Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजन खाना, न बिस्तर, न बाथरूम: नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बीवी का घर में 7...

न खाना, न बिस्तर, न बाथरूम: नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बीवी का घर में 7 दिन से चल रहा टॉर्चर, बताया- सिक्योरिटी गार्ड और कैमरों से हो रही निगरानी

आलिया ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में बताया है कि अपने शौहर के घर में उन्हें हॉल में रहने को मजबूर किया जा रहा है। दुबई से लौटे उनके बच्चे भी सोफे पर सोने को मजबूर हैं। सिक्योरिटी गार्ड और कैमरों से उनकी निगरानी हो रही है।

बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी की बीवी आलिया की माने तो बीते 7 दिन से घर में उन्हें टॉर्चर किया जा रहा है। घर के हॉल में उनको सीमित कर उनकी निगरानी की जा रही है। उन्हें न खाना मिल रहा है। न उनके पास सोने को बिस्तर है और न बाथरूम।

आलिया ने एक इंस्टाग्राम पोस्ट में बताया है कि अपने शौहर के घर में उन्हें हॉल में रहने को मजबूर किया जा रहा है। दुबई से लौटे उनके बच्चे भी सोफे पर सोने को मजबूर हैं। सिक्योरिटी गार्ड और कैमरों से उनकी निगरानी हो रही है। वे किसी तरह गेस्ट टॉयलेट का इस्तेमाल कर पा रही हैं। उन्होंने बताया है कि यह सब कुछ सात दिनों से चल रहा है। लेकिन उनके शौहर नवाजुद्दीन सिद्दीकी को उनकी सुरक्षा की चिंता नहीं है।

आलिया के वकील ने इस प्रताड़ना के लिए नवाजुद्दीन के परिजनों को जिम्मेदार ठहराया है। साथ ही पुलिस पर भी अपनी मुवक्किल को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आलिया के वकील रिज़वान ने अपनी मुवक्किल के साथ हो रही पुलिस कार्रवाई पर असंतोष जताया है। रिज़वान ने कहा कि नवाजुद्दीन और उनके घर वालों ने आलिया को घर से बेदखल करने के लिए सारे हथकंडे अपना रहे हैं। वकील के अनुसार ससुराल में आलिया को खाने और नहाने तक नहीं दिया जा रहा। आलिया की सास मेहरुन्निशा द्वारा दर्ज FIR को झूठा बताते हुए एडवोकेट रिज़वान ने पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई कर आलिया को परेशान करने का आरोप लगाया है।

एडवोकेट रिज़वान ने कहा कि पुलिस ने कभी भी आलिया के अधिकारों की रक्षा नहीं की। यहाँ तक कि उनकी प्रताड़ना और फजीहत उन्होंने पुलिस के आगे ही की। वकील का आरोप है कि पुलिस के आगे ही न सिर्फ आलिया के चरित्र पर सवाल खड़े किए गए बल्कि उनके बच्चे की प्रमाणिकता पूछी गई। रिज़वान के मुताबिक इस बाबत भी आलिया द्वारा IPC 509 की दी गई शिकायत पर भी पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है।

आलिया के वकील ने आगे आरोप लगाया है कि पिछले 7 दिनों से आलिया के ससुराल वाले उसे बुरी तरह से प्रताड़ना दे रहे हैं। इस प्रताड़ना में आलिया को 24 घंटे CCTV सर्विलान्स में रखने के साथ उनके आसपास पुरुष सिक्योरिटी गार्ड रखना शामिल है।

गौरतलब है कि पिछले महीने सास मेहरुन्निशा ने आलिया पर मुंबई के वर्सोवा पुलिस स्टेशन में IPC 452, 323, 504, 506 के तहत FIR दर्ज करवाई थी। इस केस में पुलिस ने आलिया को 23 जनवरी तक पेश हो कर अपना पक्ष रखने का नोटिस जारी किया था। इस FIR को अपने खिलाफ अन्याय बताते हुए आलिया ने पुलिस पर अपनी शिकायत पर ध्यान न देने और अपने खिलाफ हुई शिकायत पर फ़ौरन कार्रवाई करने का आरोप लगाया था।

कोरोना लॉकडाउन के दौरान भी आलिया और नवाजुद्दीन के बीच अनबन की खबरें आईं थीं। तब आलिया ने नवाजुद्दीन पर अपने साथ मारपीट करने का आरोप लगाया था। आलिया ने मुंबई के वर्सोवा थाने में अपने शौहर नवाजुद्दीन, उनके भाई मिनाजुद्दीन, फैजुद्दीन, अयाजुद्दीन और अम्मी मेहरूनिशा आदि के खिलाफ FIR दर्ज करवाया था। बाद में घटनास्थल उत्तर प्रदेश का मुजफ्फरनगर होने की वजह से यह केस बुढ़ाना थाने में ट्रांसफर हो गया था। इस शिकायत में आलिया ने नवाजुद्दीन के भाई मिनहाजुद्दीन पर छेड़छाड़ और अश्लील वीडियो दिखाने का आरोप लगाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -