Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजमदरसे के मौलवी ने बच्चे को कमरे में बुलाया, मालिश के बहाने करने लगा...

मदरसे के मौलवी ने बच्चे को कमरे में बुलाया, मालिश के बहाने करने लगा रेप: कई बने हवस का शिकार, परिजनों को पीटकर हुआ फरार

आरोपित मौलवी पश्चिम बंगाल का रहने वाला और गढ़वा के मदरसे में कई साल से दीनी तालीम दे रहा था। आरोप है कि अपने समर्थकों को बुलाकर उसने बच्चों के परिजनों से मारपीट भी की।

झारखंड के गढ़वा में एक मदरसे के मौलवी पर वहाँ पढ़ने वाले कई छात्रों के साथ कुकर्म का आरोप लगा है। आरोपित मौलवी का नाम समरुद्दीन है। वह मूल रूप से पश्चिम बंगाल का निवासी है। पीड़ित छात्रों की संख्या आधे दर्जन के आसपास बताई जा रही है। शिकायत करने पर मौलवी ने बच्चों के परिजनों से भी मारपीट की। मामला रविवार (19 फरवरी 2023) का है। केस दर्ज होने के बाद से मौलवी फरार है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना गढ़वा के नगरउंटारी थानाक्षेत्र के कोइंदी गाँव की है। यहाँ पश्चिम बंगाल का मौलवी समरुद्दीन कई सालों से दारुल उलूम सामसिया नाम के मदरसे में बच्चों को दीनी तालीम दे रहा था। इस मदरसे में करीब 50 बच्चे पढ़ते हैं। आरोप है कि रविवार की रात समरुद्दीन ने मदरसे में पढ़ने वाले 3 बच्चों को अपने कमरे में बुलाया। फिर दो बच्चों को बाहर भेज एक को अपने कमरे में रोक लिया। कुछ देर बाद मौलवी ने उस बच्चे से मालिश करने को कहा।

बताया जा रहा है कि जब बच्चा मालिश कर रहा था, तब मौलवी ने उससे कुकर्म करने का प्रयास किया। बच्चे ने इसका विरोध किया और अपने परिवार वालों को मौलवी की करतूत की जानकारी दी। जब बच्चे के परिजन शिकायत लेकर मदरसे आए तो मौलवी ने गाँव में मौजूद अपने कई समर्थकों को जुटा लिया। आरोप है कि इनलोगों के साथ मिल मौलवी ने परिजनों के साथ मारपीट की।

पीड़ित परिजनों का यह भी आरोप है कि इसी मदरसे के एक मौलाना अशरफ ने मामले को मौके पर ही रफा-दफा करने की कोशिश की थी। लेकिन उसकी कोशिश कामयाब नहीं हुई। इस बीच किसी ने मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने मौके पर पहुँच कर हालात को सँभाला। बाद में पुलिस ने मदरसे के छात्रों का बयान दर्ज किया। एक रिपोर्ट के मुताबिक मौलवी द्वारा पीड़ित छात्रों की संख्या लगभग आधे दर्जन है। केस दर्ज होने के बाद मौलवी फरार है। SDPO प्रमोद कुमार के मुताबिक समरुद्दीन की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -