। इसी का फायदा उठाते हुए योगी सरकार ने कोटा में फँसे अपने करीब 7500 छात्रों को वापस बुलाने का निर्णय ले लिया। इसी के साथ यूपी से राजस्थान को भेजे जाने वाली बसों की तैयारी शुरू हो गई। जानकारी के मुताबिक यूपी से आज 252 बसें राजस्थान कोटा के लिए रवाना होंगी, जोकि शनिवार को यूपी वापस लौटेंगी।

जानकारी के मुताबिक बसों में बैठाने से पहले सभी छात्रों की थर्मल स्कैनिंग की जाएगी। इसके बाद उन्हें मास्क देकर बसों में बैठाया जाएगा। किसी भी बस में 35 छात्रों से ज्यादा नहीं बैठेंगे। उनके अलावा बसों में सुरक्षा कर्मी भी मौजूद रहेंगे। इतना ही नहीं कोटा भेजने से पहले सभी बसों को सैनेटाइज किया गया है। साथ ही बस के ड्राइवर कंडक्टर सहित सुरक्षाकर्मियों को भी मास्क दिए गए हैं।

दरअसल, राजस्थान के कोटा में उत्तर प्रदेश-बिहार-झारखंड समेत देश के दूसरे राज्यों के हजारों छात्र मेडिकल और इंजीनियरिंग विषयों की कोचिंग के लिए आते हैं। इसी बीच सभी छात्र 25 मार्च से शहर में फँसे हैं। चिंता इस बात की है कि शहर में तेजी से कोरोना का संक्रमण फैल रहा है, क्योंकि अकेले कोटा शहर में अभी तक 64 कोरोना के मरीज सामने आ चुके हैं। वहीं पूरे राजस्थान में अब तक 1131 कोरोना के केस सामने आ चुके हैं।

ऑपइंडिया स्टाफ़: कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया