Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेस MLA के बेटे ने पार्टी की महिला नेता से किया रेप, गैंगस्टर से...

कॉन्ग्रेस MLA के बेटे ने पार्टी की महिला नेता से किया रेप, गैंगस्टर से पूरे परिवार को मरवाने की धमकी: FIR दर्ज

आरोपित करण मोरवाल कॉन्ग्रेस MLA मुरली मोरवाल का न सिर्फ बेटा है बल्कि उज्जैन के युवा कॉन्ग्रेस का जिला कार्यकारी अध्यक्ष भी रह चुका है। जिस होटल में रेप किया गया, उसके CCTV फुटेज में वो पीड़िता को सहारा देकर ले जाते हुए दिखाई दे रहा है।

मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले की बड़नगर विधानसभा के कॉन्ग्रेस विधायक मुरली मोरवाल के बेटे पर दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। यह मामला इंदौर के महिला थाने में एक युवती ने दर्ज करवाया है। युवती ने आरोप लगाया है कि शादी का झाँसा देकर उसके साथ रेप किया गया है। आरोपित करण मोरवाल उज्जैन के युवा कॉन्ग्रेस के पूर्व जिला कार्यकारी अध्यक्ष रह चुके हैं। युवती की शिकायत पर पुलिस ने धारा 376 के तहत करण मोरवाल पर मामला दर्ज कर मामले की जाँच शुरू कर दी है।

युवा कॉन्ग्रेस की पदाधिकारी है युवती

बताया गया है कि जिस युवती ने विधायक मुरली मोरवाल के बेटे पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है, वो युवा कॉन्ग्रेस की पदाधिकारी है। युवती बीते साल दिसंबर में करण मोरवाल के संपर्क में आई थी। इससे पहले युवती ने गुरुवार (अप्रैल 1, 2021) को डीआईजी से मामले की शिकायत की थी और फिर शुक्रवार (अप्रैल 2, 2021) को पुलिस ने युवती की शिकायत पर विधायक के बेटे के खिलाफ धारा 376 के तहत मामला कर लिया।

पीड़िता का आरोप है कि कुछ महीनों पहले करण भवरकुआं थाना क्षेत्र में किसी होटल में लेकर उसे गया था। वहाँ उसने कई बार युवती के साथ दुष्कर्म किया। युवती पुलिस से शिकायत ना करे, इसके लिए कई बार जान से मारने की धमकी भी दे चुका है।

थाना प्रभारी ज्योति शर्मा के मुताबिक पीड़िता की कैंट रोड पर कुछ वर्षों पहले करण से मुलाकात हुई थी। उसने वैलेंटाइन डे के दिन युवती को प्रपोज करने के बाद उसके साथ दुष्कर्म किया। युवती ने दावा किया है कि विधायक के बेटे के साथ बातचीत की रिकॉर्डिंग उसके पास हैं, जिसमें वह उसे धमकियाँ दे रहा है। आरोपित विधायक पिता का रौब झाड़ कर धमकाता था।

युवती का आरोप है कि विधायक के बेटे ने उसे शादी का झाँसा दिया और नशीला पदार्थ पिला कर घर लाकर भी उसके साथ दुष्कर्म किया। उसने जब शादी की बात की तो वह उसे उल्टा धमकाने लगा। विधायक के बेटे ने एक गैंगस्टर से भी उसे व उसके परिवार को मरवा देने की सुपारी देने की धमकी दी। पीड़िता ने पुलिस में शिकायत करने की बात कही तो उसे पैसे देकर मामला निपटाने को कहा।

पीड़िता को पता चला कि करण इसी तरह से और लड़कियों का शोषण कर चुका है। जिसके बाद वह होटल गई और वहाँ से मौजूदगी के सबूत इकट्ठे किए। इसके बाद उसकी इमारत में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज भी निकाले। इन फुटेज में करण उसे सहारा देकर ले जाते हुए दिखाई दे रहा है। इससे स्पष्ट हो गया कि करण ने नशे की हालत में उसके साथ संबंध बनाए थे।

कॉन्ग्रेस विधायक ने आरोपों को बताया झूठा

इस पूरे मामले में कॉन्ग्रेस विधायक मुरली मोरवाल व उनके बेट करण मोरवाल की तरफ से भी इंदौर पुलिस महानिरीक्षक को एक लिखित में आवेदन दिया गया है। जिसमें बताया गया है कि युवती द्वारा लगाए गए सभी आरोप गलत हैं, क्योंकि युवती खुद करण मोरवाल पर शादी करने के लिए दबाव बना रही थी और पूर्व में युवती ने उसे झूठे रेप के मामले में फँसाने की धमकी भी दी थी। इसके साथ ही मामले की निष्पक्ष जाँच की माँग भी की गई है।

पहले भी चर्चा में आ चुके हैं करण मोरवाल

कुछ महीने पहले करण मोरवाल का एक ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें वह एक महिला पटवारी को धमकाते सुनाई दे रहे थे। वायरल हुए ऑडियो में MLA पुत्र और महिला पटवारी के बीच बातचीत हो रही थी। बताया गया था कि शहर की सरकारी जमीन पर एक ग्रामीण कब्जा कर मकान बना रहा था, जिसे MLA पुत्र बनने देने के लिए कह रहा था, जबकि महिला पटवारी कार्रवाई करने की बात कह रही थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

1 साल में बढ़े 80 हजार वोटर, जिनमें 70 हजार का मजहब ‘इस्लाम’, क्या याद है आपको मंगलदोई? डेमोग्राफी चेंज के खिलाफ असम के...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने तथ्यों को आधार बनाते हुए चिंता जाहिर की है कि राज्य 2044 नहीं तो 2051 तक मुस्लिम बहुल हो जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -